breaking news New

Unlock छत्तीसगढ़, इन जिलों में दी गई छूट

Unlock छत्तीसगढ़, इन जिलों में दी गई छूट

रायपुर, 24 मई।  छत्तीसगढ़ में वैसे तो कोरोना संक्रमण की वजह से 31 मई तक लॉकडाउन लगाया गया है. लेकिन कोरोना संक्रमितों की संख्या में कमी के चलते आज से प्रशासन की तरफ से कई जिलों में ढील दी जा रही है. लोगों की परेशानी को देखते हुए बिलासपुर, गरियाबंद, रायगढ़ और कांकेर जिले के कुछ बाजारों को खोला जाएगा. इस संबंध में संबंधित जिले के कलेक्टर द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है. हालांकि इस दौरान लोगों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना होगा. तो आइए अब आपको बताते हैं कि किस जिले में कैसी रियायत मिली है-

बिलासपुर

बिलासपुर में कपड़ा, सराफा, इलेक्ट्रॉनिक, मोबाइल फोन, ऑटोमोबाइल के बाजार खुलेंगे. यहां ऑड-इवन या लेफ्ट-राइट का सिस्टम लागू किया जाएगा. इसके लिए जिला प्रशासन के अफसर कारोबारियों से बात कर रहे हैं. दुकानों को या तो नंबर जारी किए जाएंगे या फिर सड़क की एक तरफ की दुकान पहले दिन और दूसरे तरफ की दुकान दूसरे दिन खोली जाएंगी. इसके अलावा अब तक दुकानें शाम 4 बजे तक खुल रही थीं इन्हें शाम 5 बजे तक खोलने की अनुमति मिली है. 

रायगढ़

रायगढ़ में फिलहाल थोड़ी कम छूट दी गई है. यहां किराना दुकानें, मिल्क पार्लर खुलेंगे. इन्हें सुबह 8 बजे से 2 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है. कुछ पुरानी मंडियां जो धान की फसलों की नीलामी का काम करती हैं, वह सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक खुली रहेंगी. होटल रेस्टोरेंट में अब ऑनलाइन ऑर्डर के साथ पार्सल की सुविधा भी दी जा रही है. थोक किराना और अनाज के बाजार, आलू प्याज की दुकान भी सुबह 8 बजे से दोपहर 2 बजे तक खुली रहेंगी.

कांकेर

कांकेर में किराना दुकान, सब्जी दुकान, फल, बेकरी, आटा चक्की, अंडा पोल्ट्री, मटन, चिकन, मछली की दुकानों को सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक खोलने की अनुमति होगी. दूध की डेयरी सुबह 6 बजे से 9 बजे तक और शाम को 5 बजे से 7 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है. कांकेर में कपड़ा, जूता, चप्पल, फर्नीचर, बर्तन, सराफा, फैंसी आइटम की शॉप साइकिल स्टोर, टेलरिंग शॉप सुबह 8 बजे से दोपहर 1 बजे तक खुलेंगे.

गरियाबंद

गरियाबंद जिले में कपड़ा, जूता, चप्पल, बर्तन हार्डवेयर, इलेक्ट्रॉनिक, इलेक्ट्रिकल, जनरल स्टोर, सोना चांदी की दुकान खोले जाने की अनुमति सुबह 7 बजे से दोपहर 2 बजे तक दी गई है. होटल या रेस्टोरेंट परिसर में विवाह समारोह करने की अनुमति दी गई है. लेकिन 10 लोगों की शर्त अभी भी बरकरार है. शादी के लिए अनुविभागीय दंडाधिकारी से अनुमति लेना जरूरी होगा.