breaking news New

व्यंग्य : अमेरिका चाट भंडार - अखतर अली

 व्यंग्य : अमेरिका चाट भंडार -  अखतर अली

 

अखतर अली

मैंने सपना देखा कि अमेरिका के राष्ट्रपति एम. जी. रोड़ पर चाट का ठेला लगा कर चाट बेच रहे है |

मै ऐसा सपना देखूगा ऐसा तो मै सपने में भी नहीं सोच सकता था | अब सपने का तो कोई तर्क शास्त्र थोड़ी न होता है | सपनो पर किसी सरकार का नियंत्रण नहीं | स्वप्न देश के नागरिक जितने स्वतंत्र है उतने स्वतंत्र तो किसी स्वतंत्र देश के नागरिक भी नहीं है | सपने की यह खासियत होती है कि उसे किसी भी प्रकार का कोई भी पेंटागन नष्ट नहीं कर सकता |

तो मैंने सपना देखा | सपने में मेरी आदत है कि अक्सर मै शाम को टहलते हुए एम. जी. रोड़ पर चला जाता हूं | आदत के अनुसार मै जैसे ही एम. जी. रोड़ पंहुचा एक कोने से भाप का सुगंधित झोका आया | उस तरफ़ निगाह की तो देखा सामने चाट का बड़ा सा खूबसूरत ठेला खड़ा है जिस पर बड़े बड़े अक्षर में लिखा है “ अमेरिका चाट भंडार “ उसके नीचे ज़रा छोटे साईज़ के अक्षर में लिखा था – नोट : हमारे यहां शादी एवं पार्टी में विध्वंस के आर्डर लिए जाते है |

मै आज कल बहुत ही उट पटांग सपने देखने लगा हूं | अभी दो दिन पहले ही एक सपना देखा था कि मै एक व्यंग्य सम्मलेन में व्यंग्य पाठ के लिये आमंत्रित किया गया हूं और माईक पर आते ही मै सब कुछ भूल गया हूं | मै रचना लेकर भी नहीं आया हूं और माईक पर कुछ भी अनाप शनाप बोल रहा हूं |

अब मै भी न सपने में एक और सपना घुसाने लगा | मै सहायक सपने को अलग कर मुख्य सपने पर आ जाता हूं |

तो जैसे ही भाप का सुगंधित झोका मेरी नाक में तालिबान की तरह घुसा मै उसी दिशा में मुड गया | मैंने देखा कि वहां चाट का बहुत बड़ा सजा हुआ चाट का ठेला है | चाट वाला ज़रा जाना पहचाना लगा | ध्यान से देखा तो पहचान गया .... बबा रे , उई मां ये तो अमेरिका के राष्ट्रपति है |

मैंने उन से विनम्रता पूर्वक पूछा – आप इतने बड़े देश के राष्ट्रपति होकर चाट बेच रहे है ?

उन्होंने कहा – बबुआ अब चाट नहीं बेचे तो बेचे क्या ? चाट तो हमारा पुश्तैनी कारोबार है | जिसके पास देखने वाली नज़र और समझने वाली समझ है वो लोग जानते है कि अमेरिका एक बहुत बड़ा चाट भंडार है | आज प्रत्येक देश को हम अपनी बनाई चाट खिला रहे है | जो हमारे ठेले पर आ खा लेता है तो ठीक वरना हम उसकी ज़मीन पर जाकर उसे अपनी चाट चटा आते है |

मैंने उनके ठेले पर नज़र डालते हुए पूछा – इसमें आपको क्या पसंद है ?

उन्होंने एक गुपचुप हाथ में लेकर कहा – मेरे को यह गुपचुप पसंद है | स्वाद के कारण नहीं आकार के कारण | यह पृथ्वी की तरह गोल है | जब इसको अपने हाथ में उठाता हूं तो ऐसा लगता है पूरी दुनियां मेरी मुट्ठी में है | मै जब चाहू इसे चकनाचूर कर सकता हूं | यह अहसास इतना आनंद देता है कि क्या बताऊँ | जब इसको को पानी में डुबाता हूं तो जो सुख मिलता है वह अदभुद है |

उन्होंने अमेरिकन चाट के धंधे के तौर तरीके बताते हुए कहा – हमारे पास चाट में क्या क्या है इसकी भी हमारे पास एक चाट है | चाट में हम क्या क्या मिलाते है उसकी भी चाट है | चाट के मूल्य की भी चाट है | हमारे पास चाट के रेग्युलर कस्टमरो की भी चाट है | कस्टमर के कर्मो की भी चाट है | उनको दिये कमीशन की भी चाट है | हमारे पास बिछाने वाली चाट है जिस चाट पर बैठा कर हम ग्राहक को चाट खिलाते है | हमारी चाट पर बैठ ग्राहक हमारी चाट , चाट चाट कर खाता है | हम पहले चाट मुंह में देते है , इंकार किया तो एक चाट मुंह पे देते है | अगर पार्टी के पास पैसा नहीं है और चाट चाहिए तो कहते है चाट होना तो पहले चाट | पार्टी के पास पैसा बहुत है लेकिन उसको हमारी चाट नहीं चाहिए तो हम अपने मिनिस्टर को कहते है वहां जा और चाट |

मैंने चाट बाबू से कहा – आपकी चाट नीति के बारे में जानकार बहुत अच्छा लगा |

बाबू सा ने कहा – अभी तुम को मालूम ही क्या है , एक सपने में सारा ज्ञान थोड़ी मिल जाता है | अभी तुम को नही मालूम कि हम हवा में भी अपनी चाट का स्वाद बिखेर देते है | अभी तुम को मालूम ही नहीं कि इस चाट की रिसिपी क्या है ? चाट चटाई के लिए चीटिंग चैटिंग सब करना पड़ता है | चाट की चाट लेकर चार्टर प्लेन में जाना होता है | जहां चीटी के अतिरिक्त और कोई भी नहीं पहुच सकता वहां तक भी हमने अपनी चाट चीटी के ज़रिये पहुचाई है | चाट बेचना इतना आसान नहीं है क्योकि कुछ चाट के चटोरे चोट्टापन भी बहुत करते है |

मैंने कहा – वह सब छोड़िये आप तो यह बताये कि अमेरिकन चाट में ख़ास पसंद किये जाने वाले आयटम कौन से है ?

सर जी ने तवे पर करछुल पटका और सिगड़ी में कोयला झोक कर कहा - अभी पूरी दुनियां में हमारा बम मसाला धूम मचा रहा है , इसमें उपर से हम जो बारूदी नमक डाल कर देते है उससे स्वाद बढ़ जाता है | गन भेल और मिसाईल टिक्की भी ग्राहकों की ख़ास पसंद है | हमने चक्कू चिल्ली को अपनी चाट की चाट में से हटा दिया है और उसके स्थान पर नया आयटम जोड़ा है ड्रोन पकौड़ा |  

मैंने कहा – आज आपके ठेले पर आकर मज़ा आ गया , ज्ञान बढ़ा वो अलग | आज जाना कि अमेरिका की चाट तकनीक का कमाल है वरना अब तक तो यही समझते थे कि सब मसाले का खेल है | मैंने उन्हें यह भी कहा कि मेरे को अपने सपने पर गर्व है | फिर मैंने उन से निवेदन किया कि अगर अपनी चाट के संबंध में और कोई जानकारी देना है तो दे दीजिये क्योकि हमारे सपने मुख्य मोड़ पर ही टूटते है |

उन्होंने गमछे से मुंह पोछते हुए कहा – हम अपना चाट उद्दोग सफ़लता पूर्वक संभाले हुए है | संभालने में दिक्कत ही क्या है ? यह कोई जवानी तो है नहीं कि संभले न | आज जो व्यक्ति मूछ पर ताव दे रहा है , जो संगठन आँख दिखा रहे है , जो सरकारे अकड़ रही है सब हमारी चाट का ही प्रताप है | आप दुनियां के किसी भी फ़साद , किसी भी समस्या , किसी भी युद्ध की खुदाई कर लो उसके मलमे में हमारी ही चाट  मिलेगी | हमारी ही प्लेट चम्मच और हमारे ही दोना पत्तल निकलेगे | ज़मीन की हर खुदाई में हमारी ही ख़ुदाई मिलेगी | जबी पर सादगी , नीची निगाहें , बात में नरमी ... अगर किसी को यह रोग है तो हमारी चाट उसके अंदर के ये सब कीटाणु मार कर उसके अंदर हिंसा , टकराहट और जंग का उतावलापन भर देती है |

इतनी ज्ञानवर्धक बाते चाचा बता रहे थे तभी घड़ी का अलार्म घनघनाते हुए बजा | घड़ी भी न कभी समय नहीं देखती | अगर यह सुबह के छः न बजाती तो हम दोनों कइयो के बारह बजा दिये होते | आंख खुलते ही सपने की हत्या हो गई | मैंने जोरदार अंगड़ाई ली और तकिये से लिपट कर सपने को याद करने लगा |

मैंने कितना बदनुमा और वाहियात सपना देखा | अगर मेरे हाथ में होता तो मै तो ऐसा सपना देखता ही नहीं | लेकिन क्या करे सपने पर किसी का नियंत्रण नहीं होता | अगर मेरे को इत्तू सा भी अंदाज़ा होता कि सोने पर ऐसा ख्वाब आएगा तो मै तो सोता ही नहीं | बिस्तर को आग लगा देता , तकिये की रुई नोच लेता , खटिया के पाये काट लेता , पंखा कूलर की वायरिंग उखाड़ देता  कहने का मतलब वह सब कर देता ताकि सो न सकू |