breaking news New

बैकुंठ में सेंचुरी सीमेंट माध्यमिक विद्यालय की मनमानी, शासन के नियमों का खुलेआम किया जा रहा उल्लंघन

 बैकुंठ में  सेंचुरी सीमेंट माध्यमिक विद्यालय की मनमानी, शासन के नियमों का खुलेआम किया जा रहा उल्लंघन

 निरीक्षण में पहुंचे स्कूल द्वारा जांच दल को दस्तावेज उपलब्ध कराने में असमर्थ

 तिल्दा नेवरा।  रायपुर जिले के तिल्दा-नेवरा क्षेत्र के बैकुंठ में  सेंचुरी सीमेंट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बैकुंठ सीजी बोर्ड हिंदी माध्यम शत-प्रतिशत अनुदान प्राप्त स्कूल के द्वारा अनुदान प्राप्त करने हेतु दस्तावेज जो शासन प्रशासन को पूर्व में विगत 38 वर्ष पहले लगाए गए हैं उन दस्तावेजों को आज जांच दल के सामने प्रस्तुत ना कर पाना निजी विद्यालय की मनमानी को दर्शाता है फर्म एंड सोसायटी से पंजीकृत संस्था द्वारा सन 1974 में पंजीयन के नाम से भवन ,लेब,खेल मैदान,को दिखाकर स्कूल संचालित किया जा रहा है ।

विगत कुछ वर्षों पूर्व से शिक्षा का व्यवसायीकरण खेल चालू हुआ जिसके लिए उसी नाम की संस्था पर सेंचुरी सीमेंट हायर सेकेंडरी सीबीएसई बोर्ड का संचालन शुरू हुआ, नियमानुसार एक ही कमरे या स्कूल परिसर में 2 बोर्ड का संचालन नहीं हो सकता जिसकी शिकायत पालकों के द्वारा उच्च अधिकारियों को बार-बार किया गया था इसके बाद स्कूल ने अपना नाम परिवर्तन कर खेल लगातार जारी रखा है जिसकी शिकायत  स्थाई शिक्षा शिक्षा समिति जिला पंचायत रायपुर को की गई थी जिसके बाद स्कूल परिसर और दस्तावेजों की जांच करने के लिए टीम आई और जांच दल के द्वारा संपूर्ण स्कूल की दस्तावेज की मांग की गई स्कूल के दोनों प्राचार्य और कमेटी के सदस्यों के द्वारा गोलमोल जवाब देकर दस्तावेज प्रस्तुत नहीं किए ।

 आपको बता दे कि फीस बढ़ाने से लेकर स्कूलों में अध्ययन अध्यापन के लिये सुविधाओ की जांच पिछले चार दिनों से जारी है।जिला कलेक्टर श्री सौरभ कुमार के सख्त निर्देश के बाद शिक्षा विभाग के जांच दल लगातार स्कूलों में दबिश देकर जांच कर रहे है। आज भी जिला शिक्षा कार्यालय रायपुर के एवं विकासखण्ड स्तर के निरीक्षण दलों द्वारा अशासकीय विद्यालय का औचक निरीक्षण किया गया। इस निरीक्षण में निरीक्षण दल ने उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की।

औचक निरीक्षण में आये शिक्षा समिति के सभापति टंक राम वर्मा, जिला पंचायत सदस्य दुर्गा राय, चंद्रकला ध्रुव, विकास खंड शिक्षा अधिकारी बीएल देवांगन, नोडल अधिकारी आर के  चंदानी के स्कूल का निरीक्षण किया गया पालक की ओर से फ़ालगोराम वर्मा,बंसी लाल यादव तुलसीराम गौतम एवं सरपंच प्रतिनिधि यशवंत वर्मा और कई अभिभावक उपस्थित थे। पालको की ओर से कई विषयों पर ध्यान आकर्षित कराया गया जिस पर प्राचार्य से निम्नांकित जानकारी चाही गई है ।

​जांच दल के सदस्यों ने 11 बिंदु पर- सेंचुरी सीमेंट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बैकुंठ स्कूल से जवाब मांगा गया है ।

 1-सीजी बोर्ड अनुदान प्राप्त भवन पर सी बी एस ई की कक्षाएं संचालित है सीजी की कक्षाएं कॉलेज भवन में लगाया जा रहा है ?

 2-एक ही संस्था भवन में किसी और से बिजली बोर्ड की कक्षाएं की मान्यता का आधार क्या है?

 3- सीजी और सीबीएसई की प्रयोगशाला और पुस्तकालय एक ही ही है क्या दोनों बोर्ड की मान्यता हेतु मापदंड पूरी किए हैं उनकी प्रति उपलब्ध कराएं।

 4-सीजी और सीबीएसई की प्रयोगशाला और  पुस्तकालय एक ही है? 

5-दोनों का खेल मैदान एक ही है?

  6-संस्था में कार्यरत कर्मचारी अप्रशिक्षित जैसे की जानकारी प्रदान करें ।

 7-आरटीई के तहत भर्ती के छात्र-छात्राएं की जानकारी प्रदान करें।

  8-पुस्तक शाला परिसर से बेचने की जानकारी पालकों के द्वारा दिया गया है।

9-कोरोना काल में मृत पालक के बच्चों के फीस छूट की जानकारी।

 10-फीस संबंधित संपूर्ण जानकारी ।

 

 11-शौचालय में सफ़ाई की आवश्यकता एवं बच्चों के पेयजल की व्यवस्था में सुधार की भी आवश्यकता है। उन्हें तत्काल आदेश देते हुए समस्त दस्तावेज के साथ कार्यालय में उपस्थित होने के निर्देश दिये गये है।

 टंक राम वर्मा/जिला पंचायत उपाध्यक्ष-रायपुर...ने कहा की एक ही जगह एक ही बिल्डिंग पर दो दो मान्यता लेकर स्कुल संचालित करना यह नियम विरुद्ध है ये शाशन के नियम का घोर उल्ल्घन किया जा रहा है जिला पंचायत के बैठक में इस मामले को रख कर उचित कार्यवाही के लिए अधिकारियो को अवगत कराया जायेगा 

 बंशी यादव/अध्यछ ग्रामीण युवा संघर्ष समिति ने कहा की सेंचुरी सीमेंट सीनियर सेकेंडरी स्कूल बैकुंठ सीबीएससी बोर्ड के द्वारा माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड के नियमों का खुला उल्लंघन करते हुए सत प्रतिशत अनुदान प्राप्त शाला के भवन को अपना बताकर गलत तरीके से कूट रचित  कागजातों का प्रयोग कर अनुदान प्राप्त शाला भवन में  सीबीएसई बोर्ड को संचालित किया जा रहा है यदि उसकी जांच हो तो सीबीएसई बोर्ड की मान्यता समाप्त हो सकती है इस विषय की जानकारी मेरेएवं  पालकों द्वारा शासन प्रशासन को विगत 2012 से की जा रही है इस पर आज पर्यंत किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं हो रही है आगे  बंशी यादव ने कहा की बिरला ग्रुप का स्कुल होने के कारण शासकीय अधिकारी या तो मिली भगत कर लिए है या तो डर रहे है जिसका प्रमाण यह है की मेरे और पालको के द्वारा पिछले 10 वर्षो से लगातार शिकायतों के बावजूद आज तक कोई कार्यवाही नहीं हो रही है 

पूर्व जनपद सदस्य और पालक तुलसी राम गौतम का कहना है की एक ही केम्पस में दो शालाओ को संचालित किया जा रहा है यह बात बैठक में चर्चा का विषय रहा -  स्कुल की प्राचार्या नीरजा पीयूष तिवारी अपना अलग ही नियम बनाकर स्कुल का संचालन कर रही ही है जो शिछा विभाग के नियम से अलग है