breaking news New

श्रीमद् भागवत कथा में माता सुनीति व पुत्र ध्रुव की चरित्रार्थ किया

श्रीमद् भागवत कथा में माता सुनीति व पुत्र ध्रुव की चरित्रार्थ किया

खरोरा। ग्राम ईल्दा में  चल रहे श्रीमद् भागवत कथा में  पंडित सूर्यकांत तिवारी  ने हमारे समाज को श्रीमद्भागवत पुराण कथा से माता सुनीति व पुत्र  ध्रुव  जैसे महान व्यक्तित्व का चित्रण किया। इनकी अनुभव से शिक्षा लेना चाहिए । 

पुत्र हो तो ध्रुव जैसा बनाओ  ,माता सुनीति जैसे सभी माताओं को अपने पुत्र  , बालक ध्रुव जैसे शिक्षा देने चाहिए ।  शिक्षा से ही हमारे समाज  ,हमारे परिवार सफलता की ओर  आगे जाएगा  इसीलिए श्रीमद् भागवत कथा पुराण कथा कहा गया है।  ध्रुव से शिक्षा लो , उन्हीं की तरह पुत्र बनाओ ।  आगे कथा में भरत प्रसंग में बताया भारतवर्ष में तीन भरत हैं  1 दशरथ कैकई के पुत्र ,2 ,दुष्यंत शकुंतला के  पुत्र  ,3 ऋषभदेव  के पुत्र , भक्ति , कर्मयोगी  ,ज्ञान योगी इस मंगलकारी कल्याणकारी ज्ञान यज्ञ कथा का   दिव्तीय दिवस व्यास पीठ से  पंडित सूर्यकांत तिवारी ने श्रद्धालुओं को कपिल देवहुती संवाद, ध्रुव चरित्र , जड़ भरत प्रसंग की कथा सुनायी । इस अवसर पर श्रद्धाओ  श्रोतागण काफी संख्या में उपस्थित होकर कथा का लाभ उठाया  । फोटो  -1 श्रीमद् भागवत   कथा वाचक पंडित सूर्यकांत तिवारी