breaking news New

संकुल समन्वय भर्ती विवादों में, चयन सूची सार्वजनिक नही करने के पीछे का सच, पढ़िए अफसरों की जुबानी...

 संकुल समन्वय भर्ती विवादों में, चयन सूची सार्वजनिक नही करने के पीछे का सच, पढ़िए अफसरों की जुबानी...

सूरजपुर। जिला शिक्षा विभाग के संकुल समन्वयक के पदों की चयनित सूची अब तक सार्वजनिक नही हुई है। जबकि जिले में इसके कुछ चयनित शिक्षक आदेश की कापी लेकर विकास खण्ड कार्यलय में दस्तक दे रहे है। जिससे विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी भी हैरान है। वही सियासत भी इस पर गरमा गई है। जिसकी वजह से यह प्रक्रिया अब विवादों में घिर गई है जिसकी बड़ी वजह विभाग की कार्यप्रणाली है जिसके चलते जिला प्रशासन राज्य शासन और शिक्षा मंत्री पर    विभाग में चल रही कार्यशैली की वजह से उंगलियां उठने लगी है। 

एक सामान्य सा विषय है लगभग 245 शिक्षक जिनका चयन संकुल समन्वयक के पद पर होता है। शिक्षा विभाग का यह पद कोई गोपनीय नहीं है। जिससे की नामों को जगजाहिर करने से किसी भी प्रकार का दुरुपयोग हो।नाम सार्वजनिक होने से चयन की पारदर्शिता सामने आती। यह स्पष्ट भी हो जाता कि चयन सूची में नीति नियमो का पालन किया गया है। यह स्पस्ट होता कि ऐसे किसी भी शिक्षकों का चयन संकुल समन्वयक के लिए नही हुआ है जो एकल शिक्षकिय है। 

सूची जारी होने से यह तस्वीर भी सामने आ जाती की संवेनशील जिला प्रशासन ने जिला समग्र शिक्षा समन्वयक की बागडोर मजबूत हाथों में दी है। और बता दिया जाता कि इस चयन प्रक्रिया में किसी भी ऐसे शिक्षकों का चयन नहीं किया गया जो इस के योग्य नहीं थे न ही ऐसे शिक्षकों का चयन जो किया गया जो किसी दूसरे संकुल से आते थे।

नाम, पद, वर्ग, विषय, स्कूल सहित अगर 241 शिक्षको की चयन सूची जारी कर दी जाती तो यह साफ हो जाता कि किसी ऐसे शिक्षकों का चयन  नहीं किया गया जो गणित या विज्ञान विषय के है।

इस विषय को "लोकविचार" की टीम ने सबसे पहले उठाया था। खबर के दूसरे चरण में संकुल समन्वयक के पदों की चयनित सूची सार्वजनिक नही किये जाने को लेकर  लोक प्रचार की टीम ने जिला प्रशासन, जिला शिक्षा विभाग के आला अफसरों, विकास खंड शिक्षा अधिकारीयो व विपक्षी दलों से चर्चा भी की है।

मामले पर सूरजपुर जिला मिशन समन्वयक समग्र शिक्षा के अधिकारी शशिकांत सिंह भी स्वीकारते हैं कि सूची सार्वजनिक नहीं की गई है यह जिले के बीआरसीसी को दे दी गई है चयनित शिक्षकों को बुला बुला कर आदेश की प्रति बांट देंगे। 

ओड़गी विकासखंड के दौरे पर गए डीएमसी शशिकांत सिंह का कहना है कि सरगुजा संभाग के सभी जिलों में ऐसी व्यवस्था चल रही है इसीलिए हम भी सभी चयनित शिक्षकों को सिंगल सिंगल आदेश जारी कर रहे हैं इसमें कोई गलत या कोई छुपी हुई चीज नहीं है सभी चयन नियमों के अनुसार किया गया है।

मामले पर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारियों का कहना है कि चयन सूची अब तक जारी नहीं हुई है । यदि हुई भी है तो हमे नही मिली है। इस बारे में अधिक जानकारी बीआरसीसी या डीएमसी ही दे पाएंगे। 

मामले पर सूरजपुर के प्रभारी कलेक्टर और जिला पंचायत सुरजपुर CEO राहुल देव का कहना है कि सारी प्रक्रिया नियमों के तहत की गई है किसी भी प्रकार की गड़बड़ियां पाई जाती है तो संबंधित पर कार्यवाही की जाएगी। आदेश जारी कर दिए गए हैं सूची भी जारी कर दी जाएगी यदि कहीं गलत नियुक्तियां की गई है तो रद्द की जाएगी।