breaking news New

बिहार : बेटी पैदा होने के बाद पति और ससुराल वालों ने उसे ज़िंदा जला दिया

बिहार :  बेटी पैदा होने के बाद पति और ससुराल वालों ने उसे ज़िंदा जला दिया

अररिया।  बिहार के अररिया जिले की बनगामा पंचायत की 22 वर्षीय काजल अपने माता-पिता की इकलौती बेटी थीं,  लाड -प्यार में पली  बढ़ी थी।  इसलिए उसे घरवाले वाले प्यार से गुड़िया कहकर बुलाते थे। 

बीते दिसंबर में बड़ी धूमधाम से उसकी शादी अररिया जिले के भरगामा निवासी रोशन भगत के साथ की गई, लेकिन उसके परिवार को नहीं मालूम था कि ये रोशन उनकी गुड़िया की जिंदगी में अंधेरा ले आएगा.

बीत दिनों एक बेटी को जन्म देने की वजह से काजल को प्रताड़ित किया गया और फिर जिंदा जला दिया गया. अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

काजल के पिता अशोक भगत बताते हैं, ‘उसकी शादी हमने बड़ी-धूमधाम से की थी. इस पर छह-सात लाख रुपये खर्च हुए थे. 3.51 लाख रुपये और एक अपाचे बाइक लड़के को दिया था. इनके अलावा फर्नीचर और दूसरे जरूरी सामान भी.’

अशोक भगत बताते हैं, ’10 अक्टूबर को बेटी ने मुझे बताया था कि ससुराल में उसके साथ मारपीट किया जा रहा है. इसके बाद जब मैंने अपने दामाद और उसके माता-पिता से पूछा कि क्या बात है तो उन्होंने जवाब दिया कि हम मारेंगे-पीटेंगे, ये हम जानेंगे. इसके बाद हमने अपनी बच्चियां को समझा दिया कि लड़ाई-झगड़ा मत करो, जो कहता है….उसकी बात सुनो.’

वे आगे बताते हैं कि 13 अक्टूबर को उन्हें इस बात की जानकारी मिली की, उनकी बेटी जल चुकी है और पूर्णिया सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है.पीड़िता की गंभीर स्थिति को देखते हुए भागलपुर सदर अस्पताल भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई.14 अक्टूबर को शव को पोस्टमार्टम किया गया है, लेकिन उसकी रिपोर्ट अब तक नहीं आई है.

इससे पहले 13 सितंबर को काजल ने एक बेटी को जन्म दिया था. काजल के परिजनों की मानें तो बेटी को जन्म देने के बाद से ही काजल को पहले से और अधिक प्रताड़ित किया जाने लगा था.