breaking news New

VIDEO : चीन ने जारी किया एक और वीडियो, भारत-चीन के सैनिकों के बीच दिख रही है झड़प, चीनी सैनिक का सिर फूटा, चीन ने पहली बार माना गलवान में उसके चार सैनिक मरे !

VIDEO : चीन ने जारी किया एक और वीडियो, भारत-चीन के सैनिकों के बीच दिख रही है झड़प, चीनी सैनिक का सिर फूटा, चीन ने पहली बार माना गलवान में उसके चार सैनिक मरे !

चीन के ग्लोबल टाइम्स ने 3 मिनट 20 सेकंड का वीडियो जारी किया है। आज ही चीन ने कबूल किया है उसके 4 सैनिक मरे थे। हालांकि इस झड़प में चीन के 40 से ज्यादा सैनिक मारे गए थे, लेकिन चीन इस बड़े कबूलनामे से बचता रहा है। आज पहली बार चीन ने चार सैनिकों के मारे जाने की बात कबूली है। आज ही उसके अखबार ग्लोबल टाइम्स ने गलवान घाटी का वीडियो जारी किया है।

चीन ने सोच समझकर ये वीडियो रिलीज करवाया है क्योंकि वो जानता है कि कल कोर कमांडर लेवल की बातचीत मोल्डो में होने वाली है और इसमें दोहरा गलवान हॉट स्प्रिंग और डेप सांग की दिशा और दशा तय की जाएगी। अभी तक पहली बार ऐसा हुआ कि चीन ने रात में झड़प का कोई वीडियो रिलीज किया है और वो भी डिस इंगेजमेंट होने के बाद यानी एक बार फिर से चीन दबाव बनाने की रणनीति के साथ इस वीडियो को रिलीज़ किया है।

चीन की ‘पीपल्स लिबरेशन आर्मी ’(पीएलए) ने शुक्रवार को पहली बार आधिकारिक तौर पर यह स्वीकार किया कि पिछले वर्ष जून में पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में उसके चार सैन्यकर्मी मारे गये थे। चीन की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने चीनी सेना के अखबार ‘पीएलए डेली’ की एक खबर को उद्धृत करते हुए कहा कि देश के सैन्य प्राधिकारों ने दो सैन्य अधिकारियों और तीन सैनिकों को सम्मानित किया है। चीन की पश्चिमी सीमा की रक्षा करने के लिए उनमें से चार को मरणोपरांत सम्मानित किया गया है।

पीएलए डेली के मुताबिक काराकोरम पर्वतों पर तैनात रहे पांच चीनी अधिकारियों और सैनिकों को ‘सेंट्रल मिलिट्री कमीशन ऑफ चाइना’ (सीएमसी) ने भारत के साथ सीमा पर टकराव में अपना बलिदान देने के लिए सम्मानित किया है। यह घटना जून 2020 में गलवान घाटी में हुई थी। सीएमसी का नेतृत्व चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग कर रहे हैं, जो चीन में सत्तारूढ़ दल कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ चाइना के महासचिव भी हैं।

खबर के मुताबिक, ‘बटालियन कमांडर चेन होंगजुन को मरणोपरांत ‘सीमा की रक्षा करने वाले नायक’ सम्मान से सम्मानित किया गया है, जबकि चेन शियांगरोंग, शियाओ सियुआन और वांग झुओरान को प्रथम श्रेणी की उत्कृष्टता से सम्मानित किया गया। वहीं, झड़प में गंभीर रूप से घायल हुए क्वी फबाओ को ‘सीमा की रक्षा करने वाले नायक रेजीमेंट कमांडर’ की उपाधि दी गई।’’ खबर के मुताबिक पीएलए के तीन सैनिक झड़प में मारे गये, जबकि एक अन्य जवान जब अपने साथियों की मदद करने के लिए नदी पार कर रहा था, तभी उसकी मौत हो गई।

देखिए वीडियो : <bript>