breaking news New

बड़ी खबर : मासूम को उठा ले गया तेंदूआ, जंगल में मिले बच्ची के अंग के कई टुकड़े

बड़ी खबर :  मासूम को उठा ले गया तेंदूआ, जंगल में मिले बच्ची के अंग के कई  टुकड़े

गरियाबंद। छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के वन परिक्षेत्र अंतर्गत बमनी गांव से एक 9 वर्षीय बच्ची को जंगली जानवर उठा कर ले गया। गांव से थोड़ी दूर पर बच्ची के अंग के कुछ टुकड़े मिले है, वहीं मौके पर तेंदूआ के पंजों के निशान भी पाये गये है। जिससे आशंका जतायी जा रही है कि बच्ची को तेंदूआ उठाकर ले गया है। इस घटना से पूरे गांव में सनसनी फैली हुई है। वन विभाग और पुलिस की टीम बच्ची के शेष अंको की खोजबीन कर रही है। 

सूत्रों पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक घटना 17 अगस्त की देर शाम की है। बताया जा रहा है कि बमनी गांव में 9 वर्षीय बच्ची रानी कमार अपने घर के बाहर खुली जगह पर खेल रही थी। रात करीब 7 बजे बच्ची के चीखने की जोर से आवाज आई, जिसके बाद उसके परिजन घर से बाहर निकले, लेकिन तब तक बच्ची वहां से गायब हो चुकी थी। बच्ची के गायब होने के बाद परिजन दो दिन तक उसकी तलाश करते रहे जब बच्ची कहीं नहीं मिली तो कोतवाली थाना में उसके गुम होने की शिकायत दर्ज कराई। इधर शिकायत पर पुलिस ने जब बच्ची को ढूंढना शुरू गांव से लगे जंगल की ओर करीब 300 मीटर दूर पहुंचे तो  वहां बच्ची के अंग के कुछ टुकड़े मिले। घटना स्थल पर तेंदुआ के निशान भी पाये गये है। जिसके चलते पुलिस आशंका जता रही है कि संभवत: बच्ची को तेंदुआ उठाकर ले गया है। बच्ची के शेष अंगो की तलाश की जा रही है। 

इसकी पुष्टि गरियाबंद पुलिस अधीक्षक पारुल माथुर,अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनन्दन राठौर वन विभाग के एस डी ओ मनोज चन्द्राकर  द्वारा की गई है। इधर वन विभाग द्वारा  बच्ची के परिजन को तात्कालिक सहायता राशि पच्चीस हजार रुपये एसडीओ मनोज चन्द्राकर परिक्षेत्र अधिकारी पुष्पेंद्र साहू द्वारा ग्राम के सरपंच अभिमन्यु ध्रुव और नरेंद्र ध्रुव अध्यक्ष सर्व आदिवासी समाज युवा के समक्ष दिया गया।