breaking news New

धान बेचने के लिए भटक रहे हैं सोसाइटीयों में किसान, योगेश तिवारी के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पहुंचेंगें कृषक

धान बेचने के लिए भटक रहे हैं सोसाइटीयों में किसान, योगेश तिवारी के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पहुंचेंगें कृषक

बेमेतरा।  जिले में किसानों को धान बेचने में परेशानी का सामना करना पड़  रहा हैं आज जिले के किसान धान बेचने के लिए भटक रहे हैं सोसाइटीयों में अभी किसान धान लेकर बिक्री के लिए पहूंच रहें हैं  बिक्री सेंटरों मे उन्हे निराशा का सामना करना पड़ रहा है  सोसायटियों में  धान परिवहन नहीं  होने के कारण बारदाना नहीं होनें का बहाना बनाकर किसानों का धान नहीं खरीद रहे हैं । किसानों को स्वयं का बारदाना लाने को कहा जा रहा है जबकि आज किसानों के पास बारदाना नहीं है किसानों को धान बेचनें के लिए बारदानों  की जरूरत होती है किसानों को मजबुरी में 50,60,रूपये  में खरीदना पड़ रहा  है ।

आज किसान को धान मिजाई करे हुए दो महिने हो चुका है इसके के बावजूद किसान धान नहीं बेच पाया है  यह किसानों के लिए  बहुत दुख की बात है छत्तीसगढ़ प्रदेश सरकार धान खरीदी के मामले में  हमेशा कोई ना कोई बहाना बना रही है जबकि प्रदेश कांग्रेस की सरकार के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी का कहना था कि 1 नवंबर से किसानों का धान की खरीदी की जाएगी और एक एक दाना किसानों का धान खरीदा जाएगा लेकिन आज जनवरी माह चालू हो गया उसके बावजूद किसानों का धान नहीं खरीदा गया है कल दिनांक 2/1/2021 शनिवार को कार्यालय समय में किसान नेता योगेश तिवारी के नेतृत्व में बेमेतरा जिला कलेक्टर कार्यालय में  प्रतीकात्मक स्वरूप में किसानों का धान लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचेंगे और किसानों का धान खरीदने का निवेदन करेंगे अपनें आपको किसानों का हितैषी कहने वाले लोगों का पोल खुल चुका है अब सत्ता पक्ष के कोई भी नेता यह कहने से कतरा रहे हैं कि 2500/ में  छत्तीसगढ़ के समस्त कृषकों का धान हम खरीदेंगे ?

अब सब की बोलती बंद हो चुकी है अभी तक छत्तीसगढ़ के कृषक चुपचाप  तमाशा देख रहें धान खरीदी के विषय में अगर कृषक आन्दोलन किए तो स्थीति भयावह होनें वाली है  ।