breaking news New

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को नि:शुल्क कोरोना टीका लगाने के महाअभियान का किया शुभारंभ

 मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को नि:शुल्क कोरोना टीका लगाने के महाअभियान का किया शुभारंभ

रायपुर । मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज राजधानी स्थित अपने निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए छत्तीसगढ़ में 18 से 44 वर्ष के लोगों को नि:शुल्क कोरोना टीका लगाने के महाअभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने इस दौरान भिलाई-दुर्ग, रायपुर तथा बिलासपुर में कोविड-19 का टीका लगवाने वाले लोगों से चर्चा की और उन्हें कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नियमों का पालन करने की सलाह भी दी। इस मौके पर उन्होंने अभियान में जुटे टीकाकरण टीम और टीका लगाने वाले लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दीं।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है, जिसने 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए नि:शुल्क कोरोना टीका लगाए जाने की शुरूआत आज 1 मई से शुरू कर दी है। इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री  टी.एस. सिंहदेव, गृह मंत्री  ताम्रध्वज साहूूूूूूूूूू, कृषि मंत्री  रविन्द्र चौबे, वन मंत्री  मोहम्मद अकबर, राजस्व मंत्री  जयसिंह अग्रवाल, महिला एवं बाल विकास मंत्रीअनिला भेंडिय़ा, उद्योग मंत्री  कवासी लखमा, खाद्य मंत्री  अमरजीत भगत, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरूरूद्र कुमार, उच्च शिक्षा मंत्री  उमेश पटेल तथा विधायक  रश्मि सिंह और विधायक  देवेन्द्र यादव वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से शामिल हुए। टीकाकरण के शुभारंभ अवसर पर मुख्य सचिव  अमिताभ जैन, अपर मुख्य सचिव  सुब्रत साहू, मुख्यमंत्री के सचिव  सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी भी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री  बघेल ने अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण एक महत्वपूर्ण हथियार है। इससे राज्य में कोरोना को हराने में जरूर सफलता मिलेगी।

उन्होंने बताया कि राज्य में टीकाकरण अभियान के सफल संचालन के लिए शासन तथा प्रशासन के समन्वित प्रयास से हर आवश्यक व्यवस्था पूरी कर ली गई है। इसमें अभी 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए अंत्योदय राशनकार्डधारियों को प्राथमिकता दी गई है। राज्य में आगे वैक्सीन की उपलब्धता के अनुरूप क्रमिक रूप से 18 से अधिक उम्र वाले सभी वर्ग के लोगों को मुफ्त में कोविड-19 का टीका लगाया जाएगा।

उन्होंने बताया कि राज्य में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के टीकाकरण के लिए कोरोना वैक्सीन की पहली खेप में आज दोपहर को लगभग डेढ़ लाख डोज उपलब्ध हुआ। इसे तत्काल सभी जिलों के लिए आबंटित कर भेज दिया गया है और राज्य में राजधानी सहित दुर्ग तथा बिलासपुर जिले में आज यह महाअभियान प्रारंभ हो गया है।
मुख्यमंत्री  बघेल ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव तथा रोकथाम के लिए कोविड अनुकूल व्यवहार का भी पालन करना आवश्यक है। इसके पालन सहित सभी के समन्वित प्रयास से ही कोरोना पर नियंत्रण पा सकते हैं। राज्य में कोरोना नियंत्रण के इस कार्य में सभी वर्ग के लोगों का भरपूर सहयोग मिल रहा है। इस तरह सभी की एकजुटता से ही राज्य में कोरोना को हराने में जरूर सफल होंगे। कार्यक्रम को सभी मंत्रियों ने भी सम्बोधित किया और कोविड-19 टीकाकरण अभियान के सफल संचालन के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी।
(रायपुर) कोविड हॉस्पिटल कंचनपुर में गूंजी किलकारी, कोरोना पॉजिटिव महिला का सफलता पूर्वक कराया गया प्रसव
कलेक्टर  राठौर ने मेडिकल टीम की तारीफ कर बढ़ाया हौसला
कोरिया 01 मई 2021/ कोरोनाकाल में जहां सभी लोग कोरोना से जूझ रहे हैं वहीं विकासखंड बैकुण्ठपुर के ग्राम कंचनपुर स्थित कोविड हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित गर्भवती महिला का मेडिकल टीम द्वारा गत शुक्रवार रात्रि को सफलतापूर्वक प्रसव कराया गया। जिससे कोविड अस्पताल में सकारात्मक उर्जा का संचार हुआ है। कोरोना महामारी में मरीजों के ईलाज करने के चुनौतीपूर्ण माहौल में डाक्टरों की टीम ने सुरक्षित प्रसव कराया है।
कलेक्टर  एसएन राठौर ने शिशुवती माता को बधाई दी व कोविड अस्पताल के पूरे मेडिकल स्टाफ की प्रशंसा कर हौसला बढ़ाया है। जिले में कोरोना संक्रमण से सुरक्षा एवं इलाज के लिए कोविड हॉस्पिटल एवं कोविड केयर सेंटर संचालित किये जा रहे हैं। जहां कोरोना संक्रमित मरीजों को उपचार जारी है। मरीजों के ईलाज करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा सभी उचित सुविधाएं मुहैया करवाई जा रही है। कोविड अस्पताल एवं कोविड केयर सेंटर में कुशल डाक्टरों और नर्सों की मेडिकल टीम की ड्यूटी लगाई गई है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ रामेश्वर शर्मा ने भी मेडिकल टीम की तारीफ करते हुए इसी तत्परता और समर्पण के साथ काम करने हेतु प्रेरित किया।
कोविड हॉस्पिटल प्रबंधक डॉक्टर अमरदीप जयसवाल ने बताया कि ग्राम चिरगुड़ा की निवासी कोरोना संक्रमित गर्भवती महिला का मेडिकल टीम द्वारा शुक्रवार रात्रि को सफलतापूर्वक प्रसव कराया गया। प्रसव के बाद जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। नर्सों द्वारा जच्चा-बच्चा की लगातार देखभाल की जा रही है। इस चुनौतीपूर्ण प्रसव को सफलतापूर्वक संपन्न कराने में कोविड हॉस्पिटल प्रबंधक डॉक्टर जयसवाल के साथ डॉक्टर संदीप, डॉक्टर स्टाफ नर्स प्रिया, मानकुआर, सावित्री, नेहा सरोज बखला एवं सुनीता की भूमिका महत्वपूर्ण रही।