breaking news New

गणेशोत्सव आयोजन के लिए एसडीएम से लेनी होगी अनुमति व बिजली कनेक्शन

गणेशोत्सव आयोजन के लिए एसडीएम से लेनी होगी अनुमति व बिजली कनेक्शन

 कोरबा विघ्रहर्ता भगवान गणेश का उत्सव भाद्रपद मास की चतुर्थी को गुरूवार से प्रारंभ हो रहा है। इसके लिए यहां वहां मिट्टी और टेराकोटा से निर्मित प्रतिमाएं उपलब्ध हैं, जिन्हें लोग स्थापना के लिए ले जा रहे हैं। उत्सव के लिए प्रशासन ने अनुमति अनिवार्य किया और पावर कंपनी ने बिजली कनेक्शन। उत्सव के शुभारंभ होने से एक दिन पहले यह काम काफी धीमी रफ्तार में बना हुआ है। हालांकि अधिकारियों ने कहा कि आवेदन प्राप्त होने पर तत्काल प्रक्रियाओं को पूरा किया जाएगा।

गणेशोत्सव की काफी प्राचीन परंपरा है, जो चतुर्थी से अनंत चतुरदर्शी तक मनाया जाता है। इस उत्सव में प्राथमिक रूप से मिट्टी से बनी प्रतिमाओं की स्थापना के साथ उनकी पूजा अर्चना का विधान है। 10 सितंबर को सुबह से शाम तक स्थापना का सिलसिला विभिन्न क्षेत्रों में जारी रहेगा। इसके लिए उत्साह देखा जा रहा है। कुछ स्थानों पर सार्वजनिक समितियों ने इसके लिए पंडाल बनाएं हैं और तैयारी की है। इसके अलावा व्यक्तिगत रूप से बड़ी संख्या में लोग अपने घरों और संस्थान में गणेश प्रतिमा स्थापित कर परंपरा निभाएंगे। कोविड से संबंधित समस्या के कारण पिछली बार यह उत्सव औपचारिक बन कर रह गया था। उसके मुकाबले अब रौनक कुछ ज्यादा नजर आ रही है। हिन्दू क्रांति सेना के प्रदर्शन के बाद जिला प्रशासन ने गणेशोत्सव के आयोजन के लिए गाईड लाईन को काफी हद तक सहुलियत भरा बनाने का प्रयास किया है। इसी के साथ स्पष्ट किया गया है कि सार्वजनिक आयोजन के लिए एसडीएम से अनुमति लेनी होगी और नियम शर्तों का पालन करना होगा। वहीं सार्वजनिक पंडालों को अस्थाई बिजली कनेक्शन लेने के लिए सीएसईबी ने कहा है। ये दोनों औपचारिकताएं आवेदन के साथ पूरी की जानी है।

कटघोरा शहरी क्षेत्र में फिलहाल दो ही आवेदन अस्थाई बिजली कनेक्शन के लिए प्राप्त हुए हैं, जिनमें कार्यवाही की जा रही है। जहां से भी गणेशोत्सव के लिए आवेदन प्राप्त होंगे, तत्काल कनेक्शन दिया जाएगा। कटघोरा सब डिवीजन में गणेशोत्सव का आयोजन करने के लिए प्राप्त आवेदनों के अनुक्रम में 22 से अधिक अनुमति जारी की है। आवेदन प्राप्त होने पर आगे भी अनुमति उपलब्ध करायी जाएगी। अब तक की स्थिति में 6 आवेदन गणेशोत्सव समितियों की ओर से प्राप्त हुए थे जिसमें अनुमति जारी कर दी गई है। दो आवेदन और प्राप्त हुए हैं। इस दिशा में अगली कार्रवाई की जाएगी।

सीएसईबी ने शहरी क्षेत्र के अंतर्गत अब तक प्राप्त आवेदन के सिलसिले में दो पंडालों को अस्थाई बिजली कनेक्शन देना तय किया है। यह आवेदन तुलसी नगर और पुरानी बस्ती समिति से प्राप्त हुए हैं। विभाग ने सभी समितियों को इस बारे में सूचना उपलब्ध करायी है।

नवीन राठी, ईई सीएसईबी, कोरबा नगर संभाग