breaking news New

पुलिस विभाग की" हमर पुलिस हमर संग " के अंतर्गत "अभिव्यक्त्ति" कार्यक्रम से लोग हुये रूबरू

पुलिस विभाग की

    महासमुंद--   ‘‘हमर पुलिस, हमर संग‘‘* अंतर्गत ‘‘अभिव्यक्ति- नारी के सम्मान की‘‘ के विशेष कार्यक्रम के लिए ग्राम पंचायत केना में आज पुलिस अधीक्षक विवेक शुक्ला के निर्देश पर  कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महासमुंद मेघा टेम्भुरकर साहू  एवं विशिष्ट अतिथि एसडीओपी सरायपाली विकास पाटले जी उपस्थित हुए।


प्राचार्य एम. एल. नायक, व्याख्याता गण पी.एन. बेहेरा, शैलेन्द्र कुमार नायक, अनुज बरेठ, शम्भूनाथ कुशवाहा, ग्राम पंचायत केना के सरपंच नरेश प्रधान, उपसरपंच जयप्रकाश पटेल, सचिव डमरूधर पटेल, पंच नरोत्तम भोई, कोटवार राकेश गार्डिया, महिला स्वसहायता समूह केना के नूरा नंद, संजीता भोई, सविता बरिहा, रिंकी भोई, लिली साहू, रमा भोई, आरती कर, ग्राम की महिलाएं एवं विद्यार्थी गण, पालक गण, पुलिस विभाग सरायपाली के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे । 

    सांस्कृतिक कार्यक्रम में स्वागत नृत्य कु. हंसिका, अन्नू, आकांक्षा, रूकमणी ने किया। प्रगति महिला स्व सहायता समूह केना के सदस्य नूरा नंद ने पुष्पगुच्छ भेंट कर मुख्य अतिथि  मेघा टेम्भूलकर का स्वागत किया पश्चात् सरपंच नरेश प्रधान ने शॉल और श्रीफल भेंट कर मुख्य अतिथि का अभिनंदन किया।  अ पु अ मेघा टेम्भुरकर ने अभिव्यक्त्ति एप्प की महत्वपूर्ण जानकारी देकर महिलाओ को अपने सम्मान व अधिकार के लिए जागरूक रहने को प्रेरित किया।

कार्यक्रम में उपस्थित मुख्य अतिथि के करकमलों से विद्यार्थियों को उपहार  भेंटकर शिक्षा के लिए प्रोत्साहित किया गया। महिला स्वसहायता समूह के सदस्यों को मोमेंटो भेंट व प्रतिभावान छात्राओं को मैडल भेट किया गया।

 केन्द्रीय विद्यालय सरायपाली के प्रातः कालीन प्रार्थना सभा में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के महत्वकांक्षी कार्यक्रम ‘‘अभिव्यक्त्ति‘‘  का आयोजन किया गया। अभिव्यक्ति ऐप के माध्यम से राज्य की महिलाओं को तत्काल सहायता मिलेगी। यूजर की लोकेशन के हिसाब से SOS का बटन दबाते ही यूजन के पास त्वरित पुलिस सहायता पहुंचेगी।

इसके अलावा इस ऐप के माध्यम से महिलाएं कहीं से भी अपनी शिकायत पुलिस के पास दर्ज करा सकेंगी। यानी अब महिलाओं को थाने जाने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। इसके अलावा राज्य की महिलाएं अब अपनी सुरक्षा को लेकर सुझाव भी पुलिस विभाग तक पहुंचा सकेंगी इसकी जानकारी दी।

महिला आरक्षक अन्नू भोई एवं पुलिस बालमित्र रोशना डेविड ने विशेष रूप से अभिव्यक्त्ति ऐप की महत्ता व उपयोगिता के महत्व को समझाते हुए अभिव्याक्ति ऐप डाउनलोड करने व सुरक्षा के प्रति जागरूक रहने के लिए प्रोत्साहित करते हुए गुड़ टच व बैड टच की जानकारी दी साथ ही अपराध से दूर रहकर पूर्ण शिक्षा प्राप्त करने कों प्रेरित किया।

अपराध मुक्त समाज का निर्माण करने मे पुलिस का पूर्ण सहयोग प्रदान करने की सलाह दी।  प्राचार्य  राहुल देव ने कार्यक्रम प्रभारी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए किसी भी परिस्थिति में हौसला बनाये रखने के लिए प्रेरित किया गया। वही उन्हेंने कार्यक्रम के जरिए छात्राओं को वर्तमान में घटित हो रहे अपराधों की जानकारी देते हुए उनकी सुरक्षा के लिए बने कानूनों की जानकारी दी। 

समस्त ग्रामवासी, हाॅस्पिटल स्टाप एवं प्राचार्य सहित समस्त शिक्षकों ने अपने मोबाईल पर अभिव्याक्ति एप्स डाउनलोड किये। उपस्थित ग्रामवासी, हास्पिटल, केन्द्रीय विद्यालय स्टाप सभी ने कार्यक्रम का लाभ लिये एवं पुलिस विभाग की इस पहल की सराहना की।