breaking news New

जवानों के शौर्य को नमन और श्रद्धांजलि : स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा 12 अक्टूबर को पहुंचेगी छत्तीसगढ़

जवानों के शौर्य को नमन और श्रद्धांजलि :  स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा 12 अक्टूबर को पहुंचेगी छत्तीसगढ़

रायपुर। वर्ष 1971 के भारत और पाकिस्तान युद्ध में भारत की पाकिस्तान पर ऐतिहासिक जीत  के 50 वर्ष पूरे होने जा रहे है। इस विजय के स्वर्ण जयंती के उपलक्ष्य में देश स्वर्णिम विजय वर्ष मना रहा है। इस युद्ध में अपना सर्वोच्च बलिदान करने वाले जवानों के शौर्य को नमन और श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा का आयोजन किया जा रहा है जो देश के विभिन्न क्षेत्रों से होकर गुजरेगी। यह स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा 12 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ पहुंचेगी जो प्रदेश के कई नगरों का भ्रमण कर 20 अक्टूबर को ओडि़शा  राज्य के लिए रवाना होगी। 

भारतीय सेना के छत्तीसगढ़ एवं ओडि़शा सब एरिया मुख्यालय के कर्नल रजत मोहन बाथ एवं कर्नरल रोहित शर्मा ने आज प्रेस कांफ्रेंस में स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा के छत्तीसगढ़ में आगमन एवं कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया कि देश में कुल 4 स्वर्णिम विजय मशाल यात्रा निकाली जा रही है, जिसमें दक्षिणी मशाल यात्रा विभिन्न राज्यों से होते हुए मध्यप्रदेश से 12 अक्टूबर को छत्तीसगढ़ पहुंचेगी। छत्तीसगढ़ में चिल्फी कवर्धा से इस मशाल यात्रा का प्रवेश होगा। छत्तीसगढ़ में मशाल यात्रा 19 अक्टूबर तक रहेगी। इस दौरान मशाल यात्रा को राजधानी रायपुर सहित प्रदेश के अनेक स्थानों पर ले जाया जाएगा। ०००