breaking news New

घपलेबाज सरपँच सचिव व रोजगार सहायक को बर्खास्त करने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने नेशनल हाइव जाम कर दिया 6 घण्टे

 घपलेबाज सरपँच सचिव व रोजगार सहायक को बर्खास्त करने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने नेशनल हाइव जाम कर दिया 6 घण्टे


पूर्व संसदीय सचिव गोवर्धन मांझी ने भी धरना स्थल पहुँच जल्द कार्यवाही की मांग की ।

लगातार अनियमितता उजागर होते देख बीजेपी भी समर्थन में उतर गई ठोस कार्यवाही की मांग को लेकर।

गरियाबंद।  मैनपुर ब्लॉक के कांडेकेला पँचायत में सरपँच सचिव पर 40 लाख की गड़बड़ी का आरोप लगा  कार्यवाही करने दो माह पहले से ग्रामीण लामबद्ध थे।5 अगस्त को मामले की जांच करने जब टीम पहूँची थी तब भी ग्रामीणों ने एक जुटता दिखाकर अपने सामने जांच करवाया था।जांच रिपोर्ट के बाद जनपद सीईओ ने तत्कालीन पँचायत सचिव दुरूप सोनवानी को निलंबित कर दिया।पर ग्रामीण सचिव समेत सरपँच नंद किशोर कोमर्रा व रोजगार सहायक देवकुमार  को बर्खास्त करने की मांग पर अड़े हुए है।विगत एक सप्ताह से लगातार प्रशासन को अल्टीमेटम व पत्राचार करने के बाद आज नेशनल हाइवे 130 सी में धुरुवागुड़ी  सड़क पर सूबह 8 बजे से बैठ जाम कर दिया है।500 से भी ज्यादा की संख्या में ग्रामीण यंहा मौजूद थे।महिलाए भी भारी संख्या में आंदोलन में जुटे थे। जाम के कारण सूबह से रायपुर जाने वाले व उधर से आने वाली यात्री बस के पहिये थम गये थे।माल वाहक व अन्य आवाजाही करने वाले वाहनों की लम्बी कतार सड़क के दोनों किनारे लगा हुआ था।जाम लगते ही पहले पुलिस पहूच गई।जनपद सीईओ नरसिंह ध्रुव तहसीलदार कृष्णमूर्ति प्रधान द्वारा किये गए समझाईस के प्रयास विफल रहा।एसडीएम सूरज साहू ने फिर मोर्चा संभाला।मांग के आधार पर एसडीएम ने बताया कि नियमानुसार कार्यवाही जारी है।धारा 40 तहत सरपँच के खिलाफ मामला एसडीएम न्यायालय में दर्ज किया गया है।एक माह के भीतर मामले की सुनवाई पूरी कर उचित कार्यवाही का भरोसा दिलाया।सचिव व रोजगार सहायक के खिलाफ भी विधिवत कार्यवाही का भरोसा दिलाने के बाद जाम 5 घण्टे बाद,दोपहर एक बजे हटाया जा सका।

लगातार सामने आ रहे गड़बड़ियां,इसलिए भाजपा भी उतरी मैदान में-ग्रामीणों के अलावा नेशनल हाइवे में भाजपाई भी धरने पर बैठ गए।पूर्व विधायक गोवर्धन मांझी,मण्डल अध्यक्ष गुरुनारायन तिवारी,जनपद अध्यक्ष नुरमती मांझी,जनपद सदस्य पुनीत राम सिन्हा,यूवा मोर्चा जिला अध्यक्ष माखन कश्यप ,बोधन नायक,हलमंत ध्रुवा समेत 100 से भी ज्यादा संख्या में भाजपा कार्यकर्ता व पदाधीकारी इस धरने में घण्टो बैठे रहे।माखन कश्यप ने कहा की कांग्रेस कार्यकाल में भ्रष्टाचार चरम सीमा पर है।घपले बाजो को बचाने में पूरा सिस्टम भीड़ जाता है।पिछले 2 माह में मैनपुर जनपद में दर्जन भर पंचायतो में भ्रस्टाचार को लेकर ग्रामीण सामने आए है,पर किसी में भी ठोस कार्यवाही नजर नही आया।ग्रामीणों को प्रशासन असहाय न समझे उनकी मांगों को ध्यान में रखे, भाजपा हमेशा उनके साथ है,यही बताने हम आंदोलन में शामिल हुए थे।कांडेकेला मामले में उचित कार्यवाही नही हुई तो आगे और उग्र आंदोलन किया जाएगा।

जीप सीईओ बोले अब कार्यवाही होने लगी है इसलिए मामले सामने आ रहे हैं- बीते दो माह में कांडेकेला पंचायत के अलावा मैनपुर जनपद के बुरजाबहाल,नयापारा,बिरिघाट, उरमाल,धनोरा जैसे पंचायतो में भी सरपँच सचिव के मिलीभगत से भारी गड़बड़ियों का मामला सामने आ चुका है।लगातार कार्यवाही की मांग भी ग्रामीण कर रहे हैं।मामले में जिला पंचायत सीईओ संदीप अग्रवाल ने भी माना है कि कोरोना काल मे योजनाओ का मोनिटरिंग प्रॉपर नही हो सका।भोलेभाले सरपँच सचिव के झांसे में आ गए हैं।वैसे भी पहले की तुलना में कार्यवाही करना शुरू कर दिए हैं, इसलिए भी ज्यादा शिकायतें आने लगी है।सीईओ अग्रवाल ने स्पष्ट कर दिया है कि हर शिकायत की विधिवत जांच कर उचित कार्यवाही हो रही है।एक प्रक्रिया के तहत ही सब कुछ होता है।

ऐसा जाम किया गया था नेशनल हाइवे

अफसरों की टीम इस तरह घण्टो चर्चा कर ,आंदोलनरत ग्रामीणों व भाजपा नेता को समझा कर आंदोलन खत्म कर सके।