breaking news New

जसलीन केयर की फाउंडर व इंडियन रेडक्रास सोसायटी के द्वारा 12 अगस्त को महारक्तदान शिविर का आयोजन

जसलीन केयर की फाउंडर व इंडियन रेडक्रास सोसायटी के द्वारा 12 अगस्त को महारक्तदान शिविर का आयोजन

भिलाई।  12 अगस्त को विशाल स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। यह वृहद आयोजन स्वामी श्री स्वरूपानंद सरस्वती महाविद्यालय हुडको में सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक किया जाएगा। 

इस संबंध में आज प्रेसवार्ता के दौरान जसलीन केयर की फाउंडर जसलीन कौर भाटिया व इंडियन रेडक्रास सोसायटी के राज्य सलाहकार सुदीप श्रीवास्तव ने बताया कि इस स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का उद्देश्य जरूरतमंदों को रक्त उपलब्ध कराना है। पिछले साल से पूरा देश कोरोना संक्रमण का दंश झेल रहा है और इसके कारण ब्लड बैंक में ब्लड की भारी कमी हो गई है। आज इस परिस्थिति में ब्लड के सभी ग्रुप्स की बहुत अधिक आवश्यकता है, लेकिन लोग वर्तमान परिस्थिति में पूर्व की तरह ब्लड डोनेशन नहीं कर रहे हैं, जिसके कारण ब्लड बैंक में ब्लड की कमी होती जा रही है। डिमांड ज्यादा होने के कारण bhi अस्पताल व ब्लड बैंक इसकी आपूर्ति नहीं कर पा रहे हैं।

जसलीन कौर भाटिया ने बताया कि लोगों को अधिक से अधिक ब्लड डोनेट करना चाहिए। अमेरिका जैसे देशों में ब्लड डोनेशन को लेकर लोग जागरुक हैं और वहीं जागरुकता  यहां भी होनी चाहिए। जसलीन ने बताया कि मुंबई में उनके पिता को इलाज के लिए भर्ती किया गया था तब काफी रक्त की जरूरत पड़ी थी तब हमें काफी परेशानी हुई थी। हम चाहते हैं इस कैंप के जरिए लगभग400 यूनिट से अधिक रक्त एकत्रित कर सकें ताकि जरूरत मंदों के काम आए। 

प्रेसवार्ता में बताया गया कि ब्लड बैंक में ब्लड की कमी के कारण सिकलिंग, थैलेसेमिया, रोड एक्सीडेंट व गर्भवती महिलाओं से लेकर दिल के मरीजों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। खास कर उन बच्चों (सिकलिंग, थैलेसेमिया) को जिनको महीने में 3 से 6 बार ब्लड की आवश्यकता पड़ती हैं वे काफी परेशान हो रहे हैं। इस विकट परिस्थिति पर नियंत्रण के लिए जसलीन केयर व इंडियन रेडक्रास सोसायटी द्वारा स्वैच्छिक रक्तदान महा शिविर का आयोजन किया जा रहा है। निवेदन है कि आप अपने परिचित, दोस्त, परिवार से 5-10 लोगों को रक्तदान हेतु प्रेरित करें। 12 अगस्त को स्वामी स्वरूपानंद महाविद्यालय परिसर में आयोजित इस महारक्तदान शिविर में उपस्थिति होकर रक्तदान करें। आयोजित पत्रकार वार्ता में कबीर  मौजूद थे l