breaking news New

स्वाभिमानी नेताओं के लिए Congress में रहना मुश्किल - Kamal Patel

स्वाभिमानी नेताओं के लिए Congress में रहना मुश्किल - Kamal Patel

राजस्थान में मचे घमासान पर कहा- आत्महत्या की कगार पर है कांग्रेस 

भोपाल, 17 जुलाई। कांग्रेस ने देश को सिर्फ भ्रष्टाचार और परिवार वाद दिया है इसलिए स्वाभिमानी व्यक्ति का कांग्रेस में बने रहना मुश्किल हो गया है। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने राजस्थान सरकार में मचे घमासान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि कांग्रेस आत्महत्या की ओर बढ़ रही है और दोष भाजपा पर मढ़ रही है।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल ने मीडिया से चर्चा में कहा कि कांग्रेस आत्महत्या की कगार पर है, भ्रष्टाचार और वंशवाद में फंसी कांग्रेस केवल सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के इर्दगिर्द सिमटी है जिससे स्वाभिमानी नेताओं का कांग्रेस में बने रहना मुश्किल हो गया है, कांग्रेस को केवल जी हुजूरी करने वाले नेताओं की जरूरत है, जो नहीं कर सकते वह बाहर जा रहे हैं। कमल पटेल ने कहा कि राजस्थान में जमीनी मेहनत सचिन पायलट ने की लेकिन सरकार बनाने की बारी आई तो अशोक गहलोत को ले आया गया। सचिन पायलट के लिए काम करने की स्वतंत्रता भी नहीं छोड़ी गई जिससे असंतोष होना स्वाभाविक था। कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि कांग्रेस अपने कर्मों से सिमट रही है और दोष भाजपा पर मढ़ रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने देश को केवल भ्रष्टाचार और परिवार वाद दिया है इससे कांग्रेस के लोग ही ऊबने लगे हैं और दूर होने लगे हैं। उन्होंने कहा कि जातिवाद, क्षेत्रवाद सब कांग्रेस की देन है लेकिन अब देश की जनता जागरूक हो गई और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर उम्मीद से देख रही है। मोदी भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के नेता बनते जा रहे हैं। विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोप को कमल पटेल ने सिरे से खारिज करते हुए प्रतिप्रश्न किया कि कांग्रेस में सब बिकाऊ हैं क्या, उन्होंने आगे कहा कि भाजपा विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बन गई है, भाजपा को किसी को खरीदने की जरूरत नहीं है, कांग्रेस में उपेक्षित और अपमानित हो रहे नेता स्वयं ही कांग्रेस छोड़ रहे हैं।