breaking news New

अगर देशी पटाखे चलाए तो एक लाख रुपए जुर्माना, दिल्ली सरकार ने जारी किया गाइडलाइन

 अगर देशी पटाखे चलाए तो एक लाख रुपए जुर्माना, दिल्ली सरकार ने जारी किया गाइडलाइन

नई दिल्ली।  दीपावली को देखते हुए दिल्ली सरकार ग्रीन दिल्ली एप ला रही है. साथ ही  सख्त कदम उठाए जा रहे  हैं।  इको फ्रेंडली पटाखे के अलावा अगर देशी पटाखे चलाए तो एक लाख रुपए जुर्माना भरना होगा।  सरकार इसके लिए 11 टीमों का गठन कर रही है. नवंबर से ये टीमें काम शुरू कर देंगी।  सुप्रीम कोर्ट  के भी आदेश है कि दिल्ली की हवा को खराब न होने दिया जाए. यह कहना है दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय का। 

मंत्री गोपाल राय का कहना है कि लोगों की जिंदगी पर असर डाल रहा है पटाखों का ज़हर,  पराली और दिवाली के पटाखे का धुआं हवा को ज़हरीला बना रहा है. यह हवा लोगों की जिंदगी पर असर डाल रही है. इसी के चलते सरकार ने निर्णय लिया है कि अदालत के आदेशानुसार दिल्ली के अंदर केवल ग्रीन क्रैकर्स यानी इको फ्रेंडली पटाखों का उत्पादन, बिक्री और इस्तेमाल किया जा सकेगा. क्योंकि इन पटाखों में सल्फ़र डाई ऑक्साइड और नाइट्रोजन बहुत कम मात्रा में होते हैं.

ग्रीन क्रैकर के उपयोग से जो धुआं होता है वो काफी कम होता है. हमारी एनओसी के मुताबिक दिल्ली में 93 उत्पादक एजेन्सी हैं जो फायर टेक्निक मिलाकर क्रैकर बना सकती हैं. इसी तरह के पटाखे आयात किए जा सकेंगे. यह लिस्ट हम वेबसाइट पर अपलोड कर देंगे.

उन्होंने  यह भी बताया कि  इस अभियान के तहत पुलिस के सहयोग के साथ डीपीसीसी की तरफ से 11 टीमों का गठन कर रहे हैं. यह विशेष दस्ता जगह-जगह निर्माता और विक्रेता के यहां जाकर चेक करेंगे. ग्रीन क्रैकर का इस्तेमाल हो रहा है या नहीं, इसके लिए सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस को निर्देश दिया था. डीपीसीसी की तरफ से कल नोटिस जारी की जाएगी कि वो निगरानी करें. तीन नवंबर से एन्टी क्रेकर अभियान जारी करेंगे और ये दीवाली के बाद तक जारी रहेगा.


नियमों का पालन करें. अगर किसी विक्रेता और उत्पादक के यहां ऐसा मेटेरियल पाया जाता है तो पर्यावरण नियमों के तहत कार्रवाई होगी और एक लाख रुपए तक जुर्माना लगाया जा सकता है.