breaking news New

पंचायत सचिव भीड़ें आर-पार की लड़ाई में, काम बंद, कलमबन्द से ग्रामीण परेशान

पंचायत सचिव भीड़ें आर-पार की लड़ाई में, काम बंद, कलमबन्द से ग्रामीण परेशान


भानुप्रतापपुर, 27 दिसंबर।  ब्लाक मुख्यालय के सामने शनिवार से नाराज पंचायत सचिव संघ काम बंद कलम बंद करते हुए अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठ गए है। उनके हड़ताल में चले जाने से पंचायत कार्यालयो में सन्नाटा पसरा हुआ है। वही शासन के जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ से ग्रामीण वंचित हो रहे हैं।

विदित हो कि परिवीक्षा उपरांत शासकीयकरण किये जाने की मांग को लेकर विगत 21 व 24 दिसंबर को जिला एवं ब्लाक मुख्यालय में धरना प्रदर्शन कर मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौपा गया था, इस विषय पर जब संघ के पदाधिकारियों के द्वारा टीएस सिंहदेव मंत्री पंचायत एवं ग्रामीण विकास छग शासन रायपुर से मुलाकात कर मांग पूरे किए जाने की बात कही गई तो उनके द्वारा गोल मोल जवाब देते हुए कहा कि हमारे घोषणा पत्र में यह मांग शामिल है,जिसे पर विचार किया जा रहा है। मांग पूरी नही होते देखते हुए शासन के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए आंदोलन के राह में जाने को मजबूर हुए है। 


 पंचायतों में पसरा सन्नाटा 

विदित हो कि पंचायत सचिव के माध्यम शासन के अनेक योजनाएं  संचालित व क्रियान्ववित्त हो रहे थे। ग्रामीण भी अपने कामो को लेकर सीधे पंचायत की ओर रुख करते हुए सचिव के माध्यम से अपनी परेशानियों का निराकरण कर लेते थे, लेकिन आज से पंचायत सचिवों के हड़ताल पर चले जाने से पंचायत भवन भी वीरान हो गई है।

 ग्रामीण क्षेत्र होंगे प्रभावित 

प्रदेश के लगभग 80 प्रतिशत लोग आज भी गांवो में ही निवास करते है, शासन के अधिकांश योजनाओ का लाभ भी ग्रामीण क्षेत्रों को मिलता है, योजनाओ का सही क्रियान्वयन व संचालन में पंचायत सचिव कि अहम भूमिका होती है, लेकिन कल से उनके अनिश्चित हड़ताल पर चले जाने से पंचायत व सचिव के माध्यम से जो ग्रामीण क्षेत्र के लोगो को  योजनाओं से लाभ मिल रहा है उनसे वंचित हो जाएंगे।

सचिव संघ दुर्गुकोंदल के

अध्यक्ष कृपा राम बघेल, उपाध्यक्ष राम प्रसाद दुग्गा, संरक्षक शिव प्रसाद नरेटी,राम लाल गावड़े,आत्मा राम मरकाम,दुर्गा प्रसाद गावड़े,प्रेम सिंह नाग,रमेश कुमार हिडको,मनबहाल सोनवानी, जितेंद्र हास्,रामदेव आंचला,जगदेव पांडे, झुमुक लाल,दीपक,हीरा पुडो, प्रेमलत्ता  हुर्रा , जैन कुमार चुरेन्द्र, संतु दुग्गा, हरसू नेताम,सागर नेताम,मंगिया राम परचापी,सूरज कल्लो, सतीमा उइके,सरिद कुमार निषाद,कनक नरेटी, परमेश कुमार दुग्गा, संतोष निसाद,चुन्नू राम सोम,संतलाल तारम, रमेश नरेटी,कैलाश जाड़े, खेमेन्द्र रावटे,सहदेव नरेटी,राम देव आंचला,नारद निषाद, रामलाल गावड़े, श्रीमती हीरा पुडो,जगदीश कुमेटी,आत्मा राम मरकाम, गेंदलाल कुलदीप,पुंनउ राम कुमेटी, सुलेमान एक्का,सूरज लाल नरेटी उपस्थित रहे।