breaking news New

भाषणों की जादूगरी जुमलो का मायाजाल जनता को लूटने वाली है मोदी की 7 साल की सरकार- डॉक्टर चोलेश्वर चंद्राकर

भाषणों की जादूगरी जुमलो का मायाजाल जनता को लूटने वाली है मोदी की 7 साल की सरकार- डॉक्टर चोलेश्वर चंद्राकर


सक्ती, 30 मई।   केंद्र में बैठी मोदी सरकार के 7 साल को विफलता पूर्ण बताते हुए जिला जिला जांजगीर चांपा कांग्रेस कमेटी के जिला अध्यक्ष डॉक्टर चोलेश्वर चंद्राकर ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर मोदी सरकार के 7 सालों के कार्यकाल को भाषणों की जादूगरी जुमलो का मायाजाल बताया डॉक्टर चंद्राकर ने भारतीय जनता पार्टी व केंद्र सरकार से पूछा है कि इन 7 सालों में देश की जीडीपी, महंगाई, किसानों की हालत,जी एस टी, बेरोजगारी, उद्योगों का चौपट होना गरीबी में वृद्धि, विदेश नीति में नाकामी के साथ ही जुमले बाजो की यह सरकार अपने किसी भी महत्वपूर्ण घोषणा में सफल नहीं हो पाई है चाहे वह काला धन वापस लाने का मामला हो या प्रत्येक व्यक्ति के खाते में  पन्द्रह लाख रुपए डालने का या फिर किसानों की आय दोगुनी करने वाली बात प्रत्येक वर्ष दो करोड़ युवाओं को रोजगार की बात हो तमाम अपने वादों में मोदी सरकार फिसड्डी साबित हुई है। यह सरकार देश में जनता को गुमराह कर झूठी राष्ट्रवाद हिंदुत्व ढिंढोरा व भगवा चोलो की आड़ में देश को लूटने की करतूत कर रही है  चंद्राकर ने कहा कि केंद्र सरकार की नीतियों का असर यह रहा कि  विदेशों में भी अब भारत की बदनामी हो रही है।

कोविड-19 वैश्विक महामारी के संबंध में भाजपा की मोदी सरकार की नीति देश को बीमार करने वाली रही है जहां जिस समय हमें वैक्सिंग की जरूरत थी उस समय कोरोना के दुसरी लहर से पूर्व बाहरी देशों को वैक्सीन पहुंचाकर मोदी ने अपनी पीठ थपथपाई थी उसका नतीजा यह निकला कि देश के अंदर वैक्सिंग की कमी से कोरोना ने अपना पैर पसार दिया ऑक्सीजन वेंटिलेटर स्वास्थ्य सुविधाएं आदि जैसी अभाव में लाखों लोगों ने अपनी जान दे दी जिसका जिम्मेदार मोदी सरकार है इसे भी इस 7 साल की उपलब्धि के रूप में भाजपा को शामिल करना चाहिए। भारत के इतिहास में यह दर्ज होगा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से निपटने के लिए सरकार लगातार गलती पर गलती करती रही और लाखों लोग काल के गाल में समा गए यह भी दर्ज होगा  कि लकड़ी नहीं मिल पाने से किस तरह से लोगों ने अपने मृतकों को गंगा में बहा दिया इतिहास में यह भी दर्ज होगा कि किसानों के तीन काले कानून को वापस लेने के लिए किस तरह से सैकड़ों किसानों ने अपनी जान दे दी फिर भी यह सरकार कारपोरेट की मदद से बाज नहीं आ रही है।  

इतिहास में यह भी दर्ज होगा कि किस तरह एक शासक ने बंगाल चुनाव जीतने के लिए कोरोना बचाव के सारे नियमों को ताक में रखकर राजनीति की और बाद में टेलीविजन पर आकर मृतकों के लिए आंसू बहा दिया।डॉक्टर चंद्राकर ने कहा कि अब देश समझ चुका है मोदी जी सिर्फ लच्छेदार भाषणों वप्नी नाटकीयता से लोगों को आकर्षित कर उनका वोट लेते हैं लेकिन धीरे-धीरे लोगों को समझ आने लगा है कि भाजपा की सरकार उद्योगपतियों के इशारे पर सिर्फ देश को लूटने का काम कर रही है  भाजपा की केन्द्र मोदी सरकार का यह 7 साल विफलता नाकामी देश को गर्त मे ले जाने वाला रहा।