breaking news New

कथा समाख्या-07 संगोष्ठी में 12 नवम्बर से जगदलपुर में जुड़ेंगे देशभर के कथाकार

कथा समाख्या-07 संगोष्ठी में 12 नवम्बर से जगदलपुर में जुड़ेंगे देशभर के कथाकार

जगदलपुर।   छत्तीसगढ फिल्म एण्ड विजुवल आर्ट सोसाईटी रायपुर और दिल्ली से प्रकाशित "कथा देश' पत्रिका के संयुक्त आयोजन में कथा समाख्या 12 से 14 नवम्बर 2021 तक जगदलपुर सहित बस्तर के पर्यटन स्थल चित्रकोट, तीरथगढ़, कोटमसर में कथा समाख्या आयोजित किया जा रहा है। 

इस कथा समाख्या में नये कहानीकारों की कहानियों पर केन्द्रित विचार गोष्ठी होगी। उनकी कहानियों के विश्लेषण के बहाने उनमें चित्रित जीवन और उसकी प्रकट विडंबनाओं तथा अंत विरोधों की पड़ताल करते हुए अपने समय की वास्तविकता पर बातचीत होगी। 

आयोजन संस्था के अध्यक्ष  सुभाष मिश्र बताया कि कथादेश पत्रिका के संपादक हरिनारायण, आलोचक कवि जयप्रकाश, कथाकार आनंद हर्षुल इस आयोजन के सूत्रधार है। इस विशिष्ट कथा समाख्या कहानी कार्यक्रम में देशभर के महत्वपूर्ण कथाकार सर्व  सत्यनारायण, योगेन्द्र आहूजा,जयंशकर, देवेन्द्र, ओमा शर्मा, त्रिलोक महावर, हरि नारायण, रामकुमार तिवारी, आनंद हर्षुल, सुभाष मिश्र,जयप्रकाश, मिथिलेश प्रियदर्शी, प्रियदर्शन मालवीय, श्रीधर करूणानिधि, उमेश चरपे एवं माधव राठौड़ की उपस्थिति विशिष्ट है।

कथा समाख्या कार्यक्रम का उद्घाटन  12 नवम्बर 2021 के संध्या 07 बजे आर्ट गैलेरी (दलपत सागर के पास) जगदलपुर में किया जायेगा। जिसमें बस्तर की कथा संपदा पर बातचीत होगी एवं मुक्तिबोध जयंती की पूर्व संध्या पर उनकी कहानी ब्रम्हाराक्षस का शिष्य का पाठ होगा।

देश भर से आये कथाकार लाला जगदलपुरी जिला ग्रंथालय और दलपत सागर का भी भ्रमण करेगें। इसके पूर्व 12 नवम्बर के दोपहर 04 बजे बस्तर अकादमी ऑफ डान्स आर्ट एण्ड लिटरेचर (बादल) में देश भर के कथाकारों द्वारा कहानियों पर आरंभिक चर्चा की जायेगी ।

दूसरे दिन 13 नवम्बर के प्रातः 10 बजे चित्रकोट पर्यटन स्थल में युवा कथाकार उमेश चरपे की कहानी " बारिश" पर आनंद हर्षुल आलेख पाठ करेगें। जिसमें देशभर के कथाकारों की सहभागिता होगी। दूसरे सत्र में विवेक आसरी की कहानी "बेकार के लोगों की कहानी" पर वरिष्ठ कथाकार ओमा शर्मा आलेख प्रस्तुत करेगें।

उसी दिन द्वितीय सत्र में मिथलेश प्रियदर्शी की कहानी "सहिया" पर वरिष्ठ कथाकार योगेन्द्र आहुजा आलेख प्रस्तुत करेगें। कार्यक्रम के अंतिम दिवस 14 नवम्बर को तीरथगढ़ एवं कोटमसर गुफा में तृतीय एवं चतुर्थ चर्चा सत्र आयोजित किया गया है।

जिसमें माधव राठौड़ की कहानी "कितेरेत्सु , बूटा गोरिल्ला और टोंगारी’’ कहानी पर आलोचक जय प्रकाश अपना आलेख प्रस्तुत करेगें। चतुर्थ चर्चा सत्र में श्रीधर करूणानिधि की कहानी "सेंध' पर संयुक्त रूप से कथाकार रामकुमार तिवारी एवं प्रियदर्शन मालवीय अपना आलेख का पाठ करेगें।

जिसमें उपस्थित कथाकारों की सहभागिता होगी। जगदलपुर के रचनाकारों, कवियों, बुद्धिजीवियो एवं पत्रकार को 12 नवम्बर उद्घाटन सत्र संध्या 07 बजे आर्ट गैलेरी दलपत सागर जगदलपुर में उपस्थित होकर देश के महत्वपूर्ण कथाकारों को सुनने के लिए आमंत्रित किया गया है।