breaking news New

केंद्र सरकार पर बेबुनियाद झूठे आरोप लगा रही कांग्रेस : साय

केंद्र सरकार पर बेबुनियाद झूठे आरोप लगा रही कांग्रेस  : साय

रायपुर । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम द्वारा पत्रकार वार्ता कर बयान दिए जाने पर पलटवार करते हुए कहा कि लगातार कांग्रेस द्वारा भ्रम फैला कर केंद्र सरकार पर बेबुनियाद झूठे आरोप लगा कर और बयानबाजी कर धान खरीदी से बचने का प्रयास करने वाली कांग्रेस के अध्यक्ष धान खरीदी से अपनी सरकार को बचाने के षड्यंत्र में एक कदम आगे बढ़ कर पत्रकार वार्ता कर झूठ और भ्रम फैलाने में लगे हैं। उन्होंने कहा कि श्री मरकाम और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बीच झूठ बोलने, भ्रम फैलाने और भाजपा को कोसने की प्रतिस्पर्धा चल रही है। शायद इसी लिए एक तरफ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल मोदी जी की सरकार का एफसीआई द्वारा स्वीकृति मिलने पर धन्यवाद कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ उनके ही दल के अध्यक्ष मोहन मरकाम जी पत्रकार वार्ता कर एफसीआई द्वारा स्वीकृति नहीं दिए जाने का मनगढ़ंत आरोप लगाकर भाजपा नेताओं और केंद्र सरकार को कोस रहे हैं। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि कांग्रेस के पूर्व व वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष दोनों को समन्वय के साथ काम करना चाहिए और तय कर लेना चाहिए कि दोनों में बॉस कौन हैं? कहीं मोहन मरकाम जी भी ढाई साल पूरा होने का इंतजार तो नहीं कर रहे हैं? उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सरकार और संगठन के बीच का संघर्ष साफ दिख रहा है  परंतु दुख इस बात का है कि अपने आपको किसान हितैषी बताने वाले कांग्रेस के नेता अपना राजनैतिक हित साधने छत्तीसगढ़ के किसानों का अहित कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया को इस विषय को गंभीरता से लेने व वर्तमान व पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष के बीच समन्वय स्थापित करने की सलाह दी हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम से पूछा हैं कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार छत्तीसगढ़ प्रदेश के किसानों के हित में पिछले वर्ष की तुलना में डेढ़ गुना अधिक चावल खरीद रही हैं तो किसान हितैषी होने का ढोंग करने वाली कांग्रेस के पेट में क्यों मरोड़ उठ रहा हैं? राजीव गांधी न्याय योजना के नाम पर छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ किस्तों में भुगतान का अन्याय करने वाली कांग्रेस किस मुह से केंद्र सरकार पर आरोप लगा रही हैं, क्या मोहन मरकाम भूल गए कि 2014 में सोनिया गांधी के इशारों पर चलने वाली यूपीए सरकार ने ड्राफ्ट तैयार कर समर्थन मूल्य से अधिक राशि देने पर आपत्ति जताई थी, तब केंद्र में कांग्रेस थी और यह दुर्भाग्यपूर्ण ही है कि अब राज्य में काँग्रेस की सरकार है और वही किसान विरोधी षड्यंत्रकारी खेल छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ खेला जा रहा है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि राजनीति करने किसानों को छलने से पहले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व कांग्रेस अध्यक्ष को अपना इतिहास खंगालना चाहिए कैसे 2006 से 2014 तक सोनिया गांधी  के नेतृत्व वाली कांग्रेस ने स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को दबा रखा था। उन्होंने कहा कि जिस कांग्रेस के राज में किसानों को प्रताडि़त किया गया कभी किसानों के हित में निर्णय नहीं लिया गया उन्हें आज किसानों की याद सिर्फ इस लिए आ रही हैं क्योंकि मोदी जी किसानों के हित मे निर्णय कर रहे हैं और कांग्रेस को इसी बात की पीड़ा हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानों के साथ अन्याय करने वाली कांग्रेस और मुख्यमंत्री बघेल किस मुह से किसानों की बात कर रहे हैं। उन्हें बताना चाहिए छत्तीसगढ़ के किसानों का रकबा किस षड्यंत्र के तहत काटा जा रहा हैं? कांग्रेस की सरकार आने के बाद ही क्यों धान खरीदी में विलंब, धान खरीदी में गड़बड़ी, खरीदी केंद्रों में अव्यवस्था, टोकन के नाम पर किसानों को परेशानी, बारदाने का संकट जैसी अनेक समस्याओं ने किस षड्यंत्र के तहत छत्तीसगढ़ में जन्म ले लिया हैं ? जवाब दें! किसानों को राजीव गांधी न्याय योजना के नाम पर कब तक ठगा जाएगा? कब होगा पूरा भुगतान? आखिर किसानों के साथ कब होगा न्याय? कांग्रेस बताये! उन्होंने कहा कि बीते दो वर्षों में छत्तीसगढ़ का किसान कभी खाद के नाम पर कभी बीज के नाम पर तो कभी कीटनाशक के नाम छला जाता रहा हैं कब बंद होंगा किसानों के साथ छत्तीसगढ़ में अन्याय?  भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि असल में छत्तीसगढ़ सरकार किसानों का धान खरीदना ही नहीं चाहती इस लिए खरीदी में विलंब किया, बारदाने को लेकर घडिय़ाली आँसूं बहाया, खरीदी केंद्रों में अव्यवस्था उत्पन्न की, टोकन के नाम पर सॉफ्टवेअर के नाम पर समय जाया किया और अंतत: जब कुछ नहीं सुझा तो केंद्र द्वारा सैद्धान्तिक सहमति और 9 हजार करोड़ के भुगतान के बाद भी केंद्र और राज्य सरकार के बीच लोकतांत्रिक व्यवस्था और विश्वास को झूठा साबित करने से नहीं चूके। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में विशाल बहुमत से जीतने वाली कांग्रेस को चुल्लूभर पानी की खोज करनी चाहिए क्योंकि 70 सीटों से सत्ता में काबिज कांग्रेस ने जनता के विश्वास खोने का हर एक पैमाना पार कर लिया हैं।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि भाजपा के सांसदों व विधायकों की मांग पर और छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में केंद्र सरकार डेढ़ गुना अधिक चावल खरीद रही है। कांग्रेस के अध्यक्ष होने के नाते मोहन मरकाम और पूरी कांग्रेस पार्टी को किसान पुत्र मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से मांग करनी चाहिए कि मोदी जी ने छत्तीसगढ़ के किसानों के हित में जो निर्णय किया है उसे आगे बढ़ाते हुए छत्तीसगढ़ सरकार प्रति एकड़ 25 क्विंटल धान खरीद कर अपने किसान हितैषी होने का प्रमाण दे। और हाँ केंद्र सरकार से किसानों को मिलने वाली किसान सम्मान निधि में भी बाधा भी ना बने।