breaking news New

वैक्सीनेशन : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री राज्य के स्वास्थ्य मंत्री से होंगे रूबरू, प्रोग्राम को अंतिम रूप देने में जुटी सरकार

वैक्सीनेशन : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री राज्य के स्वास्थ्य मंत्री से होंगे रूबरू, प्रोग्राम को अंतिम रूप देने में जुटी सरकार

नईदिल्ली. कोरोना वायरस संक्रमण पर काबू पाने के लिए देश में दो वैक्सीन (कोविशील्ड और कोवैक्सीन) के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए नियामकीय मंजूरी मिलने के बाद मोदी सरकार पूरे जोरशोर के साथ वैक्सीनेशन प्रोग्राम को अंतिम देने में जुट गई है. 

बता दें कि साल 2021 के शुरुआत में ही डीसीजीआई ने 3 जनवरी सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए नियामकीय मंजूरी प्रदान की है. इस बीच खबर यह भी है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन गुरुवार को राज्यों के हेल्थ मिनिस्टर्स के साथ मीटिंग करके तैयारियों का जायजा लेंगे.

खबरों के अनुसार, गुरुवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन दोपहर करीब 12.30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक करेंगे. इसमें वे उन लोगों से कोरोना वैक्सीन के वितरण को लेकर राज्य सरकारों की ओर से की गई तैयारियों का जायजा लेंगे. खबरों में इस बात की चर्चा की जा रही है कि डॉ हर्षवर्धन राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों से वैक्सीनेशन के वितरण को लेकर राज्य सरकारों की बुनियादी तैयारियों की समीक्षा भी करेंगे.

स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव भी का केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से रूबरू हो सकते हैं। वे राज्य में वेक्सिन को लेकर चल रही तैयारियों के बारे में बताएंगे। 

गौरतलब है कि स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से मंगलवार को इस बात का ऐलान किया जा चुका है कि पूरे देश में मकर के पहले 13-14 जनवरी से वैक्सीनेशन प्रोग्राम की शुरुआत की जाएगी. स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को इस बात का ऐलान किया था कि कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की खातिर नियामकीय मंजूरी मिलने के करीब 10 दिन बाद वैक्सीनेशन प्रोग्राम को शुरू किया जा सकता है.

मीडिया की खबरों में इस बात का कयास लगाया जा रहा है कि डीसीजीआई ने चूंकि 3 जनवरी को कोरोना वैक्सीन के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी है और उसके 10 दिन बाद वैक्सीनेशन प्रोग्राम शुरू किया जा सकता है. इसका मतलब यह कि पूरे देश में वैक्सीनेशन प्रोग्राम का पहला चरण 13-14 जनवरी को शुरू किया जा सकता है.