breaking news New

जिले का पहला महिला पुलिस सहायता केंद्र का शुभारंभ, चाइल्ड फ्रेंडली सहायता केंद्र बना आकर्षक का केंद्र

जिले का पहला महिला पुलिस सहायता केंद्र का शुभारंभ, चाइल्ड फ्रेंडली सहायता केंद्र बना आकर्षक का केंद्र


देवेंद्र कुमार सिंह। जनधारा समाचार

सूरजपुर। सूरजपुर जिले के पुलिस थाना भटगांव अंतर्गत नगर पंचायत जरही में संभाग का पहला महिला पुलिस सहायता केंद्र का शुभारंभ मुख्य अतिथि  डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम स्कूल शिक्षा पिछड़ा वर्ग अल्पसंख्यक विकास सहयोग आदिवासी एवं अनुसूचित जाति छग शासन, विशिष्ट अतिथि कुमार सिंह देव जिला मंत्री प्रतिनिधि,  राहुल देव सीईओ जिला पंचायत सूरजपुर,  एसएम झा महाप्रबंधक एसईसीएल भटगांव क्षेत्र एवं कार्यक्रम की अध्यक्षा श्रीमती भावना गुप्ता पुलिस अधीक्षक सूरजपुर के गरिमामयी उपस्थिति में किया गया। 


कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम के हाथों पंडित के उपस्थिति में मंत्रोच्चारण उपरांत पूजा अर्चना कर किया गया। तत्पश्चात उपस्थित अतिथियों के द्वारा फीता काट महिला पुलिस सहायता केंद्र का शुभारंभ किया गया। मंत्री श्री सिंह ने चाइल्ड फ्रेंडली सहायता केंद्र व लाइब्रेरी का अवलोकन किया। उन्होंने विजिट रजिस्टर में शुभकामनाएं लिखीं व सहायता केंद्र की पहली प्रभारी नीलकुसुम बेक एएसआई को पदभार दिलाया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि श्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने कहा कि बड़े हर्ष की बात है कि आज मैं क्षेत्रवासियों की वर्षों पुरानी मांग को पूरा कर पाया हूं और बड़ा गर्व की बात है कि यह आज अंततः जरही को पुलिस सहायता केंद्र खुल ही गया और जल्दी इस सहायता केंद्र को चौकी में तब्दील कर दिया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि थानों में सबकी समस्या सुनी जाती है। परन्तु मेरी सोच थी कि महिलाओं के लिए अलग से कोई थाना हो जहां वे अपनी बातें बिना संकोच के आसानी से रख सकें। लेकिन आज इस केंद्र के खोले जाने से उनकी सोच पूरी होती दिख रही है। पुलिस के कार्यप्रणाली को लेकर उन्होंने कहा कि पुलिस का रवैया दोस्ताना होना चाहिए। लेकिन पुलिस का डर का भी होना उतना ही महत्वपूर्ण है। निश्चय ही पुलिस के डर से अपराधों पर अंकुश लगा रहता हैं। वही मंत्री जी ने कहा कि शासन की मंशा है कि सबको न्याय मिले, सबका काम हो और इसी दिशा में हमारी सरकार काम कर रही है। जीएम एसएन झा ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के लिए अच्छा प्रयास है,सबसे बड़ी जिम्मेदारी महिला सुरक्षा को लेकर है। इसे लेकर यह केंद्र सराहनीय कदम है। सीईओ राहुल देव ने कहा कि प्राचीन सभ्यता से ही चला आ रहा है कि व्यक्ति को रोटी कपड़ा और मकान की आवश्कता होती है उसके बाद सबसे महत्वपूर्ण है तो वह है सुरक्षा और हमारे जिले की पुलिस अपने कप्तान के नेतृत्व में लगातार बहुत अच्छा काम कर रही है। वही उन्होंने कहा कि पूरे जिले में जिला प्रशासन कलेक्टर गौरव सिंह के मार्गदर्शन में भी जनसंवाद के माध्यम से अच्छा काम कर रहा है। आज सबकी बातें सुनकर त्वरित लोगों की समस्याओं का निराकारण किया जा रहा है। कार्यक्रम की अध्यक्ष एसपी भावना गुप्ता ने कहा कि मंत्री जी की चिंता महिला सुरक्षा और उनके लिए कानूनों के पालन की थी। उनकी इच्छा थी कि ऐसा कोई केंद्र खोला जाए। उनके निर्देश पर ही आज सभी की सहायता से पुलिस सहायता केंद्र बनकर तैयार हो गया है। उन्होंने ने कहा कि सहायता केंद्र के उद्देश्य की पूर्ति होगी। जिससे महिलाओ के विरुद्ध अपराधों में कमी आएगी और जिससे यह प्रदेश का आदर्श महिला सहायता केंद्र बनेगा। यह मेरी कामना व दृढ़ संकल्प है। कार्यक्रम का संचालन श्री पाठक एवं आभार प्रदर्शन हरीश राठौर एडिशनल एसपी ने किया। वहीं उपस्थित अतिथियों को मोमेंटो के रूप में स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस दौरान शक़्कर कारख़ाना अध्यक्ष विद्यासागर, उपाध्यक्ष प्रेम राजवाड़े, पार्षद निशा दासन, उपाध्यक्ष वीरेंद्र गुप्ता, एसईसीएल मंत्री प्रतिनिधि रविन्द्र सिंह, इंटक के अध्यक्ष राजेंद्र सिंहदेव, कांग्रेसी नेता संजय सिंह, कांग्रेस के उपाध्यक्ष बनवारीलाल गुप्ता, सतीश चौबे, बीएमएस के अध्यक्ष संजय सिंह, शिवराम सिंह, संजीव श्रीवास्तव, अनूप गुप्ता, रामायण गुप्ता, मनोज सिंह, अब्दुल मजीद, फिरोज खान, हसनैन खान सहित सहित एसडीएम सीएस पैंकरा, सीईओ जनपद निजामुद्दीन, जरही सीएमओ घनश्याम शर्मा, भटगांव सीएमओ प्रवीण उपाध्याय व अन्य उपस्थित थे। 

विधायक निधि से सहायता केंद्र का होगा उन्नयन।

महिला पुलिस पुलिस सहायता केंद्र को और भी आकर्षक एवं सुंदर बनाने हेतु परिसर में शेड निर्माण एवं बच्चों के लिए आकर्षक झूले स्थापित करने हेतु मंत्री श्री टेकाम ने अपने विधायक निधि से 5 लाख रुपये देने की घोषणा की। 


पुलिस कप्तान की मंत्री ने की तारीफ

मंत्री श्री टेकाम ने युवा वर्ग की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि आज परिस्थितियां बिल्कुल ही विपरीत हो चुकी है। नई युवा पीढ़ी नाना प्रकार के नशे के चपेट में आकर अपना स्वास्थ्य खराब करने में तुला हुआ है। जिससे युवा वर्ग का भविष्य अंधकार में जाता दिख रहा है। ऐसे में नए पुलिस कप्तान की पदस्थापना के उपरांत अपराध में अंकुश लगता देखकर अच्छा महसूस हो रहा है। जिसके लिए पुलिस कप्तान तारीफ के काबिल है। वही पुलिस कप्तान की नई पहल बुजुर्गों के लिए समर्पण, सड़क सुरक्षा के लिए हेलमेट का वितरण, महिला सशक्तिकरण के लिए हिम्मत सहित अन्य जनहतिकारी योजनाओं की जमकर प्रशंसा की। 

पुलिस चौकी बनाने की मांग उठी।

नगर पंचायत जरही अध्यक्ष श्री बीजू दासन ने मंच के माध्यम से मंत्री जी से जरही में पुलिस चौकी खोलने की मांग की एवं अवगत कराया कि जरही अंबिकापुर बनारस मुख्य मार्ग स्टेट हाईवे से लगा हुआ है। जिसे प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में गाड़ियों की आवाजाही होती है। जिससे चकाचौंध होने के कारण आज नगर एक शहर के रूप में तब्दील हो चुका है। क्षेत्रवासियों के द्वारा लगातार पुलिस चौकी की मांग उठती रही है। जिससे क्षेत्रवासियों की जायज माँग को देखते हुए जरही में पुलिस चौकी की सौगात प्रदान की जाए। 

चाइल्ड फ्रेंडली के रूप में विकसित हो रहा यह केंद्र।

पुलिस सहायता केंद्र को आकर्षक बनाने हेतु भटगांव थाने की निरीक्षक श्री किशोर केवट ने अपने अमला के साथ पुरजोर मेहनत किया। जिसकी प्रशंसा एवं तारीफ यहां पहुंचने वाले हर तबके के लोग ने बड़ी ही उत्साह के साथ किया। इस केंद्र में आने पर बच्चों के लिए नाना प्रकार के खिलौने, बच्चों को आकर्षक करने वाले नाना प्रकार के कार्टून समेत लाइब्रेरी की भी व्यवस्था पुलिस अमला की ओर से की गई है। 

घायल लोगो को मदद करने वाले योद्धाओ को मिला सम्मान।

सड़क दुर्घटना में घायल अनजान राहगीरों को तत्काल मदद देने एवं उन्हें उपचार हेतु हॉस्पिटल तक ले जाने वाले योद्धा पत्रकार देवेंद्र कुमार सिंह एवं जेपी गुप्ता को मोमेंटो रूप में स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। सड़क दुर्घटनाओं में घायल होने वाले लोगों की मदद कर लिए ये हमेशा ततपर रहते हैं। जिसको लेकर इन्हें लगातार बीते 2 वर्षों से इनकी तत्परता एवं सहयोग हेतु सड़क में घायलों को मदद करने एवं लोगो की जान बचाने को लेकर सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के दरमियान पुलिस कप्तान के द्वारा सम्मानित किया जा रहा है।