breaking news New

सातवां कथा समाख्या 12 से 14 नवंबर तक जगदलपुर में

सातवां कथा समाख्या 12 से 14 नवंबर तक जगदलपुर में


रायपुर। छत्तीसगढ़ फिल्म एंड विजुअल आर्ट सोसायटी रायपुर और दिल्ली से प्रकाशित कथादेश पत्रिका के संयुक्त आयोजन में कथा समाख्या इस बार जगदलपुर बस्तर छत्तीसगढ़ में होने जा रहा है। 12, 13 और 14 नवंबर को होने वाले इस कथा समाख्या में नये कहानीकारों की रचनाओं पर केंद्रित विचार गोष्ठियां होंगी। उनकी कहानियों के विश्लेषण के बहाने उनमें चित्रित जीवन और उसकी प्रकट विडंबनाओं तथा अंतर्विरोधों की पड़ताल करते हुए अपने समय की वास्तविकता पर बातचीत होगी। आयोजन संस्था के अध्यक्ष सुभाष मिश्र ने बताया कि कथादेश पत्रिका के संपादक हरिनारायण, आलोचक जयप्रकाश, कथाकार आनंद हर्षुल इस आयोजन के सूत्रधार हैं।
कथा समाख्या सात में जिन युवा कथाकारों की कहानियों पर एकाग्र गोष्ठियां होंगी। उनमें मिथिलेश प्रियदर्शी की कहानी सहिया, श्रीधर करुणानिधि की कहानी सेंध, उमेश चरपे की कहानी बारिश,  तस्रीम खान की कहानी बगुले की चोंच और दिल्ली दरवाजा, माधव राठौड़ की कहानी कितरेत्सु, बूटा गोरिल्ला और टोंगरी, वहीं विवेक आसरी की कहानी बेकार लोगों की कहानी शामिल है। इस आयोजन में भाग लेने के लिए देशभर से चर्चित साहित्यकार जगदलपुर पहुंच रहे हैं। जिनमें सत्यनारायण, योगेंद्र आहूजा, जयशंकर, देवेंद्र, ओमा शर्मा, विनोद तिवारी, सियाराम शर्मा,  मनीषा कुलश्रेष्ठ, त्रिलोक महावर, तरुण भटनागर, रामकुमार तिवारी, भालचंद जोशी, प्रियदर्शन मालवीय शामिल है। कथा समाख्या का उद्घाटन समारोह 12 नवंबर को संध्या 7 बजे जगदलपुर के लाला जगदलपुरी ग्रंथालय में होगा। इस आयोजन के लिए सूत्र पत्रिका के संपादक श्री विजय सिंह स्थानीय संयोजक हैं।