breaking news New

राष्ट्रीय संचालक सदस्य को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया प्रदेश एवं देश के मछुआरों के हित के लिए प्रांत संयोजक द्वारा

राष्ट्रीय संचालक सदस्य को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा गया प्रदेश एवं देश के मछुआरों के हित के लिए प्रांत संयोजक द्वारा

धमतरी, 20 जून। दिनांक 19-06- 2021 को कृष्णा चंपालाल हिरवानी प्रांत संयोजक मछुआरा प्रकोष्ठ सहकार भारती छत्तीसगढ़, डायरेक्टर छत्तीसगढ़ मत्स्य महासंघ द्वारा छत्तीसगढ़ एवं पूरे देश के मछुआरों के जीवन से जुड़ी उनके हित के लिए माननीय प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन रामकृष्ण धीवर संचालक सदस्य राष्ट्रीय मत्स्य जीवी सहकारी संघ (फिशकोफेड) के अधीन मछली पालन, पशुपालन एवं डेयरी विभाग भारत सरकार को सौंपा गया की केंद्र सरकार की महती योजना प्रधानमंत्री संपदा योजना नील क्रांति के तहत देश के समस्त राज्यों में गरीब मछुआरों के लिए निशुल्क जिवी दुर्घटना बीमा संचालित किया जा रहा है जिसमें किसी भी मछुआरे की उम्र 18 से 70 साल किसी भी दुर्घटना में जैसे एक्सीडेंट पानी में डूब जाना ,सांप काटना ,कुत्ता काटना आदि किसी भी प्रकार प्राकृतिक आपदा पर अगर उसकी मृत्यु हो जाती है तो उसे रुपया ₹200000 मिलता है और अगर स्थाई रूप से अपंग हो जाता है तो उसे रुपया एक लाख एवं अस्थाई रूप से अपंग हो जाने पर रुपया 75000 मिलता है, लेकिन सामान्य रूप से देखने में आता है कि मछुआरों की मृत्यु लगभग बीपी, शुगर, हार्ट अटैक, लकवा, ब्रेन हेमरेज आदि बीमारी से प्राय: मृत्यु होती है क्योंकि मछुआरों की दिनचर्या में मछली मारना पकड़ना मत्स्य आखेट करना या तो एकदम सुबह या कभी दोपहर या कभी शाम को होता है। यानी कि मत्स्य पालन या मत्स्य आखेट कार्य में अनियमित दिनचर्या होने के कारण यह सब बीमारी होती है और यही बीमारी आगे जाकर मौत का कारण बनती है और इस कंडीशन में मृत्यु होने पर निशुल्क मत्स्य जीवी दुर्घटना बीमा का लाभ हम गरीब मछुआरों को नहीं मिल पाता है देखने में आया है कि बहुतायत मात्रा में मछुआरों की मृत्यु लगभग इन्हीं बीमारियों के कारण होती है। 

ऐसे डॉक्टरों का भी मत है कहना है लेकिन ठीक दूसरी तरफ  प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा ₹330 वाला जिसमें समान मृत्यु होने पर रुपया 200000 का क्लेम केंद्र सरकार द्वारा जो भी व्यक्ति 18 से 50 वर्ष का होता है जो यह पॉलिसी लेता हैं उसे लाभ मिलता है अतः माननीय प्रधानमंत्री भारत सरकार से सादर निवेदन है कि जिस प्रकार प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा ₹330 वाला में सामान्य मृत्यु पर क्लेम मिलता है ठीक उसी प्रकार हम गरीब मछुआरों का निशुल्क मत्स्य जीवी दुर्घटना बीमा को हटाकर निशुल्क मत्स्य जीवी सामान्य बीमा किया जाए ताकि पूरे भारत के सभी गरीब मछुआरों को सही में इस बीमा का लाभ मिल सके।