breaking news New

छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार कल्याण संघ के कोरिया जिला अध्यक्ष ने सूरजपुर जिले के पत्रकार के साथ हुए वारदात की घोर निंदा की,हमलावर आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही की मांग

छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार कल्याण संघ के कोरिया जिला अध्यक्ष ने सूरजपुर जिले के पत्रकार के साथ हुए वारदात की घोर निंदा की,हमलावर आरोपियों पर कड़ी कार्यवाही की मांग

कोरिया, 19 फरवरी। कोरिया जिले के छत्तीसगढ़ श्रमजीवी पत्रकार कल्याण संघ के जिला अध्यक्ष राजेश राज गुप्ता ने पत्रकार के साथ हुए वारदात की घोर निंदा की है। पड़ोसी जिला सूरजपुर में  एक पत्रकार को घंटो बंधक बना कर मारपीट की गई । जिसकी घोर निंदा करते हुए जिला अध्यक्ष ने हमलावर आरोपियों पर जल्द से जल्द कड़ी कार्यवाही की मांग की है । ऐसा नहीं होने पर उग्र आंदोलन की बात कही है।

यह है पूरा मामला

सूरजपुर जिले में गत दिवस सहकारी समिति के प्रबंधक द्वारा समाचार संलग्न के दौरान पत्रकार को अपने आदमियों के साथ मिलकर बंधक बनाकर मारपीट की गई पीड़ित पत्रकार ने इसकी शिकायत थाने में करते हुए उचित कार्यवाही की मांग की है। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सूरजपुर जिला मुख्यालय के कृषि उपज मंडी परिसर के आदिम जाति सेवा सहकारी समिति के प्रबंधक पत्रकार चंद्र प्रकाश साहू पर 15 से 20 असामाजिक तत्वों ने  16 फरवरी को बंधक बनाकर लाठी-डंडों से मारपीट करने का आरोप लगाते हुए इसकी शिकायत थाने में की गई। जानकारी के अनुसार पत्रकार प्रकाश साहू 16 फरवरी को सूरजपुर जिला मुख्यालय स्थित आदिम जाति सेवा सहकारी समिति प्रांगण में असुरक्षित रखे गए धान की बोरियां पानी में भीग रही थी। जिसकी समाचार कवरेज करने गए थे। इस दौरान समिति प्रबंधक मोहन राजवाड़े के निर्देश पर उनके समर्थक द्वारा पत्रकार को बंधक बनाकर मारपीट की गई। इस दौरान शोर शराबा सुनकर कुछ और लोग मौके पर पहुंच गए। जिसके बाद पत्रकार को छोड़ा गया । बंधन मुक्त होने के बाद तत्काल पीड़ित पत्रकार ने सूरजपुर कोतवाली में अपराध दर्ज कराया जिसमें पुलिस पर आरोप है कि आरोपियों पर छोटी धारा लगाकर बचाने की कोशिश की जा रही है। इस घटना को लेकर पत्रकार संघों ने तीव्र निंदा करते हुए आरोपियों पर सख्त कार्यवाही की मांग भी कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि समिति प्रबंधक समाचार प्रकाशन से क्षुब्ध था। जानकारी के अनुसार सूरजपुर सहकारी समिति के प्रबंधक पर पूर्व में कई तरह के घोटाले किए गए थे जिसका उपचार पीड़ित पत्रकार के द्वारा किया जा रहा था। इसी पुरानी रंजिश को लेकर समिति प्रबंधक मोहन राजवाड़े द्वारा पत्रकार के साथ मारपीट की गई वहीं समिति प्रबंधक द्वारा पूर्व में कुछ लोगों के साथ मिलकर पुलिस में शिकायत भी की गई थी। साथ ही लगातार धमकी दी जा रही थी। पूर्व से रंजिश रखने के कारण ही घटना दिवस को जब पत्रकार द्वारा भीग रहे धान की बोरियों के खबर को लेकर समाचार संकलन करने का कार्य किया जा रहा था। उसी दौरान समिति प्रबंधक के  गुंडों द्वारा पत्रकार से मारपीट की गई।

समिति प्रबंधक पर फर्जीवाड़ा करने का आरोप है। की आदिम जाति सेवा सहकारी समिति सूरजपुर के प्रबंधक द्वारा एक माह पूर्व 337 क्विंटल धान की फर्जी तारीख से कागजों में ही विक्रय कर दिया गया था। समिति प्रबंधक पर यह भी आरोप है। कि उनके द्वारा कई किसानों के नाम से फर्जी तरीके से धान कागजों में ही विक्रय कर दिया जाता था। इस तरह कई तरह के भ्रष्टाचार करने का आरोप समिति प्रबंधक पर पूर्व से ही लगते आ रहे हैं। इसके बाद भी प्रशासन द्वारा फर्जीवाड़ा करने वाली समिति प्रबंधक के विरुद्ध किसी तरह का कोई कार्यवाही नहीं किया जा रहा है।