breaking news New

विशेष : सरकार ने सड़क नही बनाई तो ग्रामीणों ने पहाड़ काटकर खुद ही बना ली सड़क..ना अस्पताल, ना स्कूल, ना आंगनबाड़ी सहायिका..संसदीय सचिव पारसनाथ रजवाड़े के इलाके का हाल..भटगांव के ग्राम पंचायत की दास्तान!

विशेष : सरकार ने सड़क नही बनाई तो ग्रामीणों ने पहाड़ काटकर खुद ही बना ली सड़क..ना अस्पताल, ना स्कूल, ना आंगनबाड़ी सहायिका..संसदीय सचिव पारसनाथ रजवाड़े के इलाके का हाल..भटगांव के ग्राम पंचायत की दास्तान!

जनधारा समाचार
भटगांव. ओडगी मुख्यालय के दूरस्थ अंचल की ग्राम पंचायत आज भी विकास से कोसों दूर है. एक और शासन लाखों करोड़ों रुपए दूरस्थ अंचल के ग्राम पंचायतों में पैसा खर्च करके विकास करने के लिए तत्पर है परंतु धरातल स्थल पर आज भी दूरस्थ अंचल की ग्राम पंचायत विकास से अछूती है। ग्राम पंचायत छतरंग के आश्रित ग्राम पंचायत बनगवां पुरान पारा में शासन की एक भी योजनाएं संचालित नहीं हो रही है।


यहां के ग्रामीण बताते हैं कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हर जगह निर्माण कार्य हो रहा है परंतु यहां के ग्रामीणों को आज तक प्रधानमंत्री आवास, हितग्राहियों को नहीं मिला है। यहां के ग्रामीणों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है एक ओर जहां रोड ना होने के कारण स्वास्थ्य सुविधा यहां के ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है ग्रामीण या बच्चों को स्वास्थ्य खराब हो जाता है तो आज भी खटिया के माध्यम से जिला कोरिया सोनहत इलाज कराने के लिए जाना पड़ता है। यहां के ग्रामीणों को राशन लाने में भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. कौरी के माध्यम से ग्रामीण पहाड़ को पार करते हुए ग्रामीण राशन अपने घर में लाते हैं। गांव में एक भी स्कूल ना होने के कारण यहां के बच्चे शिक्षा से कोसों दूर हैं.

ग्रामीणों का मानना है कि हम खुद पढ़े लिखे नहीं हैं इस कारण हम अपनी समस्याओं को ग्राम सभा में सरपंच के माध्यम से रखते हैं परंतु हमारी सुनवाई ना होने के कारण हम निराश घर में ही बैठे हैं हमारे बच्चों का भविष्य पूरी तरह से अंधकार में है।

पहाड़ को काटकर बनाई रोड

ग्राम पंचायत बनगवां पुरान पारा के लोक सुराज अभियान 2018 में ऑनलाइन शिकायत की गई थी परंतु उस शिकायत का कोई समाधान नहीं हुआ जिसके कारण ग्रामीण निराश होकर ग्रामीण खुद पहाड़ को काटकर सड़क बना लिए हैं, इसके बाद ग्रामीण बाइक के माध्यम से किसी तरह गांव में पहुंच पाते हैं परंतु इसके बाद भी ना तो क्षेत्र के जनप्रतिनिधि ना तो कर्मचारी इस और ध्यान दिए.

आंगनबाड़ी केंद्र कागजों में संचालित

बनगवां के पुरान पारा में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता तो नियुक्त कर दिया गया है परंतु वर्षों से आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कागजी कार्रवाई करते हुए अपना काम कर रही हैं. ग्रामीणों के अथक प्रयास के कारण अभी आंगनबाड़ी केंद्र का निर्माण कर हो रहा है परंतु वह भी दूरस्थ अंचल होने के कारण भ्रष्टाचार से पूर्ण रूप से लिप्त है, निर्माण कार्य गुणवत्ताहीन होने के कारण वह भी जल्द धराशायी हो जायेगा. निर्माण कार्य में जंगल की गिट्टी का धड़ल्ले से प्रयोग किया जा रहा है। विभागीय अधिकारी फोन के माध्यम से ही कार्य को देख कर रहे हैं.

संचार व्यवस्था जीरो

उपसरपंच ग्राम पंचायत हनुक लाल यादव कहते हैं कि गांव में आवागमन के साथ में शिक्षा के क्षेत्र में प्राथमिक पाठशाला एवं छतरंग, घुईडीह,पालकेवरा,बड़वार, चारों पंचायतों में संचार की व्यवस्था प्रशासन के द्वारा शीघ्र की जाए तथा हर्रई से होते हुए बाकी घाट कटिंग प्रशासन के द्वारा शीघ्र कराया जाये.


विधायक संसदीय सचिव पारसनाथ रजवाड़े ने कहा

भटगांव विधानसभा के विधायक, संसदीय सचिव पारसनाथ रजवाड़े ने कहा कि बलमा घाट कटिंग का कार्य सेक्शन हो गया है शीघ्र ही उसका काम भी चालू हो जाएगा । वहां के ग्रामीणों को प्रधानमंत्री आवास अगर नहीं मिला है तो ग्रामीणों को विभागीय अधिकारियों से इसकी शिकायत करनी चाहिए। आंगनबाड़ी सहायिका नहीं पहुंच रही है तो विभागीय अधिकारियों से बात करके उसी गांव के आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की नियुक्ति करा दी जाएगी। जल्द ही गांव में पहुंचकर ग्रामीणों के साथ वार्तालाप करूंगा.