breaking news New

लॉकडाउन में मरीजों के लिए घर वापसी बनी बड़ी समस्या, निजी एंबुलेंस वाले वसूल रहे ज्यादा किराया

लॉकडाउन में मरीजों के लिए घर वापसी बनी बड़ी समस्या, निजी एंबुलेंस वाले वसूल रहे ज्यादा किराया

 

रायपुर। कोरोना लॉकडाउन में इलाज हेतु राजधानी के भीमराव अम्बेडकर  अस्पताल पहुंचे मरीज और उनके परिजनों के लिए घर वापसी बड़ी समस्या बन गई है।  अस्पताल प्रबंधन ने इन  मरीजों के लिए  घर वापसी की कोई व्यवस्था नहीं की है,  ऐसे में  निजी एंबुलेंस वालों ने इन मरीजों के परिजनों से तीन गुणा ज्यादा किराया वसूल रहे हैं। 

प्रदेश के दूसरे जिलों से रेफर होकर मेकाहारा पहुंचे मरीज अपने परिजनों के साथ घर जाने के लिए  व्यवस्था में लगे रहे। वाहन की  कोई व्यवस्था न होने से निजी  एंबुलेंस वालों की ओर रुख किया, लेकिन उनका किराया सुनकर वे सन्न रह गए। 

 लोगों ने बताया कि प्राइवेट एंबुलेंस से संपर्क करने पर   किसी ने 3 हजार तो किसी ने पैतीस सौ किराया बताया।  अब हम गरीब आदमी इतना पैसा कहां से लाएं। उन्होंने बताया कि अस्पताल में खाने-पीने की व्यवस्था ठीक नहीं है, और बाहर भी कुछ नहीं मिल रहा है।  ऐसे में क्या करें। 

इसी तरह घर जाने के इंतज़ार में खड़े मरीज के परिजन ने बताया कि वह पन्थी कलाकार है।  भतीजे का फिसलने से हाथ टूट गया है, जिसके उपचार के लिए उसके साथ चार लोग एम्बुलेंस से पहुंचे थे, लेकिन अब वापसी में समस्या आ रही है।  

इस संबंध में हॉस्पिटल प्रबंधन का कहना है कि शासन की ओर से मरीजों को घर तक छोड़ने का कोई आदेश नहीं है।  लेकिन कई लोग मानवता की वजह से छोड़ रहे हैं। 

chandra shekhar