breaking news New

मुल्ला बरादर बोले 'जिंदा हूं मैं, घायल भी नहीं', ऑडियो आया सामने

मुल्ला बरादर बोले  'जिंदा हूं मैं, घायल भी नहीं',   ऑडियो आया सामने

काबुल। अफगानिस्तान के उप प्रधानमंत्री मुल्ला बरादर का एक ऑडियो संदेश सामने आया है जिसमें मुल्ला बरादर ने कहा है कि वह जिंदा है और घायल भी नहीं हुआ था। तालिबान के प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने अपने ट्विटर हेंडल से यह ऑडियो जारी किया है। इस तरह की खबरें आ रही थी कि तालिबान के अलग अलग गुटों के संघर्ष में मुल्ला बरादर या तो मारा गया है या फिर घायल है। सोशल मीडिया पर चल रही इन खबरों के बाद ही तालिबान की तरफ से यह ऑडियो जारी किया गया है। हालांकि मुल्ला बरादर को लेकर अभी भी शक जताया जा रहा है और सवाल खड़े हो रहे हैं कि तालिबान ने ऑडियो क्यों जारी किया है तथा क्यों मुल्ला बरादर खुद सामने नहीं आया है।

कुछ ट्विटर हेंडल के जरिए खबर दी जा रही थी कि अफगानिस्तान में नई बनी तालिबान सरकार में उप प्रधानमंत्री मुल्ला बरादर की मौत हो गई है। हालांकि जिन ट्विटर हेंडल के जरिए यह खबरें दी जा रही थीं उनमें अधिकतर हैंडल वेरिफाइड नहीं हैं। खबरों में कहा जा रहा है कि काबुल में राष्ट्रपति भवन में कुछ तालिबान नेताओं के बीच सत्ता संघर्ष  हुआ है और उसमें मुल्ला बरादर की मौत हो गई है।

इन अफवाहों को ज्यादा हवा तब मिल रही है जब अफगानिस्तान पहुंचे कतर के विदेश मंत्री के साथ अधिकतर तालिबान नेताओं ने मुलाकात की है लेकिन उन तालिबान नेताओं में मुल्ला बरादर दिखाई नहीं दिया है। रविवार को कतर के विदेश मंत्री शेख मोहम्मद बिन अब्दुल्लारहमान अफगानिस्तान पहुंचे हैं और वहां पर उन्होंने अफगानिस्तान के नए प्रधानमंत्री मोहम्मद हसन अखुंद तथा अन्य बड़े तालिबान नेताओं के साथ मुलाकात की लेकिन इस मुलाकात में न तो मुल्ला बरादर नजर आया न ही उप विदेश मंत्री शेर मोहम्मद स्तानिकजई को देखा गया। स्तानिकजई वही तालिबान नेता है जिसने 80 के दशक में देहरादून स्थित भारतीय सैन्य अकादमी में प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

कुछ सोशल मीडिया हैंडल पर ऐसी खबरें भी दी जा रही हैं कि मुल्ला बरादर और स्तानिकजई अफगानिस्तान की नई तालिबान सरकार में अपना कद घटाए जाने से नाराज चल रहे हैं। अफगानिस्तान में जब तालिबान की वापसी हुई थी तो ऐसी खबरें आ रही थी कि मुल्ला बरादर के नेतृत्व में नई सरकार बनेगी और उस सरकार में स्तानिकजई को अफगानिस्तान का विदेश मंत्री बनाया जाएगा। लेकिन पाकिस्तान की गुप्तचर एजेंसी आईएसआई के मुखिया की काबुल यात्रा के बाद मुल्ला बरादर और स्तानिकजई का तालिबान की नई सरकार में कद घटा है।

सोशल मीडिया पर चल रही खबरों के बाद तालिबान की तरफ से कहा गया था कि मुल्ला बरादर की तरफ से अपने सुरक्षित होने को लेकर कुछ देर में एक ऑडियो जारी किया जाएगा और वह ऑडियो जारी भी किया गया।