breaking news New

ब्रेकिंग : मुख्तार अंसारी सुबह 4.30 बजे पहुंचा बांदा जेल..16 नंबर बैरक मिली..900 किमी का सफर में लग गए 27 घण्टे..पत्नी ने जताई थी एनकाउंटर की आशंका..12 को हाईकोर्ट ने बुलाया

ब्रेकिंग : मुख्तार अंसारी सुबह 4.30 बजे पहुंचा बांदा जेल..16 नंबर बैरक मिली..900 किमी का सफर में लग गए 27 घण्टे..पत्नी ने जताई थी एनकाउंटर की आशंका..12 को हाईकोर्ट ने बुलाया

गैंगस्टर से नेता बने पूर्व विधायक मुख्तार अंसारी को पंजाब से लाकर यूपी के बांदा जेल में शिफ्ट कर दिया गया. सभी की नजर मुख्तार अंसारी को वापस लाने की पूरी प्रक्रिया पर थी. इस पूरी प्रक्रिया में लंबा वक्त लगा. कल दोपहर दो बजे मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस के हवाले कर दिया गया और आज सुबह 4 बजे मुख्तार अंसारी यूपी के बांदा जेल पहुंचा.

मुख्तार अंसारी को पंजाब से यूपी लाने में 900 किमी का सफर तय करना पड़ा. दोपहर लगभग 2 बजे से शुरू हुआ सफर सुबह के 4.30 बजे खत्म हुआ. बांदा जेल पहुंचती है मुख्तार अंसारी ने कहा, वह काफी थक गया है और आराम करना चाहता है . पुलिस उसे बैरक नंबर 16 में लेकर गयी. सुबह जब उससे चाय के पूछा गया, तो उसने मना कर दिया और आराम करता रहा .

गैंगस्टर से नेता बने मुख्तार अंसारी को पंजाब से लाकर यूपी के बांदा जेल में शिफ्ट कर दिया गया. सभी की नजर मुख्तार अंसारी को वापस लाने की पूरी प्रक्रिया पर थी. इस पूरी प्रक्रिया में लंबा वक्त लगा. कल दोपहर दो बजे मुख्तार अंसारी को यूपी पुलिस के हवाले कर दिया गया और आज सुबह 4 बजे मुख्तार अंसारी यूपी के बांदा जेल पहुंचा.

मुख्तार अंसारी को पंजाब के जेल से यूपी के बांदा जेल में शिफ्ट कर दिया गया. यूपी से जिस पुलिस टीम को कस्टडी लेकर मुख्तार अंसारी को यूपी लाने के लिए भेजा गया था उनमें ज्यादातर युवा, तेजतर्रार और अनुभवी पुलिस अधिकारी शामिल थे. सूत्रों के अनुसार इस टीम में डिप्टी एसपी रैंक के अधिकारी, दो इंसपेक्टर, छह सब इंसपेक्टर, 20 हेड कॉस्टेबल, 30 कॉस्टेबल, यूपीएस की एक यूनिट और एंबुलेंस शामिल थे

यह टीम अत्याधुनिक हथियार और बुलेटप्रुफ जैसे से लैस थी. उसे वापस लाते वक्त पूरी सुरक्षा का ध्यान रखा गया. इस बात का विशेष ध्यान रखा गया कि पूर्वाचल के पुलिस अधिकारी इस टीम में शामिल ना हों, पुलिस अधिकारियों के मोबाइल पहले ही ले लिये गये और यूपी की पुलिस टीम ने यहां पहुंचने के लिए दूसरा रास्ता लिया यहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने तीन रास्ते बदले ताकि कोई परेशानी ना हो .मुख्तार अंसारी पर 50 मामले दर्ज हैं. पंजाब के रोपण जेल में वह साल 2019 से बंद था

यूपी पुलिस की टीम मुख्तार अंसारी को लेकर दोपहर दो बजकर सात मिनट पर रवाना हुई. शाम के चार बजे यूपी पुलिस का काफिला हरियाणा के करनाल से होकर गुजरा. सुबह 4.34 मिनट पर उसे यूपी की बांदा जेल में शिफ्ट कर दिया गया. मुख्तार अंसारी को वापस लाते वक्त रास्ते बदल गये और काफिले की स्पीड लगभग 80 किमी की रही.