breaking news New

जांजगीर कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने जिले में शासन के निर्देश और कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करते हुए स्कूलों में कक्षाएं शुरू करने के निर्देश दिए हैं।

 जांजगीर कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने जिले में शासन के निर्देश और कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करते हुए  स्कूलों में कक्षाएं शुरू करने के निर्देश दिए हैं।



  • शासन के निर्देश और कोविड से सुरक्षा संबंधी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए 2 अगस्त से स्कूलों में  आफलाईन कक्षाएं संचालित करें- कलेक्टर,
  •  ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत और पालक समिति तथा शहरी क्षेत्रों में संबंधित वार्ड पार्षद और पालक समिति की अनुशंसा से आफ लाईन कक्षाएं प्रारंभ करने के निर्देश,
  • 7 दिनों तक 1 प्रतिशत से कम‌ पाज़ीटिव वाले क्षेत्रों में शुरू की जा सकेंगी कक्षाएं,

सक्ती : जांजगीर कलेक्टर श्री जितेन्द्र कुमार शुक्ला ने जिले में शासन के निर्देश और कोविड प्रोटोकॉल का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करते हुए  स्कूलों में कक्षाएं शुरू करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर द्वारा ऑफलाईन कक्षाएं प्रारंभ करने की अनुमति शासन द्वारा नियत शर्तों के आधार पर दी गई है। 

कलेक्टर कार्यालय सभाकक्ष में आज आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कलेक्टर ने ऑफलाईन कक्षाएं प्रारंभ करने की शर्तों के अनुसार  सभी निजी एवं शासकीय विद्यालयों में 10वीं एवं 12वीं की कक्षाएं आगामी सोमवार 2 अगस्त  से प्रारंभ करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने जिले के सभी निजी एवं शासकीय विद्यालयों में कक्षा एक से 5वीं और कक्षा 8वीं की कक्षाएं प्रारंभ करने के संबंध में ग्रामीण क्षेत्रों के लिए संबंधित ग्राम पंचायत और स्कूल की पालक समिति की अनुशंसा प्राप्त करने के निर्देश दिए है। उन्होंने शहरी क्षेत्रों के लिए संबंधित वार्ड पार्षद एवं स्कूल की पालक समिति की अनुशंसा प्राप्त करने कहा है। उनकी अनुशंसा प्राप्त होने पर ही यह कक्षाएं सोमवार 2 अगस्त से प्रारंभ की जा सकेंगी।  

कलेक्टर ने कक्षाएं उन्हीं ग्राम और शहरी शालाओं  में प्रारंभ करने कहा है, जहां कोरोना की पॉजिटिविटी दर पिछले 7 दिनों तक 1 प्रतिशत से कम रही हो। उन्होंने इस आशय की लिखित जानकारी सीएमएचओ, संबंधित खंड चिकित्सा अधिकारी से कक्षाएं शुरू करने के पहले प्राप्त करने के निर्देश संबंधित खंड चिकित्सा अधिकारियों को  दिए हैं। कलेक्टर ने कहा है कि विद्यार्थियों को ऑफलाईन कक्षाओं में एक दिवस के अंतराल पर बुलाया जाए। अर्थात प्रतिदिन केवल आधी संख्या में ही विद्यार्थी बुलाए  जाएंगे। किसी भी विद्यार्थी को यदि सर्दी, खांसी, बुखार आदि होगा तो उसे कक्षा में नहीं बैठाया जाएगा। कलेक्टर ने कक्षा में शामिल होने वाले प्रत्येक विद्यार्थी का तापमान जांच करने और इसे पंजी में दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने ऑनलाईन कक्षाएं यथावत संचालित  करने के निर्देश दिए हैं। किसी भी विद्यार्थी के लिए उपस्थिति अनिवार्य नहीं होगी। कलेक्टर ने आफलाइन कक्षा संचालन के दौरान केन्द्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी कोरोना संक्रमण से बचाव के निर्देशों का पूर्णतः पालन सुनिश्चित करने कहा है। कलेक्टर ने सभी शिक्षण संस्थाओं के कमरों की स्वच्छता के लिए  साफ-सफाई का कार्य  संबंधित बी ईओ को सुनिश्चित करने कहा है।


मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लिनिक योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश-


बैठक में कलेक्टर ने एस डी एम,बीएमओ और जनपदों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को निर्देशित कर कहा है कि वे आपसी समन्वय से जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में मुख्यमंत्री ग्रामीण हाट-बाजार क्लिनिक योजना का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करें।

उन्होंने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी और संबंधित बीएमओ को निर्देशित कर कहा है कि वे जिला, जनपद पंचायत सीईओ से जिले में लगने वाले साप्ताहिक हाट बाजारों की सूची  प्राप्त करें और हाट बाजारों में प्राथमिकता क्रम से  ग्रामीणों की स्वास्थ्य जांच प्रारंभ करें।

कलेक्टर ने हाई कोर्ट के  सभी प्रभारी अधिकारियों को लंबित प्रकरणों में जवाब दावे समय पेश

करने और उच्च न्यायालय द्वारा पारित आदेश का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर ने न्यायालय द्वारा पारित ऐसे आदेश जिनमें पुनरीक्षण याचिका दायर करने की आवश्यकता हो, शीघ्र दायर करने के निर्देश दिए।

बैठक में कलेक्टर श्री शुक्ला ने सांसदों, विधायकों के पत्रों का त्वरित निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

उन्होंने अतिवृष्टि और जिले की नदियों में अधिक जलभराव के मद्देनजर अधिकारियों को बचाव और सुरक्षा संबंधी पूर्व तैयारी सुनिश्चित करने कहा ताकि  प्राकृतिक आपदा से जन-धन की हानि न हो।

बैठक में वन मंडलाधिकारी श्रीमती प्रेमलता यादव, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, एस डी एम सक्ती श्रीमती रेना ज़मील,जिला पंचायत सीईओ श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर,

सभी एस डी एम और जिला स्तरीय विभागीय अधिकारी मौजूद थे।