breaking news New

बिहारपुर क्षेत्र में पंडो जनजाति के परिवारों को दो माह से नही मिल रहा राशन, फूड इंस्पेक्टर के कार्यो पर उठ रहे सवाल...

बिहारपुर क्षेत्र में पंडो जनजाति के परिवारों को दो माह से नही मिल रहा राशन, फूड इंस्पेक्टर के कार्यो पर उठ रहे सवाल...

चंद्रप्रकाश साहू/सुरजपुर। सूरजपुर जिले के दूरस्थ क्षेत्र चांदनी बिहारपुर के ग्राम पंचायत सपहा में सरपंच सचिव का मनमानी चरम पर है। जबकि चांदनी बिहारपुर में जिला प्रशासन पूरी टीम के साथ एक माह में दो बार जनसंवाद कार्यक्रम लगाकर पिछड़ा क्षेत्र चांदनी वासियों का समस्या का समाधान करने का दावा की जा रही है। 

जिसके बाद भी ग्राम पंचायत सपहा के 20 से 25 राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र कहे जाने वाले पंडो जनजाति परिवार का राशन कार्ड लेकर पंचायत में बुलाकर उनका फोटो खींचकर राशन को निकाल ले रहे हैं।  उस गरीब परिवार को पंचायत के द्वारा बता दिया जाता है कि तुम लोगों का चावल सूरजपुर से नहीं आता है। जबकि गरीब पंडो जाति के ग्रामीणों ने लिखित आवेदन कलेक्टर के नाम से तहसीलदार बिहारपुर को दिए हैं। उसमें बताया गया है कि ग्राम पंचायत सपहा में शासकीय उचित मूल्य राशन दुकान पंचायत द्वारा चलाया जाता है। 

जिसमें राशन कार्ड धारियों का राशन पंचायत द्वारा राशन दुकान से चावल निकाल के रख ले रहे हैं और इन लोगों को बता दिया जाता है कि तुम लोगों का चावल सूरजपुर से नहीं आया है। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि लोगों को ग्राम पंचायत में बुलाकर के सभी हितग्राहियों का फोटो खींच लेते हैं और चावल को निकाल लेते है। 

इस कारण यह सब राशन कार्ड धारी दर-दर भटक रहे हैं। जबकि जिले के क्लेक्टर आम जन को शासन की योजनाओं का दिलाने के लिए लगातार कार्य कर रहे है। जिसके बाद भी आम जन को लाभ नही मिलने से पीडियस दुकानों का संचालन करवाने का जिम्मा फूड इंस्पेक्टर का है। किंतु फूड ऑफिसर फील्ड के दौरा के नाम पर खाना पूर्ति कर रहे है और कागजों में आम जन को लाभ पहुँचाने का कार्य किया जा रहा है। जबकि प्रशासन को तत्काल संज्ञान में लेकर पंचायत के पदाधिकारियों  पर तत्काल अपराध दर्ज किया जाना चाहिए था।