breaking news New

Big barking : सराफा व्यवसायी पर फायर कर लूट की सनसनीखेज कांड का खुलासा, 25 लाख रूपये का मशरूका बरामद

Big barking : सराफा व्यवसायी पर फायर कर लूट की सनसनीखेज कांड का खुलासा, 25 लाख रूपये का मशरूका बरामद

 जगदलपुर के स्थानीय सराफा व्यापारी त्रिलोकचंद सिसोदिया शाम 08ः00 बजे जब संजय मार्केट में अपनी ज्वेलरी शॉप बंद करके शॉप की ज्वेलरी अपनी स्कूटी की डिक्की में रख कर अपनी सहकर्मी के साथ अपने घर की ओर जा रहे थे कि उनके घर के कुछ दूर पहले ही अज्ञात आरोपियों द्वारा उनके ऊपर फायर कर के घायल कर स्कूटी की डिक्की में रखे हुए सोने के जेवरात लगभग 500 ग्राम से अधिक लूट कर फरार हो गये थे शहर के मध्य में घटित इस संवेदनशील घटना की सूचना प्राप्त होते ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  जितेन्द्र सिंह मीणा (भा.पु.से.), अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओ.पी. शर्मा, नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार, थाना प्रभारी बोधघाट धनंजय सिन्हा, थाना प्रभारी कोतवाली एमन साहू घटना स्थल पर पहुॅचे। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महोदय द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण व प्रार्थी मुतजर्रर से पूछताछ उपरांत अज्ञात आरोपियों की पतासाजी हेतु एक योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने के दिशा-निर्देश अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओ.पी. शर्मा व नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार को दिये।


घटना की गंभीरता को देखते हुए तत्काल 06 टीमों का गठन किया गया 01 टीम प्रार्थी के कार्यस्थल पर कैम्प कर सूचना संकलन, द्वितीय टीम को घटनास्थल पर कैम्प कर जानकारी इकटठा करने, तृतीय टीम को तकनीकी विश्लेषण, चतुर्थ टीम को पूरे शहर में लगे सी.सी.टी.व्ही फुटेज विश्लेषण, पॉचवी टीम को इंटर स्टेट कॉर्डिनेशन कर अज्ञात आरोपियों की पतासाजी, छठवी टीम को स्थानीय स्तर पर अपराधियों के संबंध में जानकारी हेतु टास्किंग कर उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिये गये।

संदिग्ध आरोपियों की पतासाजी हेतु घटना स्थल, जगदलपुर शहर से लेकर उडीसा राज्य की सीमा तक लगभग 200 सी.सी.टी.व्ही. फुटेज तथा लाखों सेल मुव्हमेंट का विश्लेषण सी.सी.टी.व्ही फुटेज टीम व सायबर एक्पर्ट द्वारा किया गया है। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक महोदय श्री सुंदरराज पी. (भा.पु.से.) द्वारा 10 सदस्यीय एस.आई.टी टीम का गठन करते हुए अज्ञात आरोपियों के संबंध में जानकारी देने पर 30,000/-रूपये की ईनाम की उद्घोषणा की गयी थी। अंतर्जिला समन्वय के तहत् जिला कांकेर, सायबर सेल रायपुर, कोण्डागांव व सुकमा के अधिकारियों/कर्मचारियों की एक टीम को विश्लेषण करने वाली टीम के साथ क्लब किया जाकर अज्ञात आरोपियों की पतासाजी हेतु प्रयास किये जा रहे थे। अज्ञात आरोपियों के संबंध में जानकारी प्राप्त करने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बस्तर श्री जितेन्द्र सिंह मीणा द्वारा सरहदी राज्य उडीसा के जिला गंजाम, कोरापुट, जाजपुर तथा तेलंगाना एवं आन्ध्रपदेश के पुलिस अधीक्षकों से स्वतः ही सम्पर्क स्थापित कर उच्च स्तरीय प्रयास किये जा रहे थे। उडीसा, आन्ध्रप्रदेश व तेलंगाना में टीमों को भेजकर कैम्प कराकर अज्ञात आरोपियों के संबध में उनकी आपराधिक कार्यप्रणाली के आधार पर इस तरह की घटना कारित करने वाले अपराधियों के गैंग के संबंध में जानकारी प्राप्त किया जा कर विश्लेषण किया जा रहा था।


पृथक-पृथक टास्क में पाबंद की गयी टीमों, सी.सी.टी.व्ही फुटेज, सायबर विश्लेषण, डंप एनालिसिस, होटल, लॉज, ढाबा व पेट्रोल पम्पों से जुटाई गई जानकारी दीगर राज्यों में कैम्प की गयी टीमों द्वारा जुटाई गई जानकारी, अंतर्राज्जीय समन्वय से प्राप्त जानकारी के विश्लेषण उपरांत यह सुनिश्चित हुआ कि इस तरीका वारदात का अपराध उडीसा राज्य के जिला गंजाम का गैंग करता है तकनीकी विश्लेषण से भी यह अभिनिश्चित हुआ कि उडीसा की इस गंजाम गैंग का मूव्हमेंट घटना दिनांक के आसपास जगदलपुर शहर की ओर था लगभग 200 सी.सी.टी.व्ही कैमरों के विश्लेषण से यह सुनिश्चित हो चुका था कि घटना को कुल 06 आरोपियों ने 03 मोटर सायकलों में आकर अंजाम दिया है। सी.सी.टी.व्ही. फुटेज से प्राप्त अज्ञात आरोपियों के कद-काठी व हुलिया के आधार पर उडीसा में कैम्प कर रही टीम ने स्थानीय सम्पर्को के माध्यम से उनमें से 01 की पहचान आर. रवि निवासी आस्का जिला गंजाम के रूप में सुनिश्चित करने में सफलता प्राप्त की। मैच्यौर की गयी सूचनाओं के आधार पर टीमों द्वारा लगातार उडीसा, आन्ध्रप्रदेश व तेलंगाना के आर.रवि. और उसके गैंग के सदस्यों के रूकने के ठिकानों पर लगातार दबिश दी जा रही थी।

गैंग के रूकने व छुपने के स्थानों पर मुखबीरों को सक्रिय किया जा कर उनकी भी मदद ली जा रही थी इसी क्रम में यह जानकारी प्राप्त हुई कि सरहदी राज्य उडीसा के ग्राम चांदली में आर.रवि व उसके गैंग के अन्य सदस्यों का मूव्हमेंट है। इस महत्वपूर्ण सूचना पर तत्काल पुलिस टीम द्वारा चांदली के आर. रवि के ठिकाने पर दबिश दी गयी जहां पर आर. रवि और उनके टीम के अन्य 03 सदस्य शिबा राव, पी. रवि कुमार, राज कुमार दास को मौके पर ही अभिरक्षा में ले लिया गया पूछताछ पर आर. रवि ने यह बताया कि सराफा व्यापारी के साथ घटना को उनके गैंग के ही सदस्य शिबा राव, पी. रवि कुमार, राज कुमार दास तथा अन्य 02 लोगों द्वारा मिलकर किया गया था। घटना करने के उपरांत वो सीधा ग्राम चांदली के अपने किराये के घर में आकर लूटे गये आभूषण व पिस्टल को वही डंप कर दिये थे तथा तत्काल वहां से निकल गये थे कि पुलिस की नाकाबंदी में हम लोग पकड़ में ना आजाएं और यह सुनिश्चित किये थे कि कुछ समय बीत जाने व पुलिस की गतिविधि सामान्य होने पर यहां आकर लूटे गये जेवरात का बंटवारा कर लेंगे इसलिए आज यहां आये थे। आरोपियों के कब्जे से घटना में प्रयुक्त 02 मोटर सायकिल व 01 पिस्टल जिसे आरोपी शिबा उर्फ तूफान ने मुंगेर बिहार से खरीद कर लाना बताया है तथा 470 ग्राम सोने के आभूषण जुमला कीमती 25 लाख रूपये का जप्त किया गया है। फरार 02 आरोपियों के संबंध में जानकारी एकत्र की जा रही है गिरफ्तार किये गये आरोपियों का मुव्हमेंट तेलंगाना, आन्ध्रप्रदेश, झारखंड, बिहार, प.बंगाल व छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में देखा गया है। उन राज्यों में भी इस गैंग के द्वारा कारित इस आपराधिक कार्यप्रणाली के अपराधों के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा रही है। आरोपियों को थाना बोधघाट के अप0क्र0 217/2021 धारा 341,307,394,397,34 भादवि 25,27 आर्म्स एक्ट में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा जा रहा है। इस लूट की वारदात में अंतर्राज्जीय आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने पर पुलिस महानिरीक्षक महोदय श्री सुन्दराज पी. (भा.पु.से.) ने टीम को बधाई देते हुए उन्हे पुरस्कृत करने की घोषणा की है।
नाम आरोपी:-
(1) आर.रवि कुमार पिता आर. मोहन जाति एरूगुला (तेलगु) उम्र 48 वर्ष निवासी नारायणपुर पोस्ट पांडी पथरा तह. /थाना आस्का जिला गंजाम उड़ीसा।
(2) शिबा राव पिता स्व. ईश्वर राव जाति एरूगुला उम्र 28 वर्ष निवासी सुराड़ा थाना सुराड़ा जिला गंजाम उड़ीसा ।
(3) पी.रवि कुमार पिता पी.वेंकट जाति एरूगुला (तेलगु) उम्र 35 वर्ष निवासी गोलापल्ली पोस्ट खैरिया तह0 थाना आस्का जिला गंजाम राज्य उड़ीसा।
(4) राजकुमार दास पिता रमेश दास जाति एरूगुला उम्र 22 वर्ष निवासी पुरबोकोट पोस्ट कुन्तरा थाना कोराई जिला जाजपुर (उड़ीसा)।
 इस प्रकरण में आरोपियों की गिरफ्तारी सुनिश्चित करने में सेनानी 09वी वाहिनीं (सी.ए.एफ.) श्री अजातशत्रु बहादुर सिंह (भा.पु.से) सरहदी राज्य उडीसा के पुलिस अधीक्षक गंजाम श्री बृजेष राय, पुलिस अधीक्षक कोरापुट श्री वरूण एवं वहां की स्थानीय पुलिस ने उल्लेखनीय सहयोग प्रदान किया है।
मामले के अनुसंधान में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करने वाले पुलिस अधिकारी:
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  ओम प्रकाश शर्मा
नगर पुलिस अधीक्षक हेमसागर सिदार
पुलिस अनुविभागीय अधिकारी श्री उदयन बेहार, श्री एश्वर्य चन्द्राकर
वरिष्ठ निरीक्षक श्री संजय सिंह, जिला सुकमा
निरीक्षक धनंजय सिन्हा, एमन साहू,, टामेश्वर चौहान, शिवशंकर गेंदले, शिवशंकर हुर्रा एवं एम्ब्रोस कुजूर
उप.निरी. खोमराज ठाकुर, प्रमोद ठाकुर, दिलीप मेश्राम, अरूण नामदेव, कृष्णा साहू, होरीलाल नाविक मुकेश शर्मा (सायबर सेल कोण्ड़गांव)
सउनि. सुदर्शन दुबे, मोहन नायडू, सतीश यदुराज, परिमल दास, अजीत सिंह, सतीश यादव, राजकुमार सिंह, रामविलास नेगी
प्रधान आरक्षक प्रदीप पटेल (सायबर सेल सुकमा) उमेश चंदेल, प्रमोद सिन्हा
आरक्षक प्रमोद बेहरा (सायबर सेल रायपुर), भूपेन्द्र नेताम, गौतम सिन्हा, वेदप्रकाश देशमुख, रूपेश यादव, विक्रम खरे, गायत्री तारम, बबलू ठाकुर, रवि ठाकुर, रवि सरदार, मौसम गुप्ता, सतीश ठाकुर, अशोक खाखा, धर्मेन्द्र ठाकुर, रवि कुमार, लोमेश दिवान, शैलेन्द्र साहू (सायबर सेल कांकेर), प्रदीप कश्यप, चंदन गोयल, गुमान सिंह ठाकुर, बिजेन्द्रमणी शुक्ला, धनसिंहy सोनवानी ओमप्रकाश सिंह, चन्द्रशेखर जांगडे, दीपक कुमार (सायबर सेल), सोनू गौतम, हिमांशु यादव, सन्नू मंडावी, प्रदीप पीटर, भीम मंडावी,
म.आर. शैलेन्द्रि ठाकुर, भगवती भतरा, थानेस्वरी कष्यप
डी.पी.सी.आर. श्री ईश्वर बघेल