breaking news New

मिशन शक्ति- जंग एनीमिया और कुपोषण के खिलाफ

मिशन शक्ति- जंग एनीमिया और कुपोषण के खिलाफ

जिले को एनीमिया और कुपोषण मुक्त बनाने सभी जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों को दी गई जिम्मेदारी

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही, 26 मार्च। जिले की कलेक्टर नम्रता गांधी द्वारा गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले को एनीमिया और कुपोषण मुक्त बनाने के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। उनके द्वारा देश में कोरोना महामारी के संक्रमण को देखते हुए जिले के एनीमिया और कुपोषण से ग्रसित महिलाओं और कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य पर चिंता जाहिर करते हुए विशेष निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए उन्होंने मिशन शक्ति अभियान के तहत सभी जिला स्तरीय नोडल अधिकारियों को उनके संबंधित ग्रामों में एनीमिया और कुपोषण दूर करने के लिए कुपोषण एवं एनीमिया से ग्रसित किशोरी, महिलाओं और कुपोषित बच्चों के घरों में जाकर विभिन्न स्वास्थ्य सुविधाओं सहित चिकित्सकों द्वारा दिए गए स्वास्थ्य परामर्श के पालन पर निरंतर निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने विभिन्न ग्रामों के लिए नियुक्त किए गए।



सभी नोडल अधिकारियों को जमीनी स्तर पर कार्य करते हुए कुपोषण एवं एनीमिया से ग्रसित किशोरी, महिलाओं और कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी सभी पहलूओ पर विशेष निगरानी रखते हुए व्यवस्थाएं सुनिश्चित किए जाने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं। उन्होंने प्रत्येक नोडल अधिकारियों को उनके संबंधित ग्रामों में निवासरत एनीमिया एवं कुपोषण से ग्रसित महिलाओं,किशोरियों और कुपोषित बच्चों के स्वास्थ्य में सुधार के लिए व्यक्तिगत रूप से उनके घरों में नियमित दवाइयों का सेवन, खानपान के परामर्श इत्यादि आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए निरंतर निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए हैं। जिसके परिपालन में नोडल अधिकारी आर.के. उराव ( कार्यपालन अभियंता लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी ) द्वारा मरवाही विकासखंड के ग्राम पंचायत सेमरदरीं के गंभीर कुपोषित बालक कबीर कुमार पिता रमेश सिंह आयु 2वर्ष 08माह वजन लगभग 09 किलो , से पंचायत सचिव, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के साथ गृह भेट कर पोषण पोटली दी गई।
इसके साथ ही बच्चे की माता को वजन बढ़ाने के लिए आहार, खान-पान के संबंध में विशेष रूप से स्थानीय स्तर पर उपलब्ध हाई प्रोटीन खाद्य के सेवन का सुझाव दिया गया एवम् प्रेरित किया गया। इसी प्रकार कृष्णा बाई पति कमलेश उम्र 30 वर्ष जिनका हिमोग्लोबिन 9 है उनसे भी गृह भेंट किया गया और उन्हें खानपान के संबंध में विशेष रुप से मुनगा की भाजी, मुनगा फली एवं पालक भाजी के सेवन की सलाह दी गई। इसी प्रकार नोडल अधिकारी सतीश पांडेय (सहायक संचालक उद्यान ) द्वारा पनकोटा पेण्ड्रा के शिशु योगेंद्र पिता प्रमोद 07 माह वजन 06.570 किलोग्राम , पनकोटा पेण्ड्रा की शुक्रवारा पति सुरेश, हिमोग्लोबिन 9 ग्राम, बरपारा और गुड्डू बाई पति सेवा सिंह एनिमिक 09gm हीमोग्लोबिन के घरों में जाकर स्वास्थ्य संबंधी विभिन्न महत्वपूर्ण बिंदुओं पर निरीक्षण करते हुए सलाह दी गई। नोडल अधिकारियों द्वारा बताया गया कि संबंधित महिलाओं को उनके द्वारा स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिए गए विभिन्न परामर्श की जानकारी पुनः दी गई और उनके द्वारा सभी स्वास्थ्य परामर्श, खानपान और दवाइयों इत्यादि पर विशेष ध्यान दिए जा रहे हैं।