breaking news New

मनरेगा में मोबाइल मानिटरिंग सिस्टम से मेट भरेंगे आनलाइन हाजिरी - कुणाल

मनरेगा में मोबाइल मानिटरिंग सिस्टम से मेट भरेंगे आनलाइन हाजिरी - कुणाल


जनपद पंचायत खड़गंवा और मनेन्द्रगढ़ में महिला मेटों के प्रषिक्षण का एकदिवसीय सत्र संपन्न

बैकुण्ठपुर।  कलेक्टर कोरिया एवं महात्मा गांधी नरेगा के जिला कार्यक्रम समन्वयक श्याम धावड़े की मंषा के अनुरूप कोरिया जिले में महात्मा गांधी नरेगा के अंतर्गत मोबाइल मानिटरिंग सिस्टम का दायरा तेजी से बढ़ाया जा रहा है। इसके माध्यम से अब मनरेगा के कार्यस्थलों पर ही आनलाइन दैनिक हाजिरी भरने का कार्य किया जाएगा। इस कार्य में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने की दिषा में विषेष प्रयास करते हुए महिला मेटों का विषेष प्रषिक्षण आयोजित किया जा रहा है। इसी तारतम्य में गत दिनों राज्य षासन से प्राप्त निर्देषानुसार कोरिया जिले के सभी जनपद पंचायतों में महिला मेटों की नियुक्ति के बाद उनका कौषल उन्नयन कराया जा रहा है। इसके लिए मैदानी प्रषिक्षण के साथ ही महात्मा गांधी नरेगा की संपूर्ण जानकारी से अवगत कराते हुए मोबाइल मानिटरिंग सिस्टम के संबंध में विषेष प्रषिक्षण सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। कोरिया जिले के जनपद पंचायत खड़गंवा और मनेन्द्रगढ़ में महिला मेटों का एक दिवसीय प्रषिक्षण संपन्न कराया गया है और अन्य जनपदों में भी यह सत्र आयोजित किए जा रहे हैं। इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी श्री कुणाल दुदावत ने बताया कि कोरिया जिले में आगामी समय में महात्मा गांधी नरेगा के तहत महिलाओं को ही मेट के रूप में कार्य देकर ग्रामीण महिला सशक्तिकरण की दिशा में कार्य किया जा रहा है।

          जिला पंचायत सीइओ ने बताया कि अब जिले के अधिकांश ग्रामीण क्षेत्र जहां मोबाइल की कनेक्टिविटी पर्याप्त है उन जगहों पर मेट के माध्यम से अकुशल श्रमिकों की दैनिक हाजिरी लगाई जाएगी। यह कार्य वहां नियोजित महिला मेटों के माध्यम से ही कराया जाएगा। इसके तहत जिले मे इस सत्र में आधिकारिक महिला मेटों की नियुक्ति ग्राम पंचायत के प्रस्तावों के आधार पर कर ली गई है। इन महिला मेटों को मनरेगा के अर्द्धकुशल श्रमिक के रूप में नियोजित करते हुए उनके माध्यम से ही ग्राम पंचायतों में मनरेगा कार्यों का नियोजन और सारे मिट्टी के कार्यो का मूल्यांकन कार्य भी कराया जाना है। इसके लिए सभी जनपद पंचायत स्तर पर इनके प्रशिक्षण का एकदिवसीय सत्र आयोजित किया जा रहा है। महिला मेटों के लिए आयोजित हो रहे प्रषिक्षण सत्र की विस्तार से जानकारी देते हुए जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी ने बताया कि गत दिवस जनपद पंचायत खड़गंवा और जनपद पंचायत मनेन्द्रगढ़ में महिला मेटों का प्रषिक्षण संपन्न हुआ।

        उन्होने बताया कि खड़गंवा जनपद पंचायत के अंतर्गत अब तक 145 महिला मेटों को और जनपद पंचायत मनेन्द्रगढ़ में 123 महिला मेटों को प्रषिक्षित किया जा चुका है। इन प्रषिक्षण सत्र में जिला पंचायत की टीम ने जनपद पंचायत के तकनीकी अमले के साथ महिला मेटों को महात्मा गांधी नरेगा में मेटों की भूमिका के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। दोनो जगहों पर प्रशिक्षण सत्र की शुरुआत जिले मे महात्मा गांधी नरेगा की स्थिति से अवगत कराते हुए की गई। पावर पाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से महात्मा गांधी नरेगा के संचालन की जानकारी देने के बाद प्रशिक्षणार्थियों को मोबाइल मॉनिटरिंग सिस्टम के बारे में जानकारी प्रदान की गई। महात्मा गांधी नरेगा के तहत महिला मेटों के प्रशिक्षण में उन्हें कार्य की माप करना, अधिक श्रमिकों के कार्य में आने पर कुशल तरीके से सभी को नियोजित करना, दिव्यांगों को कार्य में नियोजित करना, अपना दस्तावेज संधारण करना, मस्टररोल निकालना, उसे कार्यस्थल पर भरना, प्रतिदिन उपस्थित श्रमिकों को उनके किए गए कार्य के बारे में अवगत कराना, सप्ताह के अंत में मेट माप पंजी के अनुसार कार्यों का मूल्यांकन करना, मनरेगा की सात पंजियों का संधारण करने में रोजगार सहायक की मदद करना, जाब कार्ड प्रदान करने की प्रक्रिया, उसे बिना त्रुटि के भरना जैसे अन्य महत्वपूर्ण विषयों के बारे में विस्तार से अवगत कराया गया है। इसके अलावा इन सभी मेटों के लिए गोदी की माप के अनुसार कार्य करवाना, गोदी की माप बनाना जैसे तकनीकी बिंदुओं पर भौतिक प्रशिक्षण भी प्रदान किया जा रहा है।