बड़ी खबर : आइपीएस पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव को जान से मारने का फरमान नक्सलियों ने जारी किया, मुठभेड़ को फर्जी बताया

बड़ी खबर : आइपीएस पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव को जान से मारने का फरमान नक्सलियों ने जारी किया, मुठभेड़ को फर्जी बताया

दंतेवाड़ा के एसपी आइपीएस अभिषेक पल्लव को मारने नक्सलियों ने फरमान जारी किया है. गंगालूर एरिया कमेटी सचिव दिनेश मोडियाम ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि एसपी को पद से बर्खास्त कर कड़ी सजा देने की मांग नक्सली दलम साथियों से की है.

गंगालूर एरिया कमेटी की ओर से जारी की गई विज्ञप्ति में एसपी अभिषेक पल्लव को नक्सलियों की हिट लिस्ट में बताया गया है. साथ ही विगत 19 मार्च को गमफुर मुठभेड़ को भी फर्जी बताया गया है.

चिटठी में दावा किया गया है कि महुआ बिनने जा रहे निहत्ता माड़वी बदरू को पुलिस ने गोली मारकर हत्या की है जिसका बदला लिया जायेगा. और इसके लिए अभिषेक पल्लव जिम्मेदार हैं.

विज्ञप्ति में फोर्स पर आरोप लगाते हुए नक्सलियों ने लिखा है कि भरमार बंदूक, टिफन बम पुलिस साथ लेकर आई थी जिसे
शव के पास डाला गया जबकि ऐसी कोई मुठभेड़ हमारे साथ नही हुई.

आधा दर्जन महिलाओं के साथ मारपीट करने की बातचीत भी कही गई है. एक एसपी और आइपीएस को मिली ऐसी धमकी के बाद पुलिस का इंटलीजेंस सतर्क हो गया है क्योंकि जरा सी चूक में नक्सली अपने मंसूबे में कामयाब हो सकते हैं.

सालों पहले आइएएस और कलेक्टर रहे मेनन का नक्सलियों ने अपहरण कर लिया था जिसे छुड़ाने में सरकार को एडी चोटी का जोर लगाना पड़ गया था और सरकार इसमें कामयाब भी हो गई थी.