breaking news New

लैम्प्स गोदामो में खाद नही, किसान हो रहे परेशान, जबरन थमाया जा रहा है बर्मी कम्पोज

लैम्प्स गोदामो में खाद नही, किसान हो रहे परेशान, जबरन थमाया जा रहा है बर्मी कम्पोज

भानुप्रतापपुर। खेती किसानी का काम लगभग एक पूर्व से ही प्रांरभ हो हया है। लेकिन आज भी क्षेत्र में खाद के भंडारण एवं आपूर्ति नही होने से हजारों किसान परेशान हो रहे है। वही धान की पैदावार भी प्रभावित हो रहे है। वही किसानों ने कहा कि जिस खाद की आवश्यकता है, उसे न उपलब्ध कराते हुए  बेवजह बर्मी कम्पोज खाद को थमाया जा रहा है।
विदित हो कि सरकार द्वारा किसानों के भले ही परेशानिया न हो इसलिए लैम्पस ( आदिम जाति सेवा सहकारी समिति) की संख्या को बढ़ाया गया है। लेकिन आज भी किसान परेशान है,कभी धान बेचने को लेकर तो कभी खाद बीज के लिये काम धाम को छोड़कर लेम्प्स के लगा रहे है। समय पर खाद नही मिलने से आक्रोशित किसानों ने चक्का जाम व उग्र प्रदर्शन भी कर चुके है बावजूद आज भी स्थिति जस की तस बनी हुई है।इसी क्रम  में भानुप्रतापपुर, असुलखर, केवटी,भानबेड़ा,कच्चे, हाटकोंदल सहित क्षेत्र के लैम्पस हजारों किसानों को खाद नही मिल पाया है। लैम्पस प्रबंधकों का कहना है कि ऐसे तो राखड़ (सुपर फास्ट) पोटास डीएपी,यूरिया सभी की किल्लत बनी हुई है। वही डीएपी,यूरिया खाद की आवक पिछले एक माह से नही हो रहे है।  प्रति दिन सैकड़ों किसान खाद लेने लैम्पस आ रहे है लेकिन खाद उपलब्ध नही होने से बैरंग लौटना पड़ रहा है। प्रबन्धको ने बताया कि खाद की समस्या को लेकर जिला कार्यालय सूचित किया जाता है, अधिकारियों द्वारा जल्द ही खाद आने का आश्वासन दिया जा रहा है लेकिन खाद नही आ पा रहा है। किसानों ने कहा कि समय पर खाद नही मिलने से फसल प्रभावित हो रहे है मजबूरीवश खाद बाजार से अधिक दामों पर लेना पड़ रहा है। वही शासन के द्वारा जिस खाद की आवश्यकता है उसे न देकर
जबरन गौठान से बर्मीकम्पोज गोबर खाद लेने पर विवश किया जा रहा है।