breaking news New

नगर पालिक निगम चुनाव में सीधे महापौर का चुनाव न होने पर राज्यसभा सांसद ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर उठाया सवाल , सभी निकायों पर भाजपा का होगा महापौर

नगर पालिक निगम चुनाव में सीधे महापौर का चुनाव न होने पर राज्यसभा सांसद ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर उठाया  सवाल , सभी निकायों पर भाजपा का होगा महापौर

रमेश गुप्ता 

भिलाई। नगर पालिक निगम चुनाव में सीधे महापौर का चुनाव न होने पर राज्यसभा सांसद ने प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर सवाल उठाए हैं। भाजपा कार्यालय गदा चौक सुपेला में आज आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान सांसद सरोज पाण्डेय ने कहा कि नगरी निकाय चुनाव में लागू किए गए अप्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली से कांग्रेस पार्टी अपना लाभ सिद्ध करना चाहती है। कांग्रेस सीधे जनता के बीच चुनाव लड़ने से डरती है इसीलिए निकायों में अप्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली लागू कर दी। 

सांसद सरोज पाण्डेय ने कहा पहले महापौर का चुनाव जनता करती थी। जनता पार्षद व महापौर के लिए अलग-अलग वोट करती थी, लेकिन जैसे ही प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी उन्होंने इस प्रथा को समाप्त कर दिया। नई प्रणाली लागू कर कांग्रेस सरकार सीधे चुनाव लड़ने से डर रही है, पार्षदों के माध्यम से महापौर व अध्यक्ष का चुनाव को इसलिए लागू किया ताकि सरकार को इसका लाभ मिल सके। सांसद सरोज पांडे ने कहा कि बीते 3 वर्षों में प्रदेश में विकास के नाम पर कुछ भी नहीं हुआ और यह जनता देख रही है। भिलाई की जनता जाग चुकी है कांग्रेस के किसी भी झांसे में नहीं आने वाली, इस बार नगर निगम भिलाई सहित सभी चारों निकायों में भारतीय जनता पार्टी के अधिक से अधिक पार्षद जीतकर आएंगे।

प्रेसवार्ता में मौजूद दुर्ग लोकसभा सांसद विजय बघेल ने भी भाजपा की जीत का दावा किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस  झूठे दावे कर रही है लोग अच्छी तरह से जान गए हैं कि विकास कौन कर रहा है। प्रदेश के साथ ही दुर्ग भिलाई में जितना भी विकास हुआ है वह पूरा पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के कार्यकाल में हुआ है। इस बार नगर निगम चुनाव में जनता भाजपा के अधिक से अधिक पार्षद चुनकर कांग्रेस को करारा जवाब देगी।

इस मौके पर पूर्व मंत्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय से टाउनशिप में बैक एरिया के लिए पेवर ब्लॉक लगाने को लेकर जारी बजट पर अपपी बात रखी। उन्होंने कहा के उनके कार्यकाल में टाउनशिप में इस कार्य के लिए 48 करोड़ रुपए जारी किए गए थे। कांग्रेस सरकार आने के बाद इस पर कार्य नहीं हुआ। इसके कारण 48 करोड़ रुपए में से 28 करोड़ रुपए लैप्स हो गए। प्रेम प्रकाश पाण्डेय ने कहा सही समय पर कार्य हो जाता तो वह राशि कहीं नहीं जाती।