breaking news New

छोटेडोंगर में एक ही बैंक होने से उपभोक्ताओं को हो रही है कई तरह की समस्या

छोटेडोंगर में एक ही बैंक होने से उपभोक्ताओं को हो रही है कई तरह की समस्या


नारायणपुर/छोटेडोंगर। जिला मुख्यालय से 43 किलोमीटर ग्राम छोटेडोंगर में छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक स्थापित है ।इस बैंक में छोटेडोंगर ग्राम पंचायत  रायनार, धनोरा, राजपुर, मढ़ोनार, गौवरदण्ड, तारागांव, बड़गांव,  सहित 18 पंचायत के ग्रामीणों को पैसों की लेन देन के लिए इसी एक बैंक पर आश्रित रहना पड़ता। छोटेडोंगर में एक ही बैंक होने से ग्रामीणों को कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस बैंक में रोज उपभोक्ताओं की लंबी कतार लगी रहती है ।कई बार ग्रामीणो को सुबह से शाम तक इंतजार करना पड़ता है।


सबसे ज्यादा परेशानी महिलाओं को हो रही है । महिलाएं सुबह से ही बैंक के सामने बैठकर अपनी बारी का इंतजार करती हुई नजर आती है ।वहीं व्यापारियों को भी एक ही बैंक होने के चलते पैसों की देन देन करने में काफी तकलिफो का सामना करना पड़ रहा है।  वहीं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता ,सहायिका , मितानिन , शासकीय कर्मचारि व ग्राम पंचायतो के सैकड़ों खाताधारक एक ही बैंक पर निर्भर है ।


ग्रामीणों का कहना है कि छोटेडोंगर  जनसंख्या की दृष्टीकोण से एक बड़ा गांव है और यहां पर शासन प्रशासन को कोई बड़ा बैंक स्थापित करना चाहिए ।जिससे ग्रामीण उपभोक्ताओं को परेशानियों का सामना  न करना  पड़े।।गौरतलब है कि छोटेडोंगर के दुरस्थ अंचल के ग्रामीणों का निराश्रितों व वृध्दापेसन हितग्राहि  लंबी दुरी तय कर ग्रामीण बैंक पहुंचते हैं परन्तु बैंक में लंबी-लंबी कतार होने के चलते निराश होकर घर लौट जाते हैं। वहीं एक मात्र बैंक होने से कभी कभी उपभोक्ताओं को समय पर पैसा भी पर्याप्त मात्रा में नहीं मिल पाती है।