breaking news New

खाद बीज की समस्या को लेकर विधायक और महापौर ने भरी हुंकार

खाद बीज की समस्या को लेकर विधायक और महापौर ने भरी हुंकार

 

केंद्र की मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश में उत्पन्न खाद बीज की समस्या पर अपनी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त कर जिला अध्यक्ष राजीव शर्मा, संसदीय सचिव व विधायक रेखचन्द जैन व महापौर सफिरा साहू ने भरी हुंकार.

 राज्य में किसानों की मांग के अनुसार रसायनिक उर्वरकों की पूर्ति की मांग को लेकर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने किया जंगी प्रदर्शन.

 बस्तर जिला कांग्रेस कमेटी शहर के आव्हान पर किसानों को तत्काल राहत पहुंचाए जाने हेतु छत्तीसगढ़ को अविलंब भरपूर मात्रा में खाद मुहैया कराए जाने की मांग. 

 जगदलपुर।  बस्तर जिला कांग्रेस कमेटी शहर अध्यक्ष राजीव शर्मा के नेतृत्व में केंद्र की मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण प्रदेश में उत्पन्न खाद बीज की समस्या को लेकर जिला मुख्यालय के आड़ावाल में एक दिवसीय धरना प्रदर्शन कर माननीय प्रधानमंत्री जी के नाम पर जगदलपुर तहसीलदार के माध्यम से ज्ञापन सौंपा।


 धरना को संबोधित करते हुए शहर जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजीव शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा खरीफ 2021 सीजन के लिए केंद्र सरकार से 11.75 लाख टन रासायनिक उर्वरकों की आपूर्ति की मांग की गई थी किंतु माह जुलाई तक छत्तीसगढ़ को मात्र 5.26 लाख मैट्रिक टन रासायनिक खाद प्रदाय की गई बीते 6 वर्षों की तुलना में इस साल खरीफ सीजन के लिए छत्तीसगढ़ राज्य को अब तक रसायनिक उर्वरकों की आधी अधूरी मात्रा ही मिल पाई है जिसके कारण प्रदेश का किसान अपनी बुनियादी आवश्यकताओं को लेकर असमंजस की स्थिति में भटक रहा है तथा खाद्य की कमी से किसान बेहद परेशानी का सामना कर रहे है जब तक केंद्र की भाजपा सरकार प्रदेश सरकार के द्वारा रसायनिक खाद बीज की आवश्यकता व मांग के अनुरूप किसानों को तत्काल राहत पहुंचाने के लिए ठोस और निर्णायक कदम नहीं उठाएगी और उसकी आपूर्ति नहीं करेगी तब तक कांग्रेस केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन निरंतर जारी रहेगा।

 संसदीय सचिव विधायक रेखचंद जैन रसायनिक खाद बीज पर्याप्त मात्रा में आवश्यकतानुसार उपलब्ध नहीं कराए जाने पर केंद्र सरकार के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्रीय मोदी सरकार कांग्रेस शासित राज्यों के साथ हमेशा से सौतेला व्यवहार करते आ रही है राज्य सरकार की मांगों के अनुरूप ना तो कोई कार्य कर रही है ना ही राज्य सरकार को करने दे रही है यह देश की बहुत बड़ी विडंबना है यदि किसानों को उनकी मांग के अनुरूप संसाधन मुहैया नहीं कराए जाएंगे तो उनकी खेती किसानी पूरी तरह प्रभावित होगी केंद्र सरकार की दोहरी नीति के कारण किसान खेती किसानी को लेकर असमंजस की स्थिति में है। ।


 धरना प्रदर्शन को महापौर सफिरा साहू ने सम्बोधित करते हुए कहा कि जहां एक तरफ प्रदेश की भूपेश सरकार किसानों की आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने का प्रयास कर रही है और दूसरी तरफ केंद्र की मोदी सरकार कुठाराघात करने पर आतुर है यहां उल्टा चोर कोतवाल को डांटे वाली कहावत निर्मित हो गई है प्रदेश के भाजपाई अपने आलाकमान के सामने किसानों की समस्याओं को अवगत कराने का साहस नहीं जुटा पा रहे हैं और उल्टा प्रदेश सरकार के खिलाफ किसानों को गुमराह करने के लिए आंदोलन प्रदर्शन कर औपचारिकता पूरी कर रहे हैं यदि हकीकत में वह किसान हितेषी हैं तो अपने आकाओं के समक्ष उनकी पीड़ा को बताएं और इस गंभीर समस्या का समाधान करें अन्यथा घर बैठ जाएं प्रदेश की भूपेश सरकार ऐसी ताकतों के खिलाफ लड़ने के लिए सक्षम है।

 इस धरना प्रदर्शन को  सतपाल शर्मा, नगरनार ब्लॉक अध्यक्ष वीरेंद्र साहनी, लैखन बघेल, जलन्धर नाग, जिला महामंत्री अनवर खान , दिनेश सिंह,योगेश पाणिग्राही ,सायरा खान, प्रवीण जैन सहित प्रमुख वक्ताओं ने भी संबोधित कर केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की। कार्यक्रम का संचालन विजय सिंह द्वारा किया गया ।

 बस्तर जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी को तहसीलदार पुष्पराज पात्रा के माध्यम से किसानों को अविलंब राहत पहुचाये जाने सम्बंधित ज्ञापन सौंपा गया ।

 धरना प्रदर्शन में केंद्र की मोदी सरकार के विरुद्ध किसानों ने जम कर नारेबाजी की । कार्यक्रम में किसान , जिला / ब्लॉक /ज़ोन/सेक्टर व मोर्चा/प्रकोष्ठ/विभाग के पदाधिकारीगण , जनप्रतिनिधिगण व कार्यकर्तागण उपस्थित हुए ।