breaking news New

प्रधानमंत्री के सुरक्षा में चूक, माफी मांगे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी: धर्मेंद्र सिंह

प्रधानमंत्री के सुरक्षा में चूक, माफी मांगे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी: धर्मेंद्र सिंह

कृष्णा नायक, दोरनापाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुरक्षा के चूक पर देश से माफी मांगना छोड़ कांग्रेस प्रवक्ता एवं कार्यकर्ताओ का बयान निंदनीय व लोकतंत्र के विरोध हैं। वही एक टीवी चैनल पर पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के बयान की ये तो एक छोटी घटना हैं ये पंजाब के सीएम का असवेंदनशील होना दर्शाता हैं।

नरेन्द्र मोदी हमारे देश के प्रधानमंत्री हैं जिनकी लोकप्रियता भारत देश के साथ ही अन्य सभी देशों में हैं, जिससे विचलित एवं परेशान लोग प्रधानमंत्री को रोकने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। प्रधानमंत्री के सुरक्षा मैं चूक एक साजिश को दर्शाता है। जब प्रधानमंत्री के लिए रूट पहले से तय किया गया था और एसपीजी को डीजीपी पंजाब ने क्लिरियँश भी दिया था फिर भी इस चूक पर खेद जताने को छोड़कर गलत बयानबाजी करना कांग्रेस के प्रवक्ताओं एवं पंजाब सीएम के छोटी सोच को दर्शाता हैं।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के लिए जहाँ एक ओर कई घंटे पहले से ट्राफिक रोक दिया जाता हैं। वहीं एक और देश के प्रधानमंत्री के लिए बीस मिनट तक उनके काफिले को रोकना कही न कही जानबूझकर की गई लापरवाही प्रतीत होती हैं। बहुत ही खेद का विषय हैं कि देश के प्रधानमंत्री के सुरक्षा पर चूक पर भी कांग्रेस के प्रवक्ता एवं यूथ कार्यकर्ता खेद जताने के अलावा अनाप शनाप बयान बाजी कर रहें हैं।

देशवासियों से माफी मांगना छोड़ ये कहना कि बात का बतंगड़ बनाया जा रहा है ये इनके अलोकतांत्रिक रवैया को दर्शाता हैं। भारत देश के प्रधानमंत्री किसी दल के नही होते देश के होते हैं।वही कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्दू का ये कहना कि ये नवटंकी हो रहा हैं। उनका ये कहना ओछी राजनीति को दर्शाता हैं। दोरनापाल नेता प्रतिपक्ष धर्मेंद्र मोनू सिंह भदौरिया ने कहा हैं कि प्रधानमंत्री की जगह अगर कोंग्रेस की अध्यक्ष सोनिया ग़ांधी होती तो क्या पंजाब सरकार ये चूक करती बात बात पर ट्वीट करने वाले राहुल गांधी अब चुप क्यों हैं क्या वो देश से माफी मांगेगे क्योंकि देश पर ये पहला मामला हैं।


जब देश के प्रधानमंत्री के सुरक्षा पर चूक हुवा हैं।जब देश के प्रधानमंत्री किसी राज्य में जाते हैं तो उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी राज्य सरकार की होती हैं।इस मामले में जवाबदेही तय करने के अलावा पंजाब सीएम का बयान की छोटी मोटी घटना हैं ये दुर्भाग्यपूर्ण बयान हैं।कांग्रेस की सरकार जानती हैं कि पहले भी सुरक्षा कारणों से हमारा देश दो प्रधानमंत्री को खो दिया हैं इसके बाद भी ऐसी घटना निंदनीय हैं।


पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह का इस पर बयान की इतनी सुरक्षा में प्रधानमंत्री को डर लगता हैं उनके बयान पर नरेंद्र मोदी के प्रति कांग्रेस की घृणा को दर्शाता हैं।चौबीस घंटे बाद जब देश के लोगों की प्रधानमंत्री के प्रति चिंता को देखते हुवे कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पंजाब सरकार से बात कर नाराजगी जताई व चूक मान कर अपना पल्ला झाड़ लिया  जोकि दुर्भाग्यपूर्ण हैं।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के साथ सारा देश खड़ा हैं सबकी पार्थना हमारे प्रधानमंत्री के साथ है।