breaking news New

बारदाना के अभाव,धान खरीदी बंद होने के कगार पर

बारदाना के अभाव,धान खरीदी बंद होने के कगार पर

कई केन्द्रों में आज पर्यन्त तक धान के उठाव नहीं किया गया

भानुप्रतापपुर, 29 दिसंबर। धान खरीदी केन्द्रों में बारदाना के अभाव के चलते धन ख़रीदी बंद होने के कगार पर आ गई है। 1 दिसम्बर से प्रारंभ हुई धान खरीदी लगभग एक माह पूरे होने जा रहे है, लेकिन अभी तक शासन स्तर से नए बारदाना नही पहुच पाई है। अब तक लगभग 30 से 35 प्रतिशत किसानों के धान खरीदी किये गए है अब भी 65 प्रतिशत किसानों का धान खरीदी किये जाने है। स्थिति को देखते हुए किसान व कर्मचारी दोनों परेशान हो रहे है।

कभी धान के उठाव को लेकर तो कभी बारदाना के कमी को लेकर धान खरीदी केंद्र के कर्मचारी खासे परेशान नज़र आ रहे है। हाटकोंदल व कच्चे सहित अधिकांश धान ख़रीदी केन्द्रों में धान खरीदी प्रारंभ होने से आज पर्यन्त तक एक भी बार धान का उठाव नहीं हुआ है जिसके चलते  उन केन्द्रों में धान खरीदी बहुत ही मुश्किल हो रहे है। क्योंकि चारों ओर धान के छलिया भरे होने से किसानों के ट्रेक्टर भी अंदर ले जाने में मुश्किल हो रहे है।

यही कारण है कि जिन अनुपात में किसानों का धान खरीदी किये जाने है वह नही हो पा रही है वही दूसरी ओर समय पर उठाव नही होने पर धान सूखती शार्टेज के भी समस्या कर्मचारियों को सता रही है, पिछले वर्ष धान सुकती से कर्मचारियों को भारी घाटा के भरपाई किये जाने के बात सामने आ रही है।


बहरहाल पीडीएस व मिलिंग से संग्रहित किये पुराने बारदाना से धान खरीदी किये जा रहे थे वे भी अब अंतिम दौर में पहुच गई है। बारदाना के कमी को देखते हुए किसानों से भी 15 रुपये की दर से बारदाना खरीदी किये जाने को कहा गया पर स्थित यह है कि आज के स्थिति में उनके पास भी बारदाना ही बारदाना नही है। वही शासन द्वारा आज एक माह बाद भी नए बारदाना भी नही पहुंच पाई है।


किसानों के परेशानियों को कम करने के उद्देश्य से इस वर्ष शासन के द्वारा लेम्प्स के संख्या जरूर बढ़ाई गई है, लेकिन समय पर उठाव व बारदाना के कारण आज भी किसान व कर्मचारी परेशान हो रहे है।