breaking news New

खतरनाक और विनाशकारी हो सकती कोरोना की तीसरी लहर

 खतरनाक और विनाशकारी हो सकती कोरोना की तीसरी लहर


कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने के लिए सीजीएम एनएमडीसी द्वारा की गई व्यवस्थाओं की समीक्षा

बचेली-    एनएमडीसी, बचेली हमेशा से ही अपने सामाजिक दात्यिवों  के प्रति सजग व संकल्पित रही है। सामाजिक दात्यिवों के प्रति सकंल्पित होेने एवं सामाजिक विकास के क्षेत्र में अग्रणी रहने के कारण एनएमडीसी के कार्यों  को केवल भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों  से भी सहराना मिली है। जिसमें एनएमडीसी, बचेली द्वारा कोराना से बचाव हेतु किये गये कार्य भी शामिल हैं।

यह अनुमान लगाया गया है कि जल्द ही कोविड-19 की तीसरी लहर आ सकती है जो और भी खतरनाक और विनाशकारी हो सकती है। तीसरी लहर की संभावनाओं को ध्यान मे रखकर सीजीएम एनएमडीसी,  बचेली नेे कोविड -19 के खिलाफ लड़ने हेतु आने वाली चुनौतियों पर चर्चा करने के लिए एनएमडीसी के अधिकारियों के साथ बैठक की।


इसके बाद उन्होंने खुद एनएमडीसी अपोलो अस्पताल, बचेली के कोविड सेंटर का दौरा किया और केंद्र में उपलब्ध सुविधाओं का निरीक्षण किया ।  इस दौरे के पश्चात सीजीएम एनएमडीसी, बचेली ने आगामी खतरे को भांपते हुए डाॅक्टर्स एवं एमएमडीसी आॅफिसर्स को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये।

यहाँ पर यह उल्लेखनीय है कि कोराना महामारी के प्रारंभ से ही एनएमडीसी बचेली द्वारा अनेक कार्य प्रारंभ कर दिये गये थे। जैसे कि इसकी रोकथाम हेतु प्रारम्भिक दौर में ही फीवर क्लीनिक की स्थापना के साथ ही साथ इस बीमारी के जाँच हेतु एंटीजन टेस्ट, आरटीपीसीआर टेस्ट, ट्रू नेट टेस्ट आदि की व्यवस्था की गई थी।

लाॅकडाउन के दौरान जरूरतमन्द परिवारों  को एक माह की खाद्य सामाग्री का भी वितरण किया गया तथा ग्रामीणों को मास्क, सेनीटाइजर का वितरण किया गया एवं बार-बार हाथ धोने के लिए प्रेरित किया गया। इसके अतिरिक्त एनएमडीसी, बचेली द्वारा स्थापित कोविड केयर सेन्टर एवं अस्पताल में  अब तक 2447 के आस - पास कोविड मरीजों का इलाज किया जा चुका है और इस वर्ष में लगभग 22351 प्रोफिलेक्सिस किट बाटी जा चुकी है।

चूंकि  आगामी संभावित लहर में बच्चों पर अधिक प्रभाव की चर्चा है इसलिए एनएमडीसी अस्पताल में बच्चों के कोविड वार्ड की व्यवस्था की जा रही है। इसके अतिरिक्त प्रबंधन द्वारा अस्पताल में वेंटीलेटर्स की व्यवस्था की भी गई है।

बच्चों के कोविड पॅाजिटिव होने कि संभावना को ध्यान में रखकर एनएमडीसी अस्पताल के स्टाॅफ को प्रशिक्षण भी अपोलो अस्पताल, हैदराबाद में दिया जा रहा है।


उक्त समीक्षा बैठक, अस्पताल के निरीक्षण एवं डाॅक्टर्स/आधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश देने के पश्चात सीजीएम एनएमडीसी, बचेली सारी तैयारी से संतुष्ट नजर आए तथा कोविड -19 के आगामी खतरे को ध्यान मे रखते हुए जो तैयारियाँ  की गई हैं उसके लिए उन्हांेने सभी की प्रशंसा भी की है।