breaking news New

कलेक्टर ने लॉकडाउन के संबंध में समीक्षा की

 कलेक्टर ने लॉकडाउन के संबंध में समीक्षा की

राजनांदगांव । कलेक्टर  टोपेश्वर वर्मा ने आज दिग्विजय स्टेडियम स्थित सेन्टर वार रूम (कंट्रोल रूम) में कोविड-19 लॉकडाउन के संबंध में समीक्षा की। उन्होंने कहा कि लाकडाउन का पालन कड़ाई से होना चाहिए। शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में बाहर से आने वाले लोगों की जानकारी रखें। ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत के माध्यम से मुनादी करवा दें। बाहर से आने वाले व्यक्ति का चौबीस घंटे के भीतर सेम्पल लिया जाए। शहरी क्षेत्रों में भी बाहर से आने वाले का चिन्हांकन करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम में शिक्षा विभाग से ड्यूटी लगाए। होम आईसोलेशन के मरीजों के स्वास्थ्य एवं उपचार के संबंध में जानकारी लें। शिक्षा एवं महिला बाल विकास विभाग के कर्मचारी आईईसी गतिविधि के माध्यम से लोगों को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि होम आईसोलेशन के मरीजों का दोबारा सैम्पल नहीं लेना है। सैम्पल लेने के बाद लक्षण विहीन मरीजों को 10 दिनों तक क्वारेंटाईन में रहना है। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को स्टॉफ नर्स एवं कर्मचारियों की भर्ती तत्काल करने के निर्देश दिए। आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगी। कलेक्टर ने रेमडीसिविर इंजेक्शन, ऑक्सीजन सीलेंडर, वैक्सीनेशन, कोविड केयर सेंटर, ई-पास स्टेट्स की जानकारी ली।
कलेक्टर  वर्मा ने कहा कि शादी का आयोजन केवल घर में ही होगा। जिसमें अधिकतम 10 लोग ही उपस्थित हो सकेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी ने स्टाफ नर्स एवं कर्मचारियों की भर्ती के संबंध में जानकारी दी एवं कोविड-19 से संबंधित महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ  अजीत वसंत, अपर कलेक्टर  हरिकृष्ण शर्मा, अपर कलेक्टर  सीएल मारकण्डेय, नगर निगम आयुक्त  आशुतोष चतुर्वेदी, एसडीएम  मुकेश रावटे, मेडिकल कालेज अधीक्षक डॉ. प्रदीप बेक, डिप्टी कलेक्टर  विरेन्द्र सिंह,  राहुल रजक,  डीपीएम  गिरीश कुर्रे, कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग  रेणु प्रकाश, टीकाकरण अधिकारी डॉ. बीएल कुमरे, मेडिकल कॉलेज के डॉ. अरविंद चौधरी, नगर निगम के  सुदेश सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।