breaking news New

अमरकंटक पहुँचे अमित जोगी, बोले- सभी दल के प्रति प्यार, न तो किसी के पक्ष में बोलूँगा, न विरोध में

अमरकंटक पहुँचे अमित जोगी, बोले- सभी दल के प्रति प्यार, न तो किसी के पक्ष में बोलूँगा, न विरोध में

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही। नामांकन खारिज होने के बाद कोटा विधायक रेणु जोगी और अमित जोगी ने अपने समर्थकों के साथ अमरकण्टक में माँ नर्मदा का आशीर्वाद लिया। यहां राजमेरगढ़ में उन्होंने स्वर्गीय श्री अजीत जोगी जी के मितान (परम मित्र) हरि सिंह पोर्ते से भेंट कर उन्हें वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों से अवगत कराया। यहाँ उन्होंने अपने समर्थकों के साथ पार्टी की आगे की रणनीति के बारे में भी परामर्श लिए। अमित जोगी ने कहा कि भले ही जोगी परिवार को बदले की दुर्भावना से मरवाही उपचुनाव से अलग कर दिया गया है, लेकिन जोगी परिवार को कभी भी मरवाही के लोगों के दिलों से अलग नहीं किया जा सकता। अमित ने कहा कि मैं मरवाही का नेता नहीं बल्कि बेटा हूँ और यहाँ के सभी दलों के लोगों के लिए मेरे दिल में प्यार है, इसीलिए मैं किसी के न तो पक्ष में बोलूँगा न ही विरोध में।

अमित ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जोगी से ज़्यादा जोगी के नाम से डरते हैं। उन्होंने जीते जी स्वर्गीय श्री अजीत जोगी जी को अपमानित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी और उनके मरणोपरांत भी उनके शोकाकुल परिवार का पीछा नहीं छोड़ रहे हैं। वे लगातार जोगी परिवार को खत्म करने की साज़िश कर रहे है। इस साज़िश की सबसे ताज़ी कड़ी बदलापुर और जोगेरिया के कारण मुख्यमंत्री का अपने पद का खुला दुरुपयोग करके मेरा और मेरी पत्नी डॉक्टर ऋचा जोगी का जाति प्रमाण पत्र और नामांकन रद्द करना है। अमित ने कहा की भूपेश बघेल ने मेरे परिवार के साथ अन्याय किया है और इसका जवाब उन्हें मरवाही की जनता देगी। अमित ने कहा कि यह पहली बार होगा जब इस सदी में जोगी परिवार मरवाही की जनता के बीच वोट मांगने नहीं बल्कि वोट से कहीं ज्यादा महत्वपूर्ण न्याय मांगने जाएगा।