breaking news New

पंजाब सरकार का दोहरा चरित्र : सीएम कैप्टन सितंबर में ही लागू करना चाहते थे नये कृषि कानून

पंजाब सरकार का दोहरा चरित्र :  सीएम कैप्टन सितंबर में ही लागू करना चाहते थे नये कृषि कानून

पटना। बिहार भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कृषि सुधार कानूनों के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर पंजाब सरकार पर दोहरा चरित्र रखने का आरोप लगाते हुए आज कहा कि वह तो नये कृषि कानून को सितंबर में ही लागू करवाना चाहती थी।

बिहार भाजपा के अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने शनिवार को यहां नए कृषि कानूनों पर कांग्रेस के दोहरे रुख पर कहा, “नए कृषि कानूनों पर कांग्रेस के दोहरे चरित्र के कई प्रमाण अभी तक जनता के सामने आ चुके हैं। इसी कड़ी में अब पंजाब की कांग्रेस सरकार का नया कारनामा सामने आया है। इन कानूनों पर किसानों को भड़काने और बिचौलियों का बचाव करने में सबसे आगे दिख रही पंजाब सरकार इन कानूनों को सितंबर माह में ही पंजाब में लागू करवाने की तैयारी में थी।”

डॉ. जायसवाल ने पंजाब सरकार की कोविड-19 रिस्पाॅन्स रिपोर्ट के पृष्ठ संख्या 334 पर उल्लिखित तथ्यों का हवाला देते हुए कहा कि इनमें कृषि बदलावों का भी उल्लेख है, जिसके तहत मार्केटिंग सुधार की जानकारी देते हुए कृषि उपज बाजार समिति (एपीएमसी) से परे बाजार खोलने की बात स्पष्ट तौर पर लिखी गई है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा इस रिपोर्ट में किसानों और उत्पादक संगठन के बीच संविदा कृषि का जिक्र भी किया गया है।