breaking news New

मध्यप्रदेश का कोई भी जिला रेड जोन में नहीं : शिवराज

मध्यप्रदेश का कोई भी जिला रेड जोन में नहीं : शिवराज

भोपाल।  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड संक्रमण की दृष्टि से अब प्रदेश का कोई भी जिला रैड जोन में नहीं है। किसी भी जिले की पॉजिटिविटी 5 फीसदी से अधिक नहीं है। प्रदेश कोरोना संक्रमण से तेजी से बाहर निकल रहा है। शीघ्र ही प्रदेश को पूर्ण रूप से कोरोना संक्रमण मुक्त किए जाने के लिए हर संभव प्रयास किए जाएं।
श्री चौहान आज मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी प्रभारी मंत्री एवं कोविड प्रभारी अधिकारी अपने-अपने जिलों में अनलॉक प्रक्रिया पर पूरी नजर रखें तथा कोविड अनुरूप व्यवहार सुनिश्चित किया जाए।
श्री चौहान ने कहा कि इस संबंध में भोपाल में कोरोना अनुरूप व्यवहार सुनिश्चित कराने के लिए प्रभारी मंत्री के निर्देशन में ‘कोविड सेफ्टी टीम’ का कार्य माइक्रो मॉनिटरिंग का उत्तम उदाहरण है। अन्य जिले भी इसका अनुसरण करें। उन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन कोरोना के विरुद्ध सुरक्षा चक्र का कार्य करता है, इसकी गति बढ़ाई जाए। वैक्सीनेशन में 12 वर्ष से कम उम्र वाले बच्चों के माता पिता को, विदेश जाने वाले विद्यार्थियों को, ठेलेवालों, दुकानदारों आदि को प्राथमिकता दी जाए।
प्रदेश के 30 जिलों में कोरोना की साप्ताहिक औसत पॉजिटिविटी 1 प्रतिशत से कम है तथा 22 जिलों में साप्ताहिक औसत पॉजिटिविटी 1 प्रतिशत से 5 प्रतिशत तक है। सभी 52 जिलों की साप्ताहिक औसत पॉजिटिविटी 5 प्रतिशत से कम है। प्रदेश के 3 जिलों अलीराजपुर, झाबुआ तथा कटनी में कोरोना का कोई नया प्रकरण नहीं आया है, चार जिलों भिंड, मंडला, सिंगरौली तथा टीकमगढ़ में एक एक नए प्रकरण आए हैं।
प्रदेश के 3 जिलों इंदौर, भोपाल तथा जबलपुर में ही कोरोना के 20 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 287, भोपाल में 183, जबलपुर में 71, ग्वालियर में 17 तथा रतलाम में 16 नए प्रकरण आए हैं। इंदौर की साप्ताहिक पॉजिटिविटी 4.9 प्रतिशत, भोपाल की 3.8 प्रतिशत, जबलपुर की 1.8 प्रतिशत, ग्वालियर की 1.4 प्रतिशत तथा रतलाम की साप्ताहिक पॉजिटिविटी 2.1 प्रतिशत है।
प्रदेश में कोरोना के 846 नए प्रकरण आए हैं, 3746 मरीज स्वस्थ हुए हैं तथा 14186 एक्टिव प्रकरण हैं। प्रदेश की साप्ताहिक औसत पॉजिटिविटी 1.7 प्रतिशत तथा आज की पॉजिटिविटी 1.1 प्रतिशत है। आज प्रदेश में 78 हजार टेस्ट किए गए।
श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित करने में किल कोरोना अभियान का बहुत बड़ा योगदान है। यह अभियान ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में निरंतर चलता रहे तथा इसकी लगातार मॉनिटरिंग होती रहे।
श्री विश्वास सारंग ने भोपाल में ‘कोविड सेफ्टी टीम’ द्वारा किए जा रहे कार्यों के प्रेजेंटेशन मैं बताया कि भोपाल जिले में 9159 दुकानें खोली गई हैं, जिनमें से 8632 दुकाने कोविड व्यवहार का पालन कर रही है, 319 दुकानों को कोविड अनुरूप व्यवहार न करने पर बंद कराया गया तथा 208 दुकानों के विरुद्ध 65500 रुपये का जुर्माना किया गया। कोविड सेफ्टी टीम लोगों से आग्रह पूर्वक कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करवा रही हैं, तथा जो नहीं मान रहे उनके विरुद्ध चालानी कार्रवाई की जा रही है। ये दुकानों के बाहर गोले बनवाना, रस्सी बंधवाना, कार्यालयों में थर्मल स्क्रीनिंग, सोशल डिस्टेंसिंग की चेकिंग, लोगों से मास्क, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने तथा 2 गज की दूरी बनाए रखने के लिए आग्रह करना आदि कार्य कर रही है। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि जिन दुकानों को अनुमति है वे ही खुलें तथा निर्धारित समय पर बंद हो जाएं।
बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान आदि उपस्थित थे।