breaking news New

बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच यूरोप में लॉकडाउन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

बढ़ते कोरोना वायरस के संक्रमण के बीच यूरोप में लॉकडाउन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

लंदन, 22 मार्च। यूरोपीय देशों में कोरोना वायरस संक्रमण से बचने के लिए सरकारों ने लॉकडाउन और पाबंदियां लागू कर दी, लेकिन लोगों को यह रास नहीं आ रहा है।

ऐसे में ऑस्ट्रिया, ब्रिटेन, फिनलैंड, रोमानिया और स्विट्जरलैंड आदि यूरोपीय देशों के हजारों ने लोगों ने शनिवार को लॉकडाउन के खिलाफ सड़कों पर उतरकर जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

ऐसे में कई जगहों पर पुलिस को वाटर कैनन, ब्लैक पेपर स्प्रे और लाठीचार्ज करने के लिए भी मजबूर होना पड़ा है।

जर्मनी में सड़कों पर उतरे 20,000 से अधिक लोग, कई हिरासत में

कथित तौर पर मध्य जर्मनी के कासेल में 20,000 से अधिक लोगों ने सड़कों पर उतरकर लॉकडाउन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया है।

आंदोलनकारियों ने न केवल पुलिस से हिंसक झड़प की, बल्कि पत्रकारों पर भी हमला किया है।

इतना ही नहीं प्रदर्शनकारियों ने कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करते हुए कासेल में मार्च भी निकाला और बिना मास्क रहते हुए महामारी से बचाव के नियमों का उल्लंघन किया। मामले में पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है।

राजधानी बर्लिन की स्थिति भी तनावपूर्ण थी। वहां दंगों की आशंका को देखते हुए लगभग 1,800 पुलिस अधिकारियों को रिजर्व में तैनात किया गया था। हालांकि, प्रतिष्ठित ब्रांडेनबर्ग गेट पर केवल 500 प्रदर्शनकारियों ने विरोध किया था।

जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने शुक्रवार को संकेत दिया था कि सरकार ने महामारी से बचने के लिए फिर से सख्ती बरतने का निर्णय किया है।

बता दें कि जर्मनी ने शनिवार को कोरोना संक्रमण के 16,033 नए मामले सामने आए हैं।

कोरोना वायरस महामारी की शुरुआत में संक्रमण से बेहतर तरीके से निपटने वाला जर्मनी अब रास्ते से भटकता नजर आ रहा है।

वायरस के अधिक संक्रामक स्ट्रेन के डर के बीच विशेषज्ञों ने वैक्सीनेशन अभियान को तेज करने के प्रयासों को बढ़ाना शुरू कर दिया है।

हालांकि, शुक्रवार तक केवल 8.5 प्रतिशत लोगों को ही वैक्सीन की पहली खुराक दी गई थी। ऐसे में जर्मनी वैक्सीनेशन के मामले में अमेरिका और ब्रिटेन से बहुत पीछे नजर आ रहा है।

लॉकडाउन के खिलाफ हुए विरोध प्रदर्शन से हिला ब्रिटेन

ब्रिटेन में भी लोगों ने लॉकडाउन के खिलाफ सड़कों पर उतरकर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। रिपोर्टों के अनुसार लंदन में हजारों प्रदर्शनकारियों ने तख्तियां लेकर मार्च किया।

इन तख्तियों पर 'फियर वेस्टमनस्टर, नॉट द वाइरस' और 'स्टॉप डिस्ट्रॉजिंगिंग अवर किड्स लाइव्स।' लिखा हुआ था। हाइड पार्क में पुलिस को अपनी वैन में घुसकर जान बचानी पड़ी।

प्रदर्शनकारियों ने उन पर खाली डिब्बे और बोतलें फेंकना शुरू कर दिया था। लंदन मेट्रोपॉलिटन पुलिस ने 36 लोगों को गिरफ्तार किया है।