breaking news New

विधानसभा ब्रेकिंग : सदन से मंत्रियों के गायब होने पर विपक्ष ने अपमानजनक बताया, बहिर्गमन किया, मंत्री उमेश पटेल का दावा, 'मैं हूँ ना..आपने क्या क्या कहा, कहकर सुना सकता हूँ' विपक्ष ने इसे राज्यपाल का अपमान बताया

विधानसभा ब्रेकिंग : सदन से मंत्रियों के गायब होने पर विपक्ष ने अपमानजनक बताया, बहिर्गमन किया, मंत्री उमेश पटेल का दावा, 'मैं हूँ ना..आपने क्या क्या कहा, कहकर सुना सकता हूँ' विपक्ष ने इसे राज्यपाल का अपमान बताया


अनिल द्विवेदी

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज मंत्रियों की उपस्थिति को लेकर विपक्ष ने कड़ी आपत्ति दर्ज की। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने आसंदी पर बैठे देवव्रत सिंह को सुझाव दिया कि वह मंत्रियों को निर्देशित करें कि चर्चा के दौरान मंत्री अपनी अपनी सीट पर बैठे और विधायकों को सुनें। अंत में भाजपा सहित विपक्ष ने बहिर्गमन किया। 

दरअसल राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा शुरू हुई तो मंत्री उमेश पटेल के अलावा सारे मंत्री गायब थे जिस पर विपक्ष ने काफी आपत्ति जताई। इस पर सरकार की ओर से जवाब देते हुए मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि मैं सरकार की तरफ से बैठा हूं। माननीय सदस्य जो जो बातें कह रहै हैं  मैं नोट कर रहा हूं अगर आपको आशंका है तो मैं यहां से उसे पढ़ देता हूं कि किस सदस्य ने क्या-क्या कहा।

इस पर विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि इस बात को अफसरों को भी गंभीरता से लेना चाहिए कि राजयपाल के अभिभाषण पर जब चर्चा हो तो वे अफ़सर दीर्घा  में मौजूद रहैं। संसदीय सचिव अफसरों को निर्देश जारी करें कि विधानसभा में सचिव और अन्य अफसर भी उपस्थित रहे। 

इस पूरे मामले पर राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि सारे मंत्री मंत्रिमंडल की बैठक में गए हुए हैं और मुझे यहां पर बैठे रहने के लिए कहा गया है। सरकार की तरफ से जवाब देने के लिए तैयार हूं। इस पर विपक्ष के विधायक धर्मजीत सिंह ने भी कहा कि सदन की गरिमा को बनाए रखने के लिए जरूरी है कि मंत्री सदन में रहें तथा विधायकों के सुझाव और चर्चा को सुनें। वरिष्ठ सदस्य ब्रिजमोहन अग्रवाल ने आरोप लगाया कि राज्यपाल के अभिभाषण को सरकार  गंभीरता से नहीं ले रही है।

 इसके बाद आसंदी पर बैठे विधायक देवव्रत सिंह ने व्यवस्था दी कि उमेश पटेल मंत्री बैठे हुए हैं, वे सरकार की तरफ से जवाब देंगे। भाजपा विधायक शिवरतन शर्मा ने भी अपनी बात रखी।