कोरोना बुलेटिन : दो दिन का पूरा लॉकडाउन, घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनना अनिवार्य

कोरोना बुलेटिन : दो दिन का पूरा लॉकडाउन, घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनना अनिवार्य

कोरोना ने आज विकराल रूप दिखाया और 28 लोगों की जान ले ली. अब तक 7500 से ज्यादा प्रकरण सामने आए हैं जिनमें से 650 ठीक हो गए हैं. छत्तीसगढ़ में अभी 18 मरीज हैं जिनमें से कुछ ठीक हो गए हैं.

कल और परसों दो दिन का लॉकडाउन
छत्तीसगढ़ में घर से बाहर निकलते समय मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है। राज्य सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग मंत्रालय महानदी भवन से इस आशय का आदेश जारी किया गया है।

दंतेवाड़ा जिले के कुआकोंडा ब्लॉक के दूर नक्सल प्रभावित क्षेत्र ग्राम आलनार, हिरोली ,समलवार ,बेंगपाल से तीन गांव के 140 मजदूर आंध्रप्रदेश के गन्नावराम में मजदूरी करने गए ग्रामीण अपने घर पहुँचने और परिवार से मिलने के लिए आये तो जरूर पर इन्हें गांव के ही बाहर रोक दिया गया।

राजधानी में  कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए सरकार एतहतियाती कदम  उठा रही है।  इसी के तहत  सड़क पर फालतू घूमने  वालों पर पुलिस  सख्त कार्रवाई करेगी । उनका  वाहन भी  जब्त हो सकता है। कल रविवार को सभी सब्जी और किराना दुकाने  बंद रहेंगी। दूध और पेट्रोल पंप को बंद से रखा अलग गया है।

आइसोलेशन वार्ड में कोरोना संदिग्ध ने किया आत्महत्या, रिपोर्ट आई नेगेटिव

महाराष्ट्र सरकार ने 30 अप्रैल तक लाकडाउन बढ़ा दिया है. अब तक पांच राज्यों ने इस पर सहमति दी है.

तमिलनाडु के अरियालुर में आइसोलेशन वार्ड में भर्ती एक कोरोना संदिग्ध ने आत्महत्या कर ली। 

नीदरलैंड की एक टेक्नोलॉजी यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर बर्ट ब्लोकन और फैबियो मैलिजिया ने सिम्युलेशन तकनीक के जरिए समझाया कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति के पीछे चलने या दौड़ने वाले इंसान को भी आसानी से अपनी चपेट में ले सकता है। टेक्नोलॉजिस्ट के अनुसार, कोरोना वायरस में यदि आप किसी व्यक्ति के पीछे 6 फीट की समान दूरी बनाकर दौड़ रहे हैं तो आपके संक्रमित होने का खतरा काफी ज्यादा है।

पंजाब में जानलेवा वायरस के 130 पॉजिटिव मामले  सामने आ चुके हैं, जिसमें से 10 की मौत हो चुकी है। लेकिन मोहाली के एक गांव में 34 मरीजों के मिलने के बाद से हड़कंप मच गया है। जवाहरपुर गांव में अभी तक कोरोना के 34 मामले सामने आ चुके हैं।

कोरोना वायरस से लड़ने के सि​लसिले में एक और सिरदर्द उभकर आ गया है। इंदौर शहर में  इस समय मुस्लिमों की  मृत्यु दर में असामान्य बढ़ोतरी दर्ज की गई है। चार कब्रिस्तानों में मार्च महीने में दफनाए गए 130 लोगों की तुलना में यहां अप्रैल के पहले छह दिनों में 127 को दफन किया गया।

प्लाज्मा थैरेपी से होगा भारत में कोरोना का इलाज
पुरे विश्व  में घातक  कोरोना वायरस के कहर से  अब तक  एक लाख से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।  इस महामारी से निजात दिलाने के लिए  दुनिया भर के विशेषज्ञ, वैज्ञानिक और डॉक्टर इसका सफल इलाज ढूंढने में जुटे हुए हैं। इलाज की इस नई तकनीक को 'प्लाज्मा थेरेपी' कहा जाता है. उपचार के इस नए तरीके में रोगी से ठीक हुए एक शख्स के इम्यून (रोग प्रतिरोधक) सिस्टम की क्षमता के जरिए बीमार शख्स का इलाज किया जाता है।

देश में कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण की रोकथाम के  लिए सरकार और विशेषज्ञों ने  साफ-सफाई के साथ ही सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने की अपील की है।  हालांकि कोयंबटूर में इसी सैनिटाइजर की वजह से एक शख्स की जान चली गई।

कोरोना से बचाव में लगे कर्मियों की COVID-19 से मौत पर 50 लाख की मदद